Breaking News

टिकरी बाॅर्डर पर किसान आंदाेलन का 196वां दिन: आंदोलन स्थल पर ज्यादा से ज्यादा किसानाें के पहुंचने का किया आह्वान, जत्थों ने पहुंचकर किया समर्थन

बहादुरगढ़एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

बादली ढ़ासा बार्डर पर तीन कृषि कानूनों के विरोध में धरने पर मौजूद किसान व महिलाएं।

  • कृषि कानूनों के विरोध में किसानों ने की नारेबाजी

किसानों ने एक बार फिर से किसानों काे आंदोलन स्थल पर ज्यादा से ज्यादा पहुंचने का आह्वान किया वहीं टिकरी बाॅर्डर पर चल रहे आंदोलन के कारण अन्य जिलों से आए किसानों ने एक बार फिर से आंदोलन का समर्थन करने का सिलसिला शुरू कर दिया है। गुरुवार को टिकरी बॉर्डर पर जयपाल सिंह कुंडू टिटाैली रोहतक ने किसानों को समर्थन दिया। वहीं मास्टर बूटा सिंह कीर्ति किसान यूनियन पंजाब ने टिकरी बॉर्डर बहादुरगढ़ पर किसानों को समर्थन दिया।

यह सिलसिला यहीं नहीं रुका। यहां डेमोक्रेटिक मुथम से परेशान पंजाब का एक जत्था जिसमें जिसमें 70 से 80 किसान थे जिन्होंने टिकरी बॉर्डर पर किसानों का समर्थन दिया। वहीं सुदेश गोयत ने हरियाणा टिकरी बॉर्डर बहादुरगढ़ पर किसानों का समर्थन किया और बताया कि भाजपा सबसे खराब सरकार है। यह हमारे किसानों के साथ अत्याचार कर रही है।

उन्होंने कहा कि टोहाना आंदोलन कांड में सरकार चारों तरफ से फेल रही है। वहीं किसानों की जीत हुई है व हरियाणा की खट्टर सरकार ने किसानों को गिरफ्तार करने का बहुत ज्यादा शौक है पर सरकार को किसानो के सामने झुकना पड़ा।

किसानाें के साथ किया जा रहा अत्याचार

इस मौके पर प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी हुई। वहीं समर्थन देने वालों में जोगिंदर सिंह तालू भिवानी ने टिकरी बॉर्डर बहादुरगढ़ पर किसानों को समर्थन दिया और बताया कि हिसार में आंदोलन में आरएसएस के लोग किसानों के आंदोलन में घुस आए हैं और मैं लोगों से विनती करता हूं कि यूपी के नेता हमारे हरियाणा के अंदर में घुसे हमारे लोगों को भड़काने का प्रयास नहीं करें। इस तरह से आंदोलन को खराब मत करे और अपने यूपी में अपने आंदोलन को मजबूत करे और राजनीति मत करो।

हरियाणा में भाजपा के लोगों व नेताओं को गांव में नहीं घुसने दिया जा रहा। जगबीर सिंह झज्जर हरियाणा टिकरी बॉर्डर पर किसानों को समर्थन दिया। किसान नेताओं ने कहा कि इंदिरा गांधी के टाइम में भी नसबंदी का काम किया था किसी भी पार्टी का कोई भी नेता हो किसानों का आज तक कोई भला नहीं किया है। किसी भी एमएलएएमपी में आज तक किसानों का कोई भी आवाज नहीं उठाई है काले कानून वापिस के लिए औरबीजेपी सरकार व केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी का सिलसिला जारी रहेगा।

आंदाेलन के साथ में जीत हाेगी पक्की, सरकार को सद्बुद्धि आएगी

जियालाल बीकेयू जींद हरियाणा टिकरी बॉर्डर बहादुरगढ़ पर किसानों को कहा कि हरियाणा सरकार किसानों के साथ हथकंडे अपना रही है जो यूरोविया हरियाणा सरकार का कल और मैं अपने किसान मोर्चा में किसान भाइयों से अपील करता हूं कि आंदोलन के साथ में हमारी जीत पक्की होगी।

किसान नेताओं ने कहा कि हम तीन (नए कृषि) कानूनों की पत्तियों का दहन भी कर चुके हैं। और उम्मीद है कि सरकार को सद्बुद्धि आएगी और वह इन कानूनों को रद्द करेगी तथा एमएसपी (न्यूनतम समर्थनमूल्य) के लिए लिखित गारंटी देगी। बंद का सभी मजदूर एवं परिवहन संघों, छात्र, युवा और महिला संगठनों ने समर्थन किया हुआ है।

किसानों ने कहा कि हम हर तरह की बैठक करने की कोशिश कर रहे हैं, ताकि आंदोलन हर जगह हो। किसानों ने कहा कि आंदोलन का लगातार जारी रहना अपने आप में एक उपलब्धि है और अब से यह मजबूत होता जाएगा। किसानों ने कहा ना तो आपने, ना ही हमने सोचा था कि हम ऐसा कर सकेंगे और लोगों ने यह प्रदर्शित किया है कि वे हमारा समर्थन कर रहे हैं।

कृषि कानूनों व सरकार की कार्य प्रणाली को लेकर किसानाें ने राेष जताया

बादली | ढासा बॉर्डर पर संयुक्त किसान मोर्चा के तत्वाधान व मार्ग दर्शन में 186वें दिन भी किसानों का धरना व प्रदर्शन जारी रहा। धरने पर अनेक गांव के किसानों ने अपनी हाजिरी दी और सम्बोधनों में किसानों के प्रति अपनाई जा रही सरकार की कार्यप्रणाली को लेकर रोष जाहिर किया। भारी गर्मी के बाद भी किसान सुबह से ही धरने पर पहुंचने शुरू हुए। दिन भर सैकड़ों की संख्या में किसानों व महिलाओं ने धरने पर अपनी उपस्थिति दी। धरने पर महिलाओं ने भी सम्बोधित किया और इस लड़ाई में हर प्रकार से किसानों के साथ खड़े रहने का आश्वासन धरनारत किसानों को दिया।

महिलाओं ने आर्थिक रूप से भी धरने में अपना सहयोग किया। धरने में महिलाओं के साथ कांग्रेस की महिला जिला उपाध्यक्ष सुमन लोहचब भी पहुंची। उन्होने भी किसानों को सम्बोधित किया और उनका हर संभव सहयोग उनकी इस लड़ाई में करने का आश्वासन दिया।धरने के दौरान किसानों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

खबरें और भी हैं…

हरियाणा | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

प्रॉपर्टी विवाद बना जानलेवा: पति के जमीन बेचने के फैसले के खिलाफ महिला ने 2 बेटों के साथ खाया जहर, दो ने तुरंत तो एक ने उपचार के दौरान तोड़ा दम

हांसी42 मिनट पहले कॉपी लिंक महिला और उसके दोनों बेटों को गंभीर हालत में पति …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *