Breaking News

यह इंसानियत नहीं है: बैलों की जोड़ी को रस्सी से बांधकर जंगल में छोड़ा, भूख-प्यास से कंकाल बन गए दोनों

  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Mandi (Himachal Pradesh) Tied A Pair Of Bullocks With A Rope And Left Them In The Forest, Both Became Skeletons Due To Hunger And Thirst

मंडी (हिमाचल प्रदेश)11 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मंडी में बैलों के कंकाल मिलने के बाद मौके पर पहुंचे इलाके के लोग।

हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले में इंसानियत को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक शख्स ने अपने दो बैलों को जंगल में रस्सी से बांध दिया और भूख-प्यास के चलते बैलों की मौत हो गई। आरोप एक सुमदाय विशेष से ताल्लुक रखते शख्स पर लगा है। मामला सामने आने के बाद इलाके में माहौल तनावपूर्ण हो गया, वहीं पुलिस ने इस संबंध में दो आरोपियों को हिरासत में ले लिया है।

जंगल में रस्सी से बंधे मिले बैलों के कंकाल, जिसके बाद माहौल तनावपूर्ण है।

जंगल में रस्सी से बंधे मिले बैलों के कंकाल, जिसके बाद माहौल तनावपूर्ण है।

मिली जानकारी के अनुसार एक व्यक्ति लखदाता पीर के दर्शनों को जा रहा था। मंडी जिले के गांव गलु और भडियार के बीच जंगल से गुजरते वक्त उसे दुर्गन्ध महसूस हुई। पास जाकर देखा तो रस्सी से बंधे दो बैल कंकाल बन चुके थे। गांव लौटने पर उसने अन्य ग्रामीणों को सारी बात बताई। पंचायत प्रधान सविता गुप्ता को भी जानकारी दी गई। इस घटना का पता चलने पर इलाके में तनाव के हालात पैदा हो गए, इसलिए पुलिस दल मौके पर भेजा गया।

इस बारे में DSP चंद्रपाल सिंह ने बताया कि करीब 3 महीने पहले एक व्यक्ति के द्वारा दो बैलों को मरने के लिए छोड़ दिए जाने का पता चला था। भडियार गांव मुस्लिम बाहुल इलाका है और इस वजह से तनाव बढ़ा है। इस संबंध में केस दर्ज किया गया है। दो आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। पुलिस स्थानीय लोगों और पंचायत प्रधान को भी बुलाया गया है, ताकि पता लगाया जा सके कि आरोपियों ने ऐसा क्यों किया है। इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया के जरिये सामने आया है।

खबरें और भी हैं…

हिमाचल | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

संक्रमण का कहर: हिमाचल में 24 घंटे में काेराेना के 505 नए केस, 9 की मौत, 957 ठीक हुए

शिमला2 घंटे पहले कॉपी लिंक प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस से 9 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *