Breaking News

मुंबई में कोरोना मरीजों के दो मददगार: अपने किचन से होम क्वारैंटाइन मरीजों का पेट भर रहे मुंबई के ये दानवीर, हर दिन 200-200 लोगों तक पहुंचा रहे खाना

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई39 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

आशा किचन चला रही संचालक आशा भतरिया और कृष्णा भतरिया ने अपने 1BHK घर को किचन में तब्दील कर लोगों की मदद का काम शुरू किया है।

महामारी के इस संकट काल में एक ओर जहां लोग घरों में बंद अपनी जान बचा रहे हैं, वहीं कई ऐसे लोग भी हैं जो सड़कों पर उतर भूखे और जरूरतमंद को खाना खिला रहे हैं। मुंबई के रहने वाले ऐसे ही दो लोगों की कहानी आज हम आपको बताने जा रहे हैं, जो अपना सब कुछ छोड़ पिछले कई दिनों से मुंबईकरों की सेवा में जुटे हुए हैं।

मुंबई और आसपास के शहरों में होम क्वारैंटाइन रहने वाले लोगों को कूरियर के माध्यम से उनके घर तक खाना पहुंचाने का जिम्मा राजीव सिंघल ने उठाया है। पेशे से बिजनेसमैन राजीव मुंबई के दहिसर इलाके में रहते हैं। लोगों तक खाना पहुंचाने के लिए सिंघल ने मलाड के आशा किचन का सहयोग लिया है।

राजीव सिंघल हर दिन इसी तरह की थाली 200 लोगों तक पहुंचा रहे हैं।

राजीव सिंघल हर दिन इसी तरह की थाली 200 लोगों तक पहुंचा रहे हैं।

खाना बनाने के लिए एक किचन का भी लिया सहयोग
आशा किचन चला रही संचालक आशा भतरिया और कृष्णा भतरिया ने अपने 1BHK घर को किचन में तब्दील कर लोगों की मदद का काम शुरू किया है। दोनों पति-पत्नी रोजाना 200 लोगों के लिए दो समय का भोजन बनाकर होम क्वारैंटाइन में रह रहे लोगों के दरवाजे तक पहुंचा रहे है। कई बार स्विगी और जोमैटो की टीम से भी मदद ली जा रही है।

खुद को नहीं मिला सही खाना, इसलिए अब लोंगो तक पहुंचा रहे
राजीव सिंघल ने बताया,’जब मैं और मेरा परिवार कोरोना पॉजिटिव था, तब होम क्वारैंटाइन में रहने के दौरान मुझे और मेरे परिवार को पौष्टिक आहार नही मिल पा रहा था। कोरोना की वजह से बिल्डिंग सील थी। इस वजह से बाहर से खाना भी नहीं मंगा सकते थे। इसलिए उन्होंने तय किया कि अब वे होम क्वारैंटाइन में रहने वाले लोगों की हेल्प करेंगे।

योगेंद्र राजपुरिया एक वालेंटियर के साथ अपने किचन में।

योगेंद्र राजपुरिया एक वालेंटियर के साथ अपने किचन में।

मुंबई के राजपुरिया भी 200 लोगों को हर दिन खिला रहे खाना
कुछ इसी तरह की मदद मुंबई के विलेपार्ले के राजपुरिया किचन चला रहे योगेंद्र राजपुरिया भी कर रहे है। वे कहते है कि उनके किचन से रोजाना करीब 200 लोगों के लिए खाना बनाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि मुंबई में रह रहे लोगों तक खाना पहुंचाने के लिए दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और हरियाणा जैसे राज्यों से लोगों के फोन आते हैं और उनके बताये एड्रेस पर राजपुरिया और उनकी टीम खाना पहुंचाती है।

खबरें और भी हैं…

महाराष्ट्र | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

पंचतत्व में विलीन हुए सांसद राजीव सातव: बेटे ने दी मुखाग्नि, अंतिम विदाई देने पहुंचे कांग्रेस के सभी बड़े मंत्री; 23 दिन तक हॉस्पिटल में एडमिट रहने के बाद कोरोना से हुआ था निधन

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप मुंबई13 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *