Breaking News

मौसम का असर: 15 मिनट की आंधी में 85 खंभे टूटे, 158 टेढ़े हुए, 1150 किलाेमीटर लंबी लाइन डैमेज, बुड़श्याम और आसपास के गांवों में 24 घंटे तक ब्लैक आउट

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • 85 Pillars Broken In 15 Minutes Storm, 158 Crooked, 1150 Km Long Line Damage, Black Out For 24 Hours In Budshyam And Surrounding Villages

पानीपत8 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पानीपत. आंधी व बारिश में टूटे हुए पाेल काे ठीक करने पहुंचे कर्मचारी।

  • शहर की कई काॅलाेनियाें में 12 बजे के बाद आई बिजली, निगम अधिकारियाें ने बंद कर लिए फाेन

बिजली निगम के दावे व बेहतर बिजली सप्लाई के दावे 15 मिनट की आंधी व बारिश में हवा हवाई हाे गए। कुछ ही समय तक हुई बारिश में जिलाभर में 85 पाेल टूट गए और 158 टेढ़े हाे गए। इस तरह 243 पाेल और 1150 किमी लाइन डैमेज हाेने की सूची तैयार की गई।

इससे उपभाेक्ताओं काे बिजली के लिए 12 घंटे से भी ज्यादा समय तक इंतजार करना पड़ा। परेशान उपभाेक्ता बिजली अधिकारियाें काे फाेन करते रहे, लेकिन ज्यादातर अधिकारियाें ने फाेन नहीं उठाए। लाेगाें ने बताया कि किसी ने फाेन स्विच ऑफ कर दिए और किसी ने बार-बार घंटी बजने पर भी फाेन नहीं उठाए।

सबसे ज्यादा पाेल समालखा सब डिवीजन में टेढ़े हुए और टूट भी गए। यहां पर 50 पाेल डैमेज हुए। सबसे कम पाेल सिटी सब डिवीजन में 7 ही डैमेज हुए। इसके अलावा पूरे जिले की बात की जाए ताे करीब 1150 किलाेमीटर बिजली लाइन भी डैमेज हुई हैं। इसमें कहीं पर तारें टूट गई ताे कहीं पर पेड़ आदि गिरने से लाइन लूज हाे गई। अन्य सब डिवीजनाें की बात की जाए ताे बापाैली में 43, छाजपुर में 38, माॅडल टाउन में 20, सनाैली राेड में 14, किला में 7, इसराना में 16, मतलाैडा में 20 और सब अर्बन सब डिवीजन में 35 पाेल डैमेज हुए।

इन एरिया में सबसे ज्यादा समय तक प्रभावित रही बिजली

पानीपत शहर की बात की जाए ताे सबसे लंबा कट किशनपुरा एरिया में लगा। यहां पर गुरुवार रात 10 बजे बंद हुई बिजली सप्लाई शुक्रवार 10.30 बजे बिजली आई। ग्रामीण एरिया की बात की जाए ताे बुड़श्याम व आसपास के गांव में गुरुवार रात 10 बजे गई बिजली शुक्रवार रात 10 बजे तक भी बिजली नहीं आई। पूरे सर्कल में 33 केवी वाले 52 सब स्टेशन की लाइनें व पाेल टूटने से बिजली सप्लाई प्रभावित हुई। बिजली अधिकारियाें ने सबसे पहले रिहायशी क्षेत्राें में बिजली सप्लाई चलाई। खेताें की बिजली बाद में चलाई गई।

आधी में पाेल भी टूटते हैं लाइन भी डैमेज हाेती है

तेज आंधी व बारिश में बिजली पाेल भी व लाइनाें का डैमेज हाेना लाजमी है। पूरे सर्कल की बात की जाए ताे 85 पाेल टूट गए। इनके साथ-साथ 158 पाेल टेढ़े हाे गए। सबसे पहले रिहायशी क्षेत्राें की बिजली सूचारू की गई। खेताें की बिजली पर सबसे बाद में काम शुरू किया गया। गर्मी काे देखते हुए सबसे पहले काम किया जाता है। -जेएस नारा, एसई, बिजली निगम, पानीपत सर्कल।

खबरें और भी हैं…

हरियाणा | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

हिसार में ऑनर किलिंग: प्रेमिका को लेकर भाग गया था, लड़की के परिजनों ने ढूंढ निकाला, संदिग्ध हालात में अस्पताल में युवक की मौत

Hindi News Local Haryana Honour Killing In Hisar, 19 Year Old Boy Died In Suspicious …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *