Breaking News

एकादशी पर सरोवर में स्नान: निर्जला एकादशी के मौके पर हजारों श्रद्धालुओं ने पुष्कर सरोवर में आस्था की डुबकी लगाई

अजमेर3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सोमवार को निर्जला एकादशी के मौके पर हजारों श्रद्धालुओं ने पुष्कर सरोवर में आस्था की डुबकी लगाई तथा दान-पुण्य किया। बीते करीब तीन माह के कोरोना काल में यह पहला मौका है जब पुष्कर में इतनी बड़ी संख्या में श्रद्धालु स्नान के लिए पहुंचे।

सोमवार सुबह दिन निकलने के साथ ही स्नानार्थियों की आवक शुरू हो गई। हालांकि सुबह-सुबह श्रद्धालुओं की आवक कम रही। 10 बजे बाद घाटों पर स्नानार्थियों का तांता लग गया। मुख्य गऊघाट, ब्रह्म घाट, बद्री घाट व वराह घाट दोपहर तक स्नानार्थियों की भीड़ लगी रही।

श्रद्धालुओं ने स्नान के बाद सरोवर की परिक्रमा लगाई। इस मौके पर निर्जला व्रतधारी महिला श्रद्धालुओं ने ब्राह्मणों को सरोवर के जल से भरी मटकियां भेंट की। तीन माह बाद श्रद्धालुओं की उमड़ी भीड़ के चलते घाटों के साथ-साथ बाजारों में खासी चहल-पहल रही। यात्रियों ने खरीदारी भी की।

ब्रह्मा मंदिर के दर्शन नहीं होने से निराश हुए श्रद्धालु

निर्जला एकादशी पर श्रद्धालुओं ने बिना किसी रोक-टोक के सरोवर में स्नान तो किया लेकिन वे ब्रह्मा मंदिर के दर्शन नहीं कर सके। उन्हें काफी निराश होना पड़ा। कोरोना महामारी के कारण मंदिर बीते ढाई माह से बंद है। इसके चलते श्रद्धालुओं को मंदिर के बाहर लगी एलईडी पर ब्रह्मा जी के दर्शन व सीढ़ियों पर ही धोक लगानी पड़ रही है। सांवरिया सेठ परिवार संस्था की ओर से ब्रह्म पुष्कर गौ शाला में गायों के लिए ढ़ाई हजार किलो सूखा चारा (कुट्टी), मनोज कुमावत ने दो हजार किलो कुट्टी व ललित कुमावत, चेतन, मुकेश, भरत, सुदर्शन आदि युवाओं ने 5 सौ किलो कुट्टी भेंट की। गौ शाला समिति अध्यक्ष गिरीराज पाराशर ने सभी गौ भक्त दानदाताओं का आभार व्यक्त किया।

अजमेर श्रीअग्रोहा बन्धु पश्चिम क्षेत्र संस्था अध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद मित्तल, एबीपीएस महिला समिति अध्यक्ष ज्योत्सना जैन मित्तल के अनुसार पुष्कर आदि गौशाला में एक टैंकर पानी व एक टेंपू 591 किलो काशीफल उपलब्ध कराए।

खबरें और भी हैं…

राजस्थान | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

अंतरराष्ट्रीय महासचिव की मेवाड़ संभाग में संगठन काे लेकर यात्रा: महावीर इंटरनेशनल के भगवानपुरा, युवा संघर्ष पुर, बनेड़िया व रेलमगरा केंद्र का गठन; मेवाड़ प्रवास के लिए भीलवाड़ा पहुंचे

Hindi News Local Rajasthan Bhilwara Formation Of Mahavir International’s Bhagwanpura, Yuva Sangharsh Pur, Banediya And …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *