Breaking News

एक दिन में 13 लाल आतंकियों का सरेंडर: नक्सलियों के जनपितुरी सप्ताह का आखरी दिन, दंतेवाड़ा और सुकमा में डाले हथियार, बड़े लीडरों के लिए खाने की व्यवस्था समेत तमाम काम करते थे

  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • 5 Maoists Surrendered In Dantewada, Used To Do Everything Including Food Arrangements For Big Leaders, 8 Including Couple Surrendered In Sukma Too

दंतेवाड़ा,सुकमा2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

नक्सलियों के जनपितुरी सप्ताह के आखिरी दिन दंतेवाड़ा जिले के किरंदुल इलाके में सक्रिय 5 नक्सलियों ने भी सरेंडर कर दिया। इस प्रकार एक ही दिन में कुल 13 नक्सलियों ने अलग-अलग जिलों में सरेंडर किया है।

छत्तीसगढ़ के बस्तर क्षेत्र में 5 जून से शुरू हुए नक्सलियों के जनपितुरी सप्ताह का शुक्रवार को आखरी दिन था। इस सप्ताह के आखरी दिन दंतेवाड़ा जिले में भी किरंदुल थाना में एसडीओपी देवांश सिंह रौठार के समक्ष 5 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया है। सभी समर्पित माओवादी दरभा डिवीजन के मलांगिर एरिया कमेटी में पिछले कई वर्षों से सक्रिय थे। इन्होंने लोन वर्राटू अभियान से प्रभावित होकर सरकार के समक्ष अपने हथियार डाले हैं। सरेंडर करने वाले सभी जनमिलिशिया सदस्य हैं। माओवाद संगठन में रहते हुए ये सभी बड़े लीडरों के लिए खाने की व्यवस्था करना, सड़क काटना, आईईडी लगाना, बैनर पोस्टर चस्पा करने का कार्य किया करते थे। इस प्रकार एक ही दिन में 13 नक्सलियों ने सरेंडर कर दिया है।

जनपितुरी सप्ताह के आखिरी दिन सुकमा में भी 2 लाख के इनामी समेत 8 नक्सलियों ने सरेंडर किया था। इन नक्सलियों ने कहा था कि उन्होंने संगठन में हो रहे भेदभाव, अत्याचार और शोषण के चलते ही सरेंडर करने का फैसला लिया है। इस प्रकार शुक्रवार को सुकमा और दंतेवाड़ा जिले के कुल 13 नक्सलियों ने सरेंडर कर दिया है।

इन नक्सलियों ने छोड़ा माओवाद का दामन

  • भीमा बारसे, जनमिलिशिया सदस्य ।
  • मुकेश मीड़ियामी, जनमिलिशिया सदस्य।
  • मल्ला मिडियामी, जनमिलिशिया सदस्य।
  • सन्नू मिडियामी, जनमिलिशिया सदस्य।
  • हड़मा कर्मा, जनमिलिशिया सदस्य।

लोन वर्राटू तोड़ रहा माओवादियों की कमर
दंतेवाड़ा पुलिस का लोन वर्राटू अभियान नक्सलियों की कमर तोड़ रहा है। इस अभियान के तहत करीब सालभर के अंदर 368 नक्सलियों ने सरेंडर किया है। इनमें 96 नक्सली इनामी हैं। पुलिस का दावा है कि आगे और भी नक्सली अभी सरेंडर करेंगे।

सरेंडर का मौका दिया

किरंदुल एसडीओपी देवांश सिंह राठौर ने बताया कि लोन वर्राटू अभियान के तहत सभी गांवों में नक्सलियों की सूची चस्पा की गई है और सरेंडर का मौका दिया गया है। नक्सलियों की खोखली विचारधारा से तंग आकर किरंदुल के 5 नक्सलियों ने सरेंडर किया है।

शुक्रवार को ही सुकमा जिले में भी 8 नक्सलियों ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया।

शुक्रवार को ही सुकमा जिले में भी 8 नक्सलियों ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया।

दंपती समेत 8 का सरेंडर

सुकमा जिले के कलेक्टर विनीत नंदनवार, एसपी के.एल ध्रुव और तमाम अधिकारियों के सामने 8 लाल आतंकियों ने सरेंडर किया था। इनमें एक नक्सली दंपती भी शामिल थे। वहीं एक नक्सली ने एक भरमार बंदूक से साथ आत्मसमर्पण किया था।

जनपितुरी सप्ताह क्या है?

नक्सली हर साल 5 से 7 दिन जनपितुरी सप्ताह मनाते हैं। इस दौरान नक्सली अंदरूनी इलाकों में ग्रामीणों की सभा लेते हैं। इस सभा के दौरान नक्सली ग्रामीणों को जल,जंगल और जमीन की लड़ाई लड़ने को कहते हैं। इस दौरान नक्सली एनकाउंटर में मारे गए अपने साथियों को श्रध्दांजलि देते हैं। उनके याद में अलग-अलग जगह पर स्मारक बनाते हैं। वहीं लाल आतंकी इस पूरे सप्ताह के दौरान कोई बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में रहते हैं। इस साल नक्सलियों का ये सप्ताह 5 जून से शुरू हुआ था, जो 11 जून को खत्म हो रहा है।

खबरें और भी हैं…

छत्तीसगढ़ | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

लॉकडाउन से राहत मिली पर सावधान रहना जरूरी: दो माह बाद शाम सात बजे तक खुले बाजार, हर तरफ लगा जाम

रायपुरएक घंटा पहले कॉपी लिंक लॉकडाउन के करीब दो महीने के बाद शहर के बाजार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *