Breaking News

नहर में जहर: हर साल बड़ा आंदोलन, एनजीटी पंजाब पर लगा चुका 50 करोड़ रुपए जुर्माना, फिर भी 10 जिलों में जाएगा यही काला पानी

श्रीगंगानगर12 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

ये देखिए सच; काला पानी सोमवार दोपहर को पीलीबंगा पहुंचा, रात तक सूरतगढ़…अफसर अलर्ट ही करते रहे

  • ‘जहर’ का राजस्थान में प्रवेश, अफसर कह रहे- हमने पंजाब पत्र लिखा है
  • रोपड़ डाउन स्ट्रीम से छोड़ा पानी हरिके बैराज पहुंचा, जल संसाधन विभाग के अधिकारी बोले- पंजाब से अब छोड़ेंगे साफ पानी

कोरोना थमा तो अब राजस्थान के 10 जिलों में एक और बड़े संकट ने दस्तक दे दी है। यह संकट है आईजीएनपी में काले पानी का। पंजाब में हरिके बैराज से छोड़ा गया गंदा व केमिकल युक्त पानी सोमवार को हनुमानगढ़ में प्रवेश करते हुए शाम तक पीलीबंगा व देर रात तक सूरतगढ़ पहुंच गया। मंगलवार को यह पानी अनूपगढ़, घड़साना होते हुए आगे बीकानेर व अन्य जिलों में प्रवेश करेगा। बड़ी बात यह है कि दस जिलों के 2 करोड़ लोग इसी नहर का पानी पीते हैं, लेकिन राज्य सरकार ने इसे रोकने को कोई कदम नहीं उठाया।

हर नहरबंदी के बाद पंजाब की ओर से ऐसा ही गंदा पानी नहरों में छोड़ा जाता है। श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ में इसके खिलाफ लंबे समय से आंदोलन भी हो रहे हैं। लोगों ने इसके खिलाफ एनजीटी में याचिका भी लगाई थी। पंजाब सरकार पर 50 करोड़ रुपए जुर्माना लगाया, सभी फैक्ट्रियों में ट्रीटमेंट प्लांट तक लगाने के आदेश हुए, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। हालांकि अब अधिकारियों का दावा है कि पंजाब से दूषित पानी बंद करवा दिया गया है।

आईजीएनपी की प्रत्येक वितरिका के माध्यम से गांव-ढाणी तक पहुंचेगा ये पानी

किसान नेता दौरा करते हुए।

किसान नेता दौरा करते हुए।

इंदिरा गांधी नहर परियोजना में 60 दिन की बंदी के बाद 28 मई को हरिके से पानी छोड़ा गया था। यह पानी 30 मई को जिले में पहुंचा। बड़ी परेशानी यह है कि इस समय आईजीएनपी से सभी दस जिलों के लिए केवल पेयजल आपूर्ति के लिए पानी छोड़ा जा रहा है। ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में जलदाय विभाग इसी पानी का भंडारण कर रहा है।

लिहाजा यह दूषित पानी आईजीएनपी की प्रत्येक वितरिका से होता हुआ हर शहर व गांव-ढाणी तक पहुंचेगा। मजबूरी में लोगों को यही पानी पीना पड़ेगा। हरिके बैराज से नहराें में गंदा काला पानी प्रवाहित किए जाने की सूचना मिलने पर साेमवार काे पंजाब में काेटकपूरा विधायक कुलतार सिंह, निराेहां पंजाब सेवा समिति अध्यक्ष गुरप्रीतसिंह चंदबाजां हरिके के बैराज पहुंचे तथा स्थिति का जायजा लिया।

दूषित जल असुरक्षित कल जन जागरण समिति के रमजानअली चाेपदार ने पंजाब सरकार पर पानी में जहर मिलाने का आराेप लगाते हुए कहा कि फैक्ट्रियाें का केमिकल युक्त गंदा पानी नहराें में डाला जा रहा है तथा पंजाब के मुख्यमंत्री माैन हैं। वहीं श्रीगंगानगर विधायक राजकुमार गौड़ ने इस बारे में सीएम के प्रमुख सचिव कुलदीप रांका व जल संसाधन विभाग के प्रमुख शासन सचिव नवीन महाजन से बात की है। श्रीगंगानगर सांसद निहालचंद ने कहा कि केंद्र सरकार से बात कर इसका स्थायी समाधान करवाया जाएगा।

दोनों दलों की राजनीति|विपक्ष में होंगे तो काले पानी का मुद्दा उठाएंगे, सरकार बनते ही फिर भूल जाएंगे

शुद्ध पानी का मुद्दा भी पक्ष और विपक्ष में बंटा हुआ है। पंजाब से नहरों में दूषित पानी आने का मामला कई वर्षों से उठाया जा रहा है। लेकिन दोनों राजनीतिक दलों ने भी इसे चुनावी मुद्दा बना लिया है। जो दल विपक्ष में होता है, वह पूरे 5 साल इसे उठाता है। सत्ता में आने के साथ ही यह मुद्दा भूल जाता है।

खतरनाक पानी|डॉक्टर बोले- यह पानी पीने से किडनी व लीवर हो सकते है फेल, गर्भपात भी

सीनियर फिजिशियन डा.पवन कुमार ने बताया कि काले दूषित पानी में फैक्ट्रियों का अपशिष्ट होने से कीटाणु व केमिकल्स आते हैं। यह पानी पीने से पीलिया, किडनी व लीवर फेल्योर हो सकता है। लंबे समय तक ये पानी पीने से दिमाग के मस्तिष्क पर प्रभाव पड़ता है। इससे व्यक्ति निर्णय करने की क्षमता खो देता है।

…और ये हमारे जिम्मेदारों के तर्क

विनाेद मित्तल, चीफ इंजीनियर: उच्चाधिकारियों को काले पानी की सूचना दी गई है

पंजाब के चीफ इंजीनियर के साथ साथ बीबीएमबी के अधिकारियों को भी अवगत करवाया गया है। राज्य के उच्चाधिकारियों को फैक्ट्रियों के कैमिकल युक्त पानी आने की सूचना दे दी गई। अब हरिके से स्वच्छ पानी की आवक प्रारंभ हो जाएगी।

धीरज चावला, एसई, गंगकैनाल: अभी नहीं आया गंदा काला पानी, निगरानी कर रहे है

गंदा पानी आता है ताे तुरंत उच्चाधिकारियाें काे इसकी रिपाेर्ट भेजी जाएगी। किसानाें से सूचना मिल रही है कि हरिके से गंदा पानी प्रवाहित किया जा रहा है। फिर भी चीफ इंजीनियर ने पंजाब के चीफ इंजीनियर काे पत्र लिखा है। हम इस पर निगरानी रख रहे हैं।
प्रभा बंसल, जूनियर केमिस्ट, जलदाय विभाग, श्रीगंगानगर : बिरधवाल हैड पहुंचकर लिए सैंपल, आज आएगी रिपाेर्ट

आईजीएनपी में प्रवाहित हाे रहे पानी के बिरधवाला हैड पहुंचकर साेमवार काे सैंपल लिए गए हैं। इन सैंपलाें की जांच की जा रही है। मंगलवार काे इसकी रिपाेर्ट आएगी। पूर्व में भी आईजीएनपी से 27 मई काे सैंपल लेकर हैवी मेटल जांच के लिए जयपुर रिपाेर्ट भेजी गई थी। यह रिपाेर्ट भी आ चुकी है। इसमें हानिकारक तत्व नहीं पाए गए हैं।

…और देखिए पानी सोमवार रात काे काला आया और जलदाय विभाग ने दिन में ही नहर से सैंपल लेकर भेज दिए…रिपोर्ट तो सही ही आएगी।

खबरें और भी हैं…

राजस्थान | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

पायलट समर्थक विधायक ने लगाए गहलोत सरकार पर गंभीर आरोप: वेदप्रकाश सोलंकी बोले- हमारे कई विधायकों ने मुझसे कहा है कि उनके फोन टैप हो रहे हैं, उनकी सिफारिश पर लगे अफसर कर्मचारियों को एसीबी ट्रैप का डर दिखाया जा रहा है

Hindi News Local Rajasthan Jaipur Vedprakash Solanki Said – Many Of Our MLAs Have Told …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *