Breaking News

किन्नरों ने कहा वे सुप्रीम कोर्ट के सामने धरना देंगे: अपने-अपने इलाके को लेकर किन्नर गुटों में हो रही लड़ाई, राजनीतिक दबाव में पुलिस पर लगाया कार्रवाई न करने का आरोप

  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Fighting Between Transgender Groups Over Their Respective Areas, Accusing The Police Of Not Taking Action Under Political Pressure

चंडीगढ़2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

आज पटियाला ,राजपुरा और अम्बाला के किन्नर वेलफेयर बोर्ड की जनरल सेक्रेटरी तमन्ना महंत ने अपने साथियों सहित प्रेस कांफ्रेंस की।

किन्नर समाज के सदस्यों की ओर से पिछले काफी समय से अपने-अपने इलाकों और लड़ाई-झगड़ा करने से मामला खराब हो रहा है। किन्नरों के एक गुट की ओर से पुलिस पर यह आरोप लगाया जा रहा है कि राजनीतिक दबाव के कारण जो गुट उनके साथ लड़ाई और लूट करता है उसके खिलाफ पुलिस कोई कार्रवाई नहीं करती। जिससे अब वे बुरी तरह से परेशान हो गए है और इंसाफ के लिए सुप्रीम कोर्ट के बाहर अपनी मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन कर सकते है। इस संबंध में चंडीगढ़ में आज पटियाला ,राजपुरा और अम्बाला के किन्नर वेलफेयर बोर्ड की जनरल सेक्रेटरी तमन्ना महंत ने अपने साथियों सहित प्रेस कान्फ्रेंस की।

इस मौके उन्होंने बताया कि 25 मई 2021 को पटियाला में सिमरन महंत की ओर से असामाजिक तत्वों के साथ मिलकर पूनम महंत पर हमला कर बुरी तरह से घायल कर दिया, और 20 लाख रुपए और आधा किलो सोना सहित कीमती सामान लूट लिया। इस हमले में दो किन्नरों को उन्होंने अगवा कर लिया जिसे बाद में पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट के निर्देश पर वारंट अफसर ने बरामद किया था। इसके अलावा किन्नर सोनिया का बाजू फ्रेक्चर कर दिया था।

तमन्ना महंत ने आरोप लगाया कि इस मामले में काफी जद्दो-जहद के बाद एफआईआर तो दर्ज हुई लेकिन दबाव के कारण पुलिस ने 379 ,452, 365, सेक्शन के अंतर्गत क्राॅस एफआईआर दर्ज कर दी। उन्होंने बताया कि दरअसल सिमरन महंत ने सारी किन्नर बिरादरी के समक्ष अपनी चल /अचल संपत्ति जिसमें उनका एरिया और 3 मकान थे, 3 करोड़ रुपये में शबनम महंत व उनके चेले पूनम महंत को बेच दिया था व एक लड़के से शादी कर ऐरोसिटी मोहाली में रहने लगा था। लेकिन कुछ दिनों के बाद ही जिन चेलों से तंग आकर उन्होंने ये कदम उठाया था, अब फिर से उन्हीं के साथ मिलकर आतंक फैला रहे हैं।

इस कड़ी में उन्होंने 17 जून को राजपुरा में भी डेरे पर हमला किया ,जिसके सिलसिले में सिमरन महंत पर 452 व अन्य धाराओं के अंतर्गत मामला दर्ज हो चुका है लेकिन इतनी वारदातें होने के बावजूद भी राजनीतिक हस्तक्षेप के चलते सिमरन महंत को गिरफ्तार नहीं किया गया है ।

हैरानी की बात है कि लूट का सारा माल बरामद होने के बाद भी न तो पुलिस जरूरी कागजी कार्यवाही कर रही है और न ही इस मामले में रिकवरी मेमो बना रही है । किन्नरों ने आरोप लगाया कि पुलिस हमें सिर्फ 20 फीसदी माल रिकवरी दे रही है, बिना किसी रसीद के। किन्नर समाज के सदस्यों ने कहा कि वे इस मामले की पूरी तरह से जांच की मांग करते है और अगर उनकी मांगों को लेकर कोई हल न निकला तो वे माननीय सुप्रीम कोर्ट के सामने रोष धरना देने से पीछे नहीं हटेंगे।

खबरें और भी हैं…

पंजाब | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

पंजाब में कांग्रेसी सियासत: अमरिंदर के करीबी जिस कैप्टन संधू पर परगट सिंह ने लगाया था धमकाने का आरोप; उन्हीं के हक में की रैली

Hindi News Local Punjab Jalandhar Congress Politics In Punjab, Captain Sandhu Close To Amarinder, Whom …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *