Breaking News

गंडक में 3 की डूबकर मौत: प. चंपारण में रस्म पूरा करने नदी किनारे गया परिवार; 2 सगे भाई समेत 3 नहाने गए, मिली लाश

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बगहा3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

घटना के बाद रोते-बिलखते परिजन।

पश्चिम चंपारण में गंडक नदी में नहाने के दौरान दो सगे भाइयों समेत 3 युवकों की डूबकर मौत हो गई। घटना ​​​​​​बगहा​ ​​​​​​के नगर थाना क्षेत्र स्थित चखनी गांव की है। तीनों युवक शुक्रवार दोपहर शादी समापन के बाद बासखड़ी का रस्म निभाने परिवार के लोगों के साथ गंडक नदी किनारे गए थे। परिवार वाले बासुखड़ी का रस्म पूरा करने लगे। इसी दौरान तीनों युवक नहाने के लिए नदी में कूद पड़े। इसी क्रम में तीनों गहरे पानी में जाने के कारण डूब गए। युवकों को डूबते देख परिवार वालों ने शोर मचाया। आसपास के लोगों ने जब तीनों को बाहर निकाला, तीनों की मौत हो गई थी।

हादसे के बाद गांव में हड़कंप मच गया। इधर, घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। प्रभारी थानाध्यक्ष सुरेश कुमार ने बताया कि तीनों युवक नहाने के दौरान गहरे पानी में चले गए थे। इसमें डूबने से उनकी मौत हो गई। शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया है। मामले में आगे की कार्रवाई की जा रही है। मृतको की पहचान चखनी गांव निवासी हरिशंकर प्रसाद के पुत्र सुशील कुमार (18) और बनकटवा गांव निवासी मनोज कुमार के पुत्र गोलू कुमार (20) और रोहित कुमार (19) के रूप में हुई है। गोलू और रोहित दोनों सगे भाई हैं।

मृतक सुशील के पिता हरिशंकर प्रसाद ने बताया की 28 अप्रैल को उनके घर में लड़की की शादी थी। उसी शादी में गोलू और रोहित भी शामिल होने आण् थे। शादी के समापन के बाद बासुखड़ी का रस्म निभाने परिवार के लोग गंडक किनारे गये थे। अन्य लोग बासुखड़ी का रस्म पूरा करने लगे। गोलू, रोहित एवं सुशील नदी में नहाने लगे। इसी क्रम में तीनों नदी में डूब गए। वहीं दुसरी ओर माता पिता एवं परिजनों का अस्पताल परिसर में हीं रो रोकर बुरा हाल है।

एक माह पहले नगर के शास्त्री नगर में भी गंडक नदी में नहाने के क्रम में दो ममेरे और फुफेरे भाइयों की मौत हो गई थी। इसमें एक का शव को तो पुलिस ने बरामद भी कर लिया। लेकिन दूसरे का शव तक भी नहीं मिल पाया। ग्रामीण पुलिस से इस मामले को गंंभीरता से लेने की मांग कर रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि पुलिस लगातार हो रहे हादसों को रोकने के लिए कोई सख्त कदम उठाए।

खबरें और भी हैं…

बिहार | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

सर! लॉकडाउन में पिम्पल्स के इलाज के लिए ई-पास चाहिए: DM ने कहा अभी इंतजार करें, देखिए लॉकडाउन में किए जा रहे कैसे-कैसे बहाने

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप पूर्णिया3 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *