Breaking News

कोटा में कंट्रोल में आया कोरोना: कोविड अस्पताल में भर्ती मरीजों के ठीक होने की रफ्तार बढ़ी, 3 महीने बाद रिकवरी दर 97% पहुंची, एक्टिव केस 1% रहे

  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Kota,rajasthan,The Speed Of Recovery Of Patients Admitted To Kovid Hospital Increased, After 3 Months The Recovery Rate Reached 97%, Active Cases Remained 1%

कोटा36 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

ये लापरवाही ठीक नहीं- कचोरी खाने के चक्कर में लोग सोशल डिस्टेंसिंग की पालना भूल गए

जिले में कोरोना की दूसरी लहर का कहर अब धीरे धीरे कम होने लगा है। सरकारी आकंड़ों में कोटा में कोरोना कंट्रोल होने लगा है। तीन माह बाद फिर से रिकवरी दर 97% पहुंची है। जबकि एक्टिव केस भी घटकर 1% ही रह गए है। कोविड अस्पताल में भर्ती मरीजों के ठीक होने की रफ्तार में तेजी आई है। कोविड अस्पताल में गुरुवार को कुल 203 मरीज भर्ती रहे। इनमें 68 पॉजिटिव व 135 नेगेटिव- सस्पेक्टेड मरीज थे।

संक्रमण दर 1% हुई

जिले में गुरुवार को 2001 सैम्पल की जांच में 33 नए मरीज कोरोना पॉजिटिव मिले। यानि संक्रमण दर घटकर 1% रह गई है। लेकिन अस्पताल में हो रही मौत अभी भी चिंता बढ़ा रही है। गुरुवार को कोविड अस्पताल में 4 मरीजों ने दम तोड़ा। सरकारी रिपोर्ट में केवल 2 मौत बताई गई।

राहत के साथ चिंता भी

कोविड अस्पताल में भर्ती मरीजों में केवल 33 फीसदी मरीज जांच कोरोना पॉजिटिव है। बाकी 67 फीसदी मरीज नेगेटिव-सस्पेक्टेड है। ये सभी मरीज ऑक्सीजन पर है। इनमें से 99 मरीज आईसीयू में चल रहे है। 44 मरीज NIV व 2 वेंटिलेटर पर है।

600 से 200 हुई भर्ती मरीजों की संख्या

फरवरी माह में जिले में 97% रिकवरी थी। कोविड अस्पताल में भर्ती मरीजों का आंकड़ा 20 से नीचे पहुंच गया था। इनमें पॉजिटिव मरीज एक्का दुक्का थे। कोरोना की दूसरी लहर ने अप्रैल व मई में ऐसा हाहाकार मचा कि पहली बार सरकारी अस्पताल के द्वार मरीजों के लिए बंद हुए। 600 से अधिक मरीज ऑक्सीजन पर निर्भर वाले भर्ती हुए। इससे आईसीयू व ऑक्सीजन बेड्स की कमी बनी। मरीजों की बढ़ती संख्या के सामने अस्पताल भी हांफने लगे। डॉक्टरों ने मरीजों के इलाज नहीं करने को लेकर हाथ खड़े कर दिए थे।

खबरें और भी हैं…

राजस्थान | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

सरकार तक पहुंचा विवाद: बेरोजगार पशु चिकित्सक और सहायक आमने-सामने; दोनों ने सरकार को एक दूसरे के खिलाफ भेजे ज्ञापन, बाद में पशु चिकित्सक संघर्ष संघ ने पत्र को बताया फर्जी

Hindi News Local Rajasthan Ajmer Unemployed Vet And Assistant Face to face; Both Sent Memorandums …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *