Breaking News

MP में PPE किट धोकर बेचने का मामला: रसूखदार संचालक को प्रशासन की क्लीन चिट, प्रदूषण विभाग का वैज्ञानिक सस्पेंड कर की खानापूर्ति

  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Satna
  • The District Administration Has Mercy On The Influential Operator, Only The Scientist Of The Pollution Department Was Suspended, Digvijay Singh Wrote A Letter To The CM

सतना6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

बड़खेरा स्थित इंडो वाटर बॉयो वेस्ट डिस्पोजल प्लांट का गेट।

  • बड़खेड़ा स्थित इंडो वाटर बायो वेस्ट प्लांट का मामला
  • सोशल मीडिया में वीडियो वायरल होने के बाद हरकत में आया था प्रशासन

शहर के पास बड़खेरा स्थित इंडो वाॅटर बायो वेस्ट डिस्पोजल प्लांट में सिंगल यूज PPE किट को गर्म पानी में धोकर बेचने के मामले में प्रशासन ने खानापूर्ति कर दी। यहां रसूखदार संचालक अमोल मोहने को प्रशासन ने क्लीन चिट दे दी। वहीं, प्रदूषण विभाग के वैज्ञानिक को सस्पेंड कर दिया गया है। सूत्रों का दावा है कि अब तक अधिकारियों को प्लांट से पीपीई किट बाजार में बेचे जाने का पुख्ता सबूत नहीं मिला है।

मामले को लेकर कांग्रेस के पूर्व सीएम व राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने दैनिक भास्कर की खबर के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा था। आनन-फानन में हरकत में आए प्रशासन ने प्लांट संचालक को क्लीन चिट दे दी। वहीं, मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी केपी सोनी ने वैज्ञानिक डॉ. राहुल द्विवेदी को निलंबित कर कटनी मुख्यालय अटैच कर दिया है।

दिग्विजय सिंह द्वारा सीएम को लिखा गया पत्र।

दिग्विजय सिंह द्वारा सीएम को लिखा गया पत्र।

आठ दिन पहले वायरल हुआ था वीडियो
गौरतलब है, 8 दिन पहले सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हुआ। पता चला कि बड़खेरा गांव के युवक ने चोरी-छिपे बायो वेस्ट डिस्पोजल प्लांट के अंदर चल रही करतूत का वीडियो मोबाइल में कैद कर वायरल किया था। वीडियो में दिखाई दे रहा है, PPE किट और ग्लव्ज को टब में गर्म पानी में डालने के बाद धोकर सुखाया जाता है। इसके बाद प्लांट के अंदर काम कर रहे मजदूर बंडल तैयार करते हैं। इसके बाद यह हूबहू नए बंडल की तरह ही दिखने लगता है। इसके बाद कबाड़ियों के माध्यम से सतना और भोपाल के खुले बाजार में दोबारा PPE किट के तौर पर बेचा जा रहा है। इस मामले में रीवा कमिश्नर ने कलेक्टर सतना को जांच के आदेश दिए थे।

MP में PPE किट डिस्पोजल घोटाला:जिस बायो वेस्ट प्लांट को PPE किट को नष्ट करने का जिम्मा, वह इन्हें गर्म पानी में धोकर सतना-भोपाल के खुले बाजार में बेच रहा

मजबूरी में दिखा प्रशासन
शहर से 8 किमी दूर बड़खेरा में लगे प्लांट पर सतना के सभी अस्पतालों समेत रीवा, सीधी, सिंगरौली, पन्ना, छतरपुर और टीकमगढ़ आदि जिलों का मेडिकल वेस्ट भेजा जाता है। प्रदूषण अधिकारियों ने बताया था कि इसकी स्थापना सिर्फ 150 किमी. की दूरी में हो सकती है। ऐसे में एक प्लांट होने के कारण संचालक मजबूरी का फायदा उठा रहा है और हुआ भी वही। आरोप है कि इंडो वाॅटर का मालिक अमोल मोहने का प्लांट बस्ती में स्थित है। जहां विगत वर्षों से प्लांट के लापरवाही पूर्वक संचालन की शिकायत संबंधित विभाग में की जा रही हैं, लेकिन सुधार के नाम पर समय लेकर मामले को दबा दिया जाता है।

PPE किट डिस्पोजल घोटाले में नया मोड़:जांच में किट के अमानक बंडल मिले, रिपोर्ट कलेक्टर को सौंपी; 7 जिलों का बायो वेस्ट यहीं आता है, अब तक कोई कार्रवाई नहीं

क्या लिखा था दिग्विजय सिंह ने पत्र में
28 मई को सीएम शिवराज सिंह चौहान को लिखे पत्र में दिग्विजय सिंह ने कहा था कि समाचार पत्रों के माध्यम से पता चला कि सतना जिले के बड़खेरा बॉयो वेस्ट प्लांट में 7 जिलों का मेडिल वेस्ट सतना आता है। जहां पर पीपीई किट सहित ग्लव्ज को निकालकर धोने के बाद नई पैकिंग के बाद पुन: बाजार में पहुंचाया जाता है। ऐसा अपराध करने वालो के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की जाए।

खबरें और भी हैं…

मध्य प्रदेश | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

भोपाल में दौड़ी सिटी बस: BCLL ने 3 रूटों पर 9 बसें चलाई, अब संख्या हुई 32

भोपाल21 मिनट पहले कॉपी लिंक सिटी बस का फोटो। फाइल 1 जून से अनलॉक हुई …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *