Breaking News

अनिश्चितकाल तक हड़ताल: सफाई कर्मी और कचरा उठाने वाले हड़ताल पर; घरों में भी कचरा उठाने नहीं आएंगे कर्मचारी

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मोहाली21 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

सफाई कर्मचारियों ने शहर में अनिश्चितकाल तक हड़ताल पर जाने का फैसला लिया है। पंजाब सफाई मजदूर फेडरेशन के राज्य महासचिव पवन गोंडयाल ने बताया कि सफाई कर्मचारियों की मांगें न माने जाने को लेकर कर्मचारियों की तरफ से हड़ताल पर जाने का फैसला किया गया है।

इसको लेकर भारी संख्या में सफाई कर्मचारी, डोर टू डोर गार्बेज कलेक्ट करने वाले कर्मचारी, कूड़ा उठाने वाली गाड़ियों के ड्राइवर इकट्ठे होकर नगर निगम कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन करेंगे और पंजाब सरकार के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर करेंगे।

पवन ने बताया कि उनकी फेडरेशन की तरफ से सफाई कर्मचारियों की मांगों को लेकर नगर निगम के कमिश्नर और नगर निगम के मेयर के साथ मीटिंग की गई थी, लेकिन उसमें भी उनकी मांगों को लेकर कोई हल नहीं हो पाया। अब पंजाब सफाई फेडरेशन यूनियन के सदस्यों की तरफ से अनिश्चित काल तक हड़ताल पर जाने का फैसला लिया गया है।

फेडरेशन के सदस्यों ने बताया कि हड़ताल के चलते सफाई कर्मचारियों की तरफ से शहर में साफ सफाई का काम नहीं किया जाएगा और न ही लोगों के घरों में जाकर कूड़ा इकट्ठा किया जाएगा। फेडरेशन के सदस्यों ने कहा कि सफाई न होने और कूड़ा न उठाए जाने के चलते शहर के लोगों को जो भी समस्या होगी उसके लिए सीधे तौर पर नगर निगम जिम्मेवार होगा।

उन्होंने कहा कि वे खुद लोगों को परेशान करना नहीं चाहते, लेकिन उन्हें भी अपना परिवार पालना है। उनकी मांगें बिल्कुल जायज हैं इसलिए नगर निगम को उनकी मांगें माननी चाहिए। पंजाब सफाई मजदूर यूनियन के सदस्यों ने कहा कि नगर निगम की तरफ से शहर में साफ सफाई का ठेका प्राइवेट कंपनी को दिया जा रहा है।

कर्मचारियों का कहना है कि वह इस बात को लेकर नाराज हैं कि नगर निगम अपने और सफाई कर्मचारियों के बीच किसी कंपनी को न लाकर खुद कर्मचारियों को अपने अंतर्गत ले और उनसे काम करवाए। सफाई कर्मचारियों ने कहा कि प्राइवेट कंपनी द्वारा कर्मचारियों के साथ काफी ज्यादा भेदभाव किया जाता है और बिना वजह से उनकी सैलरी में भी कटौती की जाती है।

कोविड-19 के नियमों का किया उल्लंघन

सफाई कर्मचारियों की तरफ से अपनी मांगों को लेकर नाराजगी जाहिर करते हुए धरना प्रदर्शन किया जा रहा था। लेकिन इस दौरान भारी संख्या में सफाई कर्मचारी नगर निगम ऑफिस के बाहर इकट्ठा हुए। इस दौरान किसी प्रकार की कोई सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन नहीं किया गया।

खबरें और भी हैं…

चंडीगढ़ | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

करनाल की घीड़ मंडी सुर्खियों में: 9 राइस मिलर्स को नहीं मिलेगा सरकारी धान, भ्रष्टाचार में लिप्त खरीद एजेंसी के इंस्पेक्टर होंगे सस्पेंड

यमुनानगरएक घंटा पहले कॉपी लिंक घीड़ अनाज मंडी में बिकने के लिए आया धान। हरियाणा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *