Breaking News

नाराजगी: भाजपा शासित नगर पालिका पर तेजस्वी सूर्या का निशाना, कहा- रिश्वत देकर मिल रहा अस्पतालों में बेड

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, बेंगलूरू
Published by: प्रशांत कुमार
Updated Wed, 05 May 2021 08:23 AM IST

सार

सूर्या के आरोप के बाद पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसकी पहचना रोहित और नेत्र के रूप में हुई है। इनपर आरोप है कि वे एक बिस्तर के लिए 25 हजार और 50 हजार रुपए वसूल रहे थे।

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

बेंगलूरू दक्षिण से भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या ने कोरोना काल में अस्पतालों में बेड नहीं मिलने के लिए भाजपा शासित नगर पालिका को जिम्मेदार ठहराया है। तेजस्वी सूर्या का आरोप है कि नगरपालिका अधिकारी लोगों से रिश्वत लेकर बेड उपलब्ध करा रहे हैं। सूर्या के आरोप के बाद पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसकी पहचान रोहित और नेत्र के रूप में हुई है। इनपर आरोप है कि वे एक बिस्तर के लिए 25 हजार और 50 हजार रुपये वसूल रहे थे।  पुलिस ने उनके खाते से 1.05 लाख रुपये बरामद किए हैं।

इस गोरखधंधे के पीछे बड़ा नेटवर्क
सूर्या ने आरोप लगाया था, ‘बीबीएमपी अधिकारियों और स्वास्थ्यकर्मियों से सांठगांठ से बिस्तरों का ‘खरीद-फरोख्त चल रहा है।  उन्होंने कहा ‘बीबीएमपी (ब्रुहट महानगरपालिका) की बुकिंग साइट दिखा रही है कि सभी बिस्तर फुल हैं, लेकिन कई लोग अस्पताल से डिस्चार्ज हो रहे हैं। ऐसे में बिस्तर भरे होने की बात समझ से परे हैं। सूर्या ने आरोप लगाया कि बीबीएमपी अधिकारियों, आरोग्य मित्र और बाहरी लोग भी इस धंधे से जुड़े हुए हैं। सूर्या ने आरोप लगाया कि शुरू में बेड कोविड रोगियों के नाम पर आरक्षित किए जाते थे, जो होम आइसोलेट में थे। लेकिन वह मरीज बेड से पूरी तरह अनजान थे। सूर्या ने दावा किया कि ऐसे एक नहीं हजारों मामले हो चुके हैं।

बता दें कि कोरोना प्रभावित राज्यों में कर्नाटक भी शामिल है। बेंगलुरू में कोरोना की स्थिति लगातार खराब हो रही है। शहर के अस्पतालों में ऑक्सीजन और बेड्स की भारी किल्लत है। सूर्या के सवाल उठाने पर येदियुरप्पा सरकार ने नगर पालिका अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई का भरोसा दिया गया था। 

विस्तार

बेंगलूरू दक्षिण से भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या ने कोरोना काल में अस्पतालों में बेड नहीं मिलने के लिए भाजपा शासित नगर पालिका को जिम्मेदार ठहराया है। तेजस्वी सूर्या का आरोप है कि नगरपालिका अधिकारी लोगों से रिश्वत लेकर बेड उपलब्ध करा रहे हैं। सूर्या के आरोप के बाद पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसकी पहचान रोहित और नेत्र के रूप में हुई है। इनपर आरोप है कि वे एक बिस्तर के लिए 25 हजार और 50 हजार रुपये वसूल रहे थे।  पुलिस ने उनके खाते से 1.05 लाख रुपये बरामद किए हैं।

इस गोरखधंधे के पीछे बड़ा नेटवर्क

सूर्या ने आरोप लगाया था, ‘बीबीएमपी अधिकारियों और स्वास्थ्यकर्मियों से सांठगांठ से बिस्तरों का ‘खरीद-फरोख्त चल रहा है।  उन्होंने कहा ‘बीबीएमपी (ब्रुहट महानगरपालिका) की बुकिंग साइट दिखा रही है कि सभी बिस्तर फुल हैं, लेकिन कई लोग अस्पताल से डिस्चार्ज हो रहे हैं। ऐसे में बिस्तर भरे होने की बात समझ से परे हैं। सूर्या ने आरोप लगाया कि बीबीएमपी अधिकारियों, आरोग्य मित्र और बाहरी लोग भी इस धंधे से जुड़े हुए हैं। सूर्या ने आरोप लगाया कि शुरू में बेड कोविड रोगियों के नाम पर आरक्षित किए जाते थे, जो होम आइसोलेट में थे। लेकिन वह मरीज बेड से पूरी तरह अनजान थे। सूर्या ने दावा किया कि ऐसे एक नहीं हजारों मामले हो चुके हैं।

बता दें कि कोरोना प्रभावित राज्यों में कर्नाटक भी शामिल है। बेंगलुरू में कोरोना की स्थिति लगातार खराब हो रही है। शहर के अस्पतालों में ऑक्सीजन और बेड्स की भारी किल्लत है। सूर्या के सवाल उठाने पर येदियुरप्पा सरकार ने नगर पालिका अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई का भरोसा दिया गया था। 

Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | – Amar Ujala

About R. News World

Check Also

फैसला: गृह मंत्रालय की चार सदस्यीय टीम पहुंची बंगाल, हिंसा के मामलों की करेगी जांच

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, कोलकाता Published by: कुमार संभव Updated Thu, 06 May 2021 12:40 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *