Breaking News

पांच मई के बाद सरकार लेगी फैसला: गुजरात हाईकोर्ट से लेकर व्यापारी, डॉक्टर और आम जनता की मांग, लाॅकडाउन ही आखिरी विकल्प

  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Demand From Gujarat High Court To Businessmen, Doctors And General Public Lockdown Is The Last Option

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अहमदाबाद17 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

लॉकडाउन शहरों में कोरोना की चेन तोड़ेगा, गांवों में सुपर स्प्रेडरों को रोकेगा।

प्रदेश में कोरोना की चेन तोड़ने के लिए 29 शहरों में 5 मई तक नाइट कर्फ्यू से लेकर कई कड़े नियंत्रण लगाए गए हैं। हाईकोर्ट से लेकर व्यापारी, डॉक्टर और आम जनता भी लॉकडाउन लगाने की मांग कर रहे हैं। प्रदेश में मेडिकल इमरजेंसी को दूर करने के लिए 5 मई से एक हफ्ते तक संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जा सकता है। सूत्रों के अनुसार गुजरात सरकार इस पर गंभीरता से विचार कर रही है और 5 मई के बाद निर्णय लेगी।

गुजरात में दिन-प्रतिदिन बिगड़ते हालात को काबू में करने के लिए अब लाॅकडाउन ही एक विकल्प है। लॉकडाउन करके प्रदेश में कोरोना की चेन तोड़कर कोरोना को काबू में लाना होगा। प्रदेश में 5 मई के बाद नाइट कर्फ्यू की बजाय लॉकडाउन लगाया जा सकता है, क्योंकि शहरों के साथ गांवों में भी कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं। इसका मुख्य कारण ये है कि संक्रमित खुलेआम शहरों से गांवों में जा रहे हैं। शहर से जाने वाले संक्रमित गांवों में सुपर स्प्रेडर बनकर घूम रहे हैं।

मेडिकल इमरजेंसी को दूर करने के लिए लॉकडाउन रामबाण इलाज

कोरोना का कहर फैलने के बाद प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से हाॅस्पिटल में बेड, ऑक्सीजन, दवा, इंजेक्शन समेत मेडिकल इमरजेंसी चल रही है। प्रदेश के 29 शहरों में नाइट कर्फ्यू समेत कई कड़े नियंत्रण लगाने के बाद नए केसों में कुछ कमी आई है। हालांकि मौत के आंकड़े 150 के पार ही आ रहे हैं। अस्पतालों में बेड की स्थिति गंभीर बनी हुई है। गुजरात हाईकोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट और केंद्र की कोविड टास्क फोर्स भी सरकार से लॉकडाउन लगाने की सिफारिश कर चुकी है।

भाजपा नेताओं को गरीबों के लिए अनाज और भोजन की व्यवस्था करने की सूचना दी गई

प्रदेश में लॉकडाउन की संभावना का एक कारण ये भी है कि भाजपा नेताओं को प्रत्येक इलाकों में भोजन की व्यवस्था से लेकर गरीबों की मदद करने की सूचना दी गई है। ताकि लॉकडाउन होने के बाद गरीबों के लिए अनाज और भोजन की समुचित व्यवस्था हो सके। पिछले साल की तरह प्रदेश में अफरा-तफरी न फैले।

खबरें और भी हैं…

गुजरात | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

मजबूरी का फायदा: 40 सीटर बसों में 100-100 लोग ठूंसे, कहा- सीधे यूपी चलेंगे, लेकिन जयपुर में उतार दिया

Hindi News Local Gujarat 100 100 People Choked In 40 Seater Buses, Said Will Run …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *