Breaking News

ब्लैक फंगस: युवा ध्यान रखें, 497 संक्रमितों में से 312 मरीज 10 से 40 साल तक के, 10 की मौत

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जालंधर2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सिविल अस्पताल के फ्लू कॉर्नर में सैंपल देने आए लोग।

  • लगातार दूसरे दिन 2 की मौत, 3 नए मरीज, कुल गिनती 29 हुई

कोरोना के 497 नए केस आने के बाद कुल गिनती 59395 तक पहुंच गई है। शुक्रवार को सबसे ज्यादा 312 संक्रमित 10 से 40 साल तक की उम्र के हैं। डाॅक्टर्स के मुताबिक 20 से 40 साल तक के युवाओं से उनके परिवार को भी संक्रमण का ज्यादा खतरा है। हालांकि बुजुर्ग घर में रहते हैं लेकिन बाहर से आनेे वाले युवाओं से उन्हें खतरा हो सकता है।

इसलिए उनका ध्यान रखें और युवा वैक्सीन जरूर लगवाएं। दूसरी तरफ संक्रमित मरीजों में 60 से 90 साल के 63 लोगों को संक्रमण की पुष्टि हुई है। उधर, शुक्रवार को 10 मरीजों ने दम तोड़ने के बाद मृतकों का आंकड़ा 1359 तक पहुंच गया है। दूसरी तरफ म्यूकोरमाइकोसिस (ब्लैक फंगस) से लगातार दूसरे दिन 2 और मरीजों की मौत हो गई, जबकि 3 नए मरीज रिपोर्ट हुए है।

जिले में बाहरी और जिले के मरीजों की संख्या 29 पर पहुंच गई है। सेहत विभाग के नोडल अफसर डॉ. टीपी सिंह का कहना है ब्लैक फंगस के कारण मरने वाली दोनों महिलाओं की उम्र 50 और 62 साल थी। महिलाओं का प्राइवेट अस्पताल में इलाज चल रहा था। वहीं विभाग की रिपोर्ट के अनुसार शुक्रवार तक ब्लैक फंगस के इलाज के दौरान शहर के प्राइवेट अस्पतालों में 6 मरीजों की जान गई है, जिनमें से दो मरीज जिले के बाहर के रहने वाले थे।

दम तोड़ने वाले 10 मरीजों में से 5 को था शुगर, ब्लड प्रेशर

शुक्रवार को विभाग की तरफ से कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या में 32 साल के एक मरीज को छोड़कर बाकी सभी की उम्र 41 से 70 साल थी। हालांकि 10 मरीजों में सेे 5 को कोरोना के अलावा अन्य कोई बीमारी नहीं थी। जबकि बाकी मरीजों को ब्लड प्रेशर और शुगर थी। इसके अलावा केवल एक मरीज को ब्लड प्रेशर, शुगर और किडनी रोग था। डॉक्टर्स का कहना है कि मरीजों को 7 से 18 दिन तक अस्पताल में रहने के बावजूद बचाया नहीं जा सका।

खुद को टीका लगवाएं ताकि आपका परिवार सुरक्षित रहे

सिविल अस्पताल से रिटायर्ड एसएमओ और मेडिसन एक्सपर्ट डॉ. कश्मीरी लाल का कहना है कि वर्तमान में संक्रमण की दर कम हुई है, पर युवाओं का संक्रमण की चपेट में आना उनके और बाकी परिवार के सदस्यों के लिए घातक सिद्ध हो रहा है, क्योंकि विभाग के बीते दिनों के आंकड़ों में कई युवा वर्ग के मरीजों की कोविड के कारण मौत हुई है। दूसरी तरफ युवाओं को भ्रम में नहीं रहना चाहिए कि उनकी इम्युनिटी अच्छी है तो उन्हें संक्रमण नहीं होगा। युवाओं को वैक्सीन जरूर लगवानी चाहिए।

राहत : देर रात सात हजार वैक्सीन पहुंची

कोरोना वैक्सीनेशन ड्राइव में शनिवार को तेजी आने की संभावना है। शुक्रवार देर रात तक जिले को केंद्र सरकार की तरफ से भेजी गई कोविडशील्ड वैक्सीन की 7 हजार नई डोज मिली हैं। शुक्रवार को जिले में वैक्सीनेशन की अलग से डोज न होने के कारण केवल 250 लोगों को ही टीका लग सका था।

जिला टीकाकरण अफसर डॉ. राकेश कुमार चोपड़ा का कहना है कि शनिवार को केवल उन्हीं लोगों को वैक्सीन लगेगी, जिन्हें पहली डोज लगनी है। वहीं, विभाग की तरफ से शनिवार को शहरी और देहात के एरिया में सरकारी सेंटरों पर वैक्सीनेशन कैंप लगाए जा रहे हैं। डॉ. चोपड़ा ने कहा कि निर्धारित लाभपात्रों को इसका फायदा लेना चाहिए।

खबरें और भी हैं…

पंजाब | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

कोटकपूरा गोलीकांड: पंजाब के पूर्व CM प्रकाश बादल को पुलिस ने भेजा सम्मन, 16 जून को मोहाली के PSPCL गेस्ट हाउस में होगी पूछताछ

Hindi News Local Punjab Police Summons Former Punjab CM Prakash Badal In Kotkapura Shooting, Will …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *