Breaking News

इस साल 30% तक नौकरियां बढ़ीं: कोरोना महामारी के बावजूद देश की आउटसोर्सिंग इंडस्ट्री में ग्रोथ, दिसंबर की तुलना में मार्च तिमाही में 25% से अधिक बिजनेस

  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Growth In The Country’s Outsourcing Industry Despite The Corona Epidemic, Jobs Increased By 30% This Year

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुुंबई41 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

भारत की जीडीपी में आउटसोर्सिंग इंडस्ट्री का योगदान करीब 8% है।

कोरोना के कारण देश की आउटसोर्सिंग राजधानी बेंगलुरू भले ही ज्यादा प्रभावित हुई हो, लेकिन आउटसोर्सिंग इंडस्ट्री पर कोई बुरा असर नहीं हुआ है। उल्टा हालिया बड़े सौदों के चलते नियुक्तियाें में 30% इजाफा देखने को मिला है। भारत की जीडीपी में आउटसोर्सिंग इंडस्ट्री का योगदान करीब 8% है।

इंडस्ट्री लीडर्स के मुताबिक, इसमें 2019 के मुकाबले 2020 में करीब 10% की ग्रोथ रही। अप्रैल में थोड़ी दिक्कतें जरूर आई थीं, लेकिन दूर कर ली गई हैं। कंपनियों के बिजनेस पर कोई कमी नहीं आई। इसके विपरीत महामारी के चलते कई कंपनियों ने पहली बार काम आउटसोर्स करना शुरू कर दिया है, इससे भारतीय कंपनियों की ऑर्डर बुक बढ़ी है।

कैलेंडर वर्ष 2021 की पहली तिमाही में दिसंबर तिमाही की तुलना में 25% से ज्यादा ग्रोथ दर्ज की गई है। देश की बड़ी हायरिंग फर्म टीमलीज के डेटा के मुताबिक, कोविड की दूसरी लहर के बावजूद आउटसोर्सिंग इंडस्ट्री में हायरिंग 30% से ज्यादा बढ़ी है। इस साल 10-12% नई नौकरियां आउटसोर्सिंग इंडस्ट्री से आने की उम्मीद है। 2020 में भारत की आउटसोर्सिंग इंडस्ट्री में 44 लाख से ज्यादा लोग काम कर रहे थे, जिनकी संख्या इस साल बढ़कर 50 लाख के पार जा सकती है।

इन चार वजहों से आउटसोर्सिंग इंडस्ट्री में आ रही तेजी

  • ऑर्डर बढ़ने की वजह से मजबूत हायरिंग सेंटिमेंट।
  • हाइब्रिड वर्क एनवायरमेंट से काम में परेशानी नहीं है।
  • दुनियाभर में डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन में निवेश बढ़ा है।
  • लागत कम करने के लिए आउटसोर्सिंग बढ़ रही है।

टीमलीज डिजिटल के बिजनेस हेडशिवा प्रसाद नंदूरी के मुताबिक, भारत की आउटसोर्सिंग इंडस्ट्री पर कोविड-19 का कोई असर नहीं है। लगातार हायरिंग भी बढ़ रही है। हमारे पास 100 से ज्यादा क्लाइंट हैं, जिनका हायरिंग सेंटिमेंट काफी मजबूत है। कोरोना की वजह से कुछ कर्मचारी बीमार हुए, लेकिन बैकअप होने से कोई दिक्कत नहीं आई। भारत में आउटसोर्सिंग का काम बढ़ रहा है और भारतीय कंपनियों से काम कहीं और शिफ्ट नहीं हुआ है।

  • 29 लाख करोड़ रु. का होगा वैश्विक आउटसोर्सिंग मार्केट चार साल में।
  • 03 लाख से ज्यादा नौकरियां हर साल आउटसोर्स की जाती हैं दुनियाभर में।
  • 59% अमेरिकी कंपनियों ने कहा कि आउटसोर्सिंग पर नहीं है महामारी का असर।

खबरें और भी हैं…

महाराष्ट्र | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

परमबीर सिंह को झटका: सुप्रीम कोर्ट ने उनके खिलाफ चल रही जांच को ट्रांसफर करने वाली याचिका खारिज किया, अदालत ने कहा- मुंबई पुलिस पर कुछ तो भरोसा दिखाइए

मुंबई18 मिनट पहले कॉपी लिंक सुप्रीम कोर्ट में परमबीर ने अपने खिलाफ जारी सभी जांच …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *