Breaking News

वैक्सीनेशन का जज्बा: दुर्गम क्षेत्र में वैक्सीन लगाने के लिए टीम को लेनी पड़ी जेसीबी की मदद; सरतेयाल गांव में बुजुर्गों को लगनी थी वैक्सीन

  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • The Team Had To Take The Help Of JCB To Put The Vaccine In The Inaccessible Area; Elders Had To Get Vaccinated In Sartayal Village

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

करसोग3 घंटे पहलेलेखक: रश्मिराज भारद्वाज

  • कॉपी लिंक

30 फुट की चढ़ाई पर जेसीबी के बकेट से पहुंचे

विकासखंड करसोग की अतिदुर्गम पंचायतों में वैक्सीनेशन करने के लिए हेल्थ विभाग की टीम को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। शुक्रवार को दूरदराज की सरतेयोला पंचायत में चलने फिरने में असमर्थ बुजुर्गों को कोरोना की वैक्सीन लगनी थी। रोड साइड से पांच से छह किलोमीटर दूर इस कठिन क्षेत्र में हेल्थ विभाग की टीम काे उबड़-खाबड़ और पथरीले रास्तों से होकर गुजरना पड़ा।

यहां तक टीम के सदस्यों को चढ़ाई चढ़ने के लिए जेसीबी की मदद लेनी पड़ी। टीम को लगभग 30 फुट की खड़ी चढ़ाई aपर जेसीबी के बकेट से पहुंचाया गया। कई जगह पहाड़ की खड़ी चढ़ाई पर हाथ पकड़कर अपने गंतव्य तक पहुंचना पड़ा। वहां पंचायत भवन में चलने फिरने में असमर्थ बुजुर्गों को टीका लगाया गया। वैक्सीन लगने के बाद बुजुर्गों ने राहत की सांस ली है।

स्वास्थ्य विभाग ने कठिन भौगोलिक स्थिति को देखते हुए सरतेयोला पंचायत के बुजुर्गों को पंचायत में टीकाकरण का निर्णय लिया। स्वास्थ्य विभाग की टीम में रमेश वर्मा फार्मासिस्ट माहूनांग, फीमेल हेल्थ वर्कर कुनहों कला ठाकुर व याचना हेल्थ सब सेंटर चिंडी शामिल थे। इसके लिए स्थानीय प्रधान तिलक वर्मा ने बीएमओ करसोग सहित हेल्थ विभाग की टीम का आभार प्रकट किया है। टीम के इस जज्बे को स्थानीय लोगों ने बहुत सराहा।

खबरें और भी हैं…

हिमाचल | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

कोरोना से लड़ाई: जिले में टेस्टिंग ताे बढ़ाई; लेकिन ज्यादातर किए जा रहे रेट टेस्ट, आरटीपीसीआर हाे रहे हैं कम

शिमलाएक घंटा पहले कॉपी लिंक विशेषज्ञ बोले-आरएटी टेस्टिंग उतनी भराेसेमंद नहीं है जितनी आरटी-पीसीआर टेस्टिंग …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *