Breaking News

ओलिंपिक पर कोरोना का साया: कोरोना के 9 नए मामले आए; खेल गांव में एक खिलाड़ी सहित ओलिंपिक तैयारी में जुटे आठ लोग संक्रमित

  • Hindi News
  • Sports
  • Olympics Players Coronavirus Cases; Tokyo Olympic Village | Athlete Including Eight Other People Tested Positive For Covid 19

टोक्यो24 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

टोक्यो ओलिंपिक पर कोरोना का खतरा गहराता जा रहा है। ओलिंपिक शुरू होने में 3 दिन रह गए हैं, वहीं मंगलवार को खेल गांव में एक विदेशी एथलीट सहित खेल गांव से बाहर ओलिंपिक की तैयारी में जुटे आठ अन्य लोग कोरोना संक्रमित हो गए हैं। जापान टुडे की रिपोर्ट के अनुसार आयोजकों ने बताया कि मंगलवार को कोरोना के 9 नए मामले सामने आए हैं। इनमें एक विदेशी एथलीट खेल गांव से हैं, जबकि अन्य आठ लोग खेल गांव से बाहर के हैं और वे ओलिंपिक के आयोजन की तैयारी में जुटे हुए हैं।

रिपोर्ट के अनुसार आयोजकों ने पहली बार कोरोना के आंकड़ों की जानकारी देते हुए कहा है कि एक जुलाई से अब तक 71 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं।

आयोजकों की ओर से बताया गया है कि खेल गांव में आए कोरोना संक्रमितों के संपर्क में साउथ अफ्रीकी पुरु‌ष फुटबॉल टीम के 21 सदस्यों की पहचान कर हो चुकी है। इनमें से तीन लोगों को क्वारैंटाइन और अन्य जांच से छूट दी गई है।

जापान आने से पहले मैक्सिको के दो खिलाड़ी कोरोना संक्रमित
मैक्सिको मेन्स बेसबॉल टीम के दो खिलाड़ी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। टीम को 31 जुलाई को जापान के लिए रवाना होना था।

शनिवार को खेल गांव से आया था कोरोना का पहला मामला
खेल गांव में अब कोरोना के चार मामले हो गए हैं। शनिवार को खेल गांव से पहला कोरोना का मामला सामने आया था, जिसमें कोरोना की तैयारी में जुटा एक अधिकारी कोरोना संक्रमित हो गया था। वहीं रविवार को खेल गांव में खिलाड़ियों के किए गए कोरोना टेस्ट में दो खिलाड़ियों का पहला टेस्ट पॉजिटिव आया था।
8 दिन पहले खिलाड़ियों के लिए खोला गया था खेल गांव
खेल गांव को 8 दिन पहले ही खिलाड़ियों के लिए खोला गया था। खेल गांव में ओलिंपिक के दौरान करीब 11,000 एथलीट और हजारों अन्य स्टाफ रहेंगे।

ओलिंपिक में खुद गले में डालना होगा मेडल
ओलिंपिक में हिस्सा लेने वाले हर एथलीट का सपना होता है मेडल जीतना। जीत हासिल करने वाले एथलीटों को पोडियम पर मेडल पहनाया जाता है। यह लम्हा उनके जीवन का सबसे यादगार पल भी बन जाता है, लेकिन कोरोना महामारी के कारण टोक्यो ओलिंपिक में ऐसा नहीं होगा। इस बार विजेता एथलीटों को खुद ही अपने गले में मेडल डालना होगा। साथ ही मेडल सेरेमनी के दौरान एथलीटों के हाथ मिलाने और गले मिलने पर रोक होगी।

ओलिंपिक में दर्शकों की एंट्री पर रोक
कोरोना महामारी के कारण टोक्यो में आपातकाल लागू है। ओलिंपिक स्टेडियम में दर्शकों की एंट्री बैन कर दी गई है। पहले कहा गया था कि हर स्टेडियम में 50% दर्शकों (अधिकतम 10 हजार) को एंट्री दी जा सकती है, लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए एंट्री पर बैन लगा दिया गया है।

जापान के लोग ओलिंपिक के पक्ष में नहीं
जापान, विशेषकर टोक्यो, के निवासी कोरोनाकाल में ओलिंपिक आयोजन के पक्ष में नहीं हैं। अधिकांश सर्वे में 60 से 70% लोगों ने कहा कि अभी ओलिंपिक को टाल देना बेहतर होगा। मार्च में शुरू हुई ओलिंपिक टॉर्च रिले को भी कई शहरों में विरोध प्रदर्शन का सामना करना पड़ा। एक शहर में तो मशाल बुझाने की कोशिश भी हुई थी। हालांकि, जापान की सरकार ने आयोजन जारी रखने का फैसला किया है।

खबरें और भी हैं…

स्पोर्ट्स | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

ओलिंपिक में सिंधु की आगे की राह कठिन: प्री क्वार्टर फाइनल में डेनमार्क की मिया ब्लिचफेल्ट से मुकाबला, क्वार्टर फाइनल में यामागूची से भिड़ंत संभव

टोक्यो16 मिनट पहले कॉपी लिंक भारतीय बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु टोक्यो ओलिंपिक में महिला सिंगल्स …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *