Breaking News

अन्तर्विभागीय समन्वय समिति की बैठक: पेंडिंग प्रकरणों को तय समय सीमा में निपटाएं लोगों को सरकारी योजनाओं से जोड़े: महावर

भरतपुर3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) बीना महावर की अध्यक्षता में जिला स्तरीय अन्तर्विभागीय समन्वय समिति की बैठक सोमवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित हुई। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) महावर ने कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे जिले में बुवाई का क्षेत्र बढ़ने के साथ ही कृषकों की फसलों का प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत बीमा कराकर सुरक्षा प्रदान करें।

उन्होंने चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को स्वास्थ्य विभाग की व्यक्तिगत लाभकारी योजनाओं जननी सुरक्षा योजना एवं राजश्री योजना के लाभ से वंचित लम्बित प्रकरणों का निस्तारण कर प्रसुताओं को लाभान्वित कराएं। उन्होंने प्रमुख चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि वे निर्धारित दिवसों में दिव्यांगों के प्रमाण पत्र जारी करने के लिए जिला स्तरीय मेडिकल बोर्ड की बैठक नियमित रूप से कराया जाना सुनिश्चित करें जिससे दिव्यांगजनों को होने वाली परेशानी से निजात मिल सके।

उन्होंने आरएसआरडीसी के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे कस्बा सीकरी में बनने वाले नये महाविद्यालय भवन के निर्माण का तकनीकी तकमीना बनाकर भेजें जिससे भवन के लिए बजट स्वीकृत हो सके। उन्होंने राजस्थान सम्पर्क पोर्टल एवं 181 पर लम्बित प्रकरणों को समय सीमा के आधार पर प्राथमिकता से निस्तारण कराने के निर्देश दिये जिससे जिले की रैंकिंग में सुधार लाया जा सके।

बैठक में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राजेन्द्र सिंह चारण ने समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे मानसून की वर्षा को मद्देनजर रखते हुए राज्य सरकार के निर्देशानुसार चारदीवारी वाले राजकीय परिसरों में अधिक से अधिक वृक्षारोपण करायें। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि वृक्षारोपण करते समय लगभग 6 से 8 फीट की ऊंचाई वाले पौधे लगाए जाएं।

उन्होंने कहा कि बापू वृक्षारोपण अभियान के तहत किए जाने वाले वृक्षारोपण का टीमें गठित कर सत्यापन कराया जायेगा। उन्होंने कहा कि ग्रामीण विकास विभाग द्वारा प्रति ग्राम पंचायत 500-500 पौधों के रोपण के लक्ष्य निर्धारित किये गये हैं जिन्हें शीघ्र ही पूरा कराया जाएगा।

बैठक में जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधीक्षण अभियंता ने जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी से आग्रह किया कि वे सरपंचों के माध्यम से जल जीवन मिशन के तहत गठित होने वाली ग्राम स्तरीय जल एवं स्वच्छता समितियों का ग्राम सभा में अनुमोदन कर सूची भिजवायें जिससे उनका ऑनलाइन अपडेशन किया जा सके साथ ही गठित वीडब्लूएसएस का स्थानीय बैंक में खाता खुलवाने की प्रक्रिया के भी निर्देश जारी करें।

बैठक में चिकित्सा विभाग के अधिकारी ने बताया कि विभाग द्वारा अभियान चलाकर जननी सुरक्षा योजना के 2 हजार 361 एवं राजश्री योजना के 1 हजार 171 लम्बित प्रकरणों में राशि का भुगतान कर निस्तारण किया गया है। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) केके गोयल, राजकीय मेडिकल काॅलेज के प्रिंसीपल डाॅ. रजत श्रीवास्तव, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डाॅ. जिज्ञासा साहनी, उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. असित श्रीवास्तव, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक पूरन सिंह, जिला रसद अधिकारी सुभाष चंद गोयल, पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक डाॅ. नागेश चौधरी, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधीक्षण अभियंता हेमंत कुमार सहित अन्य विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं…

राजस्थान | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

भारत विकास परिषद ने किया पौधारोपण: एसडीएम, तहसीलदार, सरपंच समेत सामाजिक कार्यकर्ताओं ने लगाए औषधीय पौधे, लोगों से की ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने की अपील

सवाई माधोपुरएक घंटा पहले कॉपी लिंक पौधारोपण करते एसडीएम। उपखंड मुख्यालय बौंली पर भारत विकास …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *