Breaking News

महोबा में घुड़चढ़ी पर धमकी: दबंगों ने दलित दूल्हे को धमकाया- घोड़ी चढ़ी तो हमला करेंगे, पीड़ित से मिला कांग्रेस का डेलीगेशन

महोबा21 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

महोबकंठ थाना क्षेत्र के माधोगंज गांव के रहने बाले अलखराम की शादी 18 जून को रामसखी से होनी है।

उत्तर प्रदेश के महोबा जिले में एक दलित युवक अलखराम ने पुलिस से मांग की है कि वह घोड़ी पर बैठकर अपनी बारात निकालना चाहता है। इसके लिए उसकी बारात को सुरक्षा दी जाए। उसका आरोप है कि गांव के कुछ दबंग उसके घोड़ी पर चढ़ने से ऐतराज कर रहे हैं और धमकियां दे रहे हैं। फिलहाल इस मामले में कांग्रेस के डेलीगेशन ने गांव पहुंचकर अलखराम से मुलाकात की और हर सम्भव मदद का आश्वासन दिया और अलखराम द्वारा प्रियंका गांधी को कार्ड देकर शादी में आने का निमंत्रण दिया गया।

18 जून को है शादी

महोबकंठ थाना क्षेत्र के माधोगंज गांव के रहने बाले अलखराम की शादी 18 जून को रामसखी से होनी है। अलखराम अपनी शादी में घोड़ी पर चढ़ना चाहता है और धूमधाम से बारात निकालाना चाहता है। अलखराम का आरोप है कि गांव के कुछ दबंग उसे गांव में घोड़ी पर निकलने से रोक रहे हैं और धमकियां दे रहे हैं कि यदि घोड़ी से निकले तो जान से मार देंगे। आरोप है कि गांव में आजादी के बाद से आज तक कोई भी दलित घोड़ी पर नहीं निकला और यदि निकलना चाहता है तो उसे जान से मारने की धमकी दी जाती है।

अलखराम ने इस मामले में पुलिस से न्याय की गुहार लगाई है। अलखराम पर राजनैतिक पार्टियों ने भी अपनी राजनीति शुरू कर दी और आज कांग्रेस पार्टी की प्रियंका गांधी ने दो सदस्यीय टीम गांव में भेजी गई।

प्रशासन मदद कर देगी, बाद में मार दिए जाएंगे

अलखराम के पिता गयादीन कहते हैं उनके लड़के की शादी 18 जून को है। लड़का कहता है कि वह अपनी शादी में घोड़ी से बारात निकलाना चाहता है, लेकिन गांव के दबंग लोग कहते है कि यदि घोड़ी से बारात निकालोगों तो तुम्हे और तुम्हारे लड़के को गोली मार देंगे। यदि अभी पुलिस प्रशासन से मदद लेकर बच गए तो बाद में मार देंगे।

ग्रामीण बोले- हमें तो पता ही नहीं शादी कब है

वही, ग्रामीणों का कहना है कि हमारे गांव में सभी लोग पुरानी परंपरा निभाते चले आ रहे है। आज तक कोई घोड़ी पर नही निकला और यदि अलखराम घोड़ी पर निकलना चाहते है तो हम लोगो को कोई ऐतराज नही है न ही गांव में किसी ने उन्हें रोका है। यदि प्रशासन चाहे तो हम सभी गांव बाले 18 जून को जाकर थाने में बैठ जाएंगे।

तुलसीदास अहिरवार कहते है कि हम लोग पुरानी परंपरा से शादी करते चले आ रहे है। कभी भी किसी ग्रामीणों ने नहीं रोका। यहां सभी कास्ट के लोग पैदल जाते हैं। अलखराम ने किसी गांव बालो से न पूछा है और न ही बताया है।

कांग्रेस डेलीगेशन ने परिवार से बात कर उन्होंने आश्वासन दिया कि बेटा घोड़ी पर जरूर चढ़ेगा।

कांग्रेस डेलीगेशन ने परिवार से बात कर उन्होंने आश्वासन दिया कि बेटा घोड़ी पर जरूर चढ़ेगा।

एससीएसटी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष हाथरस और कांग्रेस के डेलीग्रेशन में आए कुलदीप ने बताया कि अलखराम ने शोसल मीडिया पर एक पोस्ट डाली थी कि कोई संगठन या कोई पार्टी है जो उसकी मदद कर सके घोड़ी पर चढ़ने के लिए। जिस पर हम लोग आए और इन्हें आश्वासन दिया कि हम लोग सब आपके साथ है और प्रियंका गांधी ने बोला है कि हम खुद घोड़ी भिजवाएंगे और अलखराम घोड़ी पर जरूर चढ़ेगा।

पुलिस बोली- कोई धमकाने वाला नहीं मिला

एसआई महोबकंड ने बताया कि माधोगंज के अलखराम द्वारा डाली गई पोस्ट को लेकर हम लोग सतर्क है। गांव वाले कह रहे है कि हम लोगों ने कभी विरोध नहीं किया और कुछ ग्रामीण कह रहे है कि हमे तो पता ही नहीं शादी कब है। अलखराम से भी बात की गई वह धमकी देने बाले का नाम बताए तो वह भी नही बता पा रहे हैं। हालांकि गांव में कोई भी व्यक्ति ऐसा नहीं मिला जो विरोध कर रहा हो।

खबरें और भी हैं…

उत्तरप्रदेश | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

पंचायत चुनाव की रिक्त सीटों पर चुनाव: प्रदेश के 73 जिलों में हुआ पंचायत चुनाव, सुल्तानपुर के दो बूथों पर बवाल; चले आंसू गैस के गोले-हुई पत्थरबाजी

लखनऊ17 मिनट पहले कॉपी लिंक सुल्तानपुर पंचायत चुनाव में वोटिंग के दौरान बवाल हो गया। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *