Breaking News

किन्नौर में सभी को वैक्सीन की दोनों डोज लगी: देश में ऐसी उपलब्धि हासिल करने वाला किन्नौर पहला जिला, प्रदेश में नहीं मिला तेजी से फैलने वाला डेल्टा+ वैरिएंट

  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Kinnaur The First District To Achieve Such A Feat In The Country, The Rapidly Spreading Delta + Variant Not Found In The State

शिमला/रिकांगपिओ9 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

ज्वालामुखी में बुधवार को ऐसी भीड़ रही।

कोविड प्रतिरोधी टीका लगाने वाला किन्नौर जिला देश का ऐसा पहला जिला बन गया है जहां निर्धारित लक्ष्य के सभी व्यक्तियों को कोविड के दोनों टीके लगा दिए गए हैं। यह जानकारी बुधवार को किन्नौर के डीसी आबिद हुसैन सादिक ने दी। उन्होंने कहा कि जिला के कुल 60,305 व्यक्तियों को कोविड प्रतिरोधी टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया था जिसे बुधवार को पूरा कर लिया है। जिले के सभी व्यक्तियों को कोविड के दोनों टीके लगाए जा चुके हैं। वहीं प्रदेश में राहत की बात यह है कि डेल्टा प्लस वैरिएंट नहीं मिला है।

इसका खुलासा स्वास्थ्य विभाग की सैंपल की रिपाेर्ट में हुआ है। विभाग ने प्रदेश में काेराेना संक्रमण के नए वैरिएंट का पता लगाने के लिए कुछ दिन पहले सैंपल जांच के लिए दिल्ली भेजे थे। इसकी रिपाेर्ट विभाग काे मिल गई है। प्रदेश में तेजी से फैलने वाला डेल्टा प्लस वैरिएंट नहीं मिला है। रिपाेर्ट में 5 जिलाें में डेल्टा, दाे जिलाें में यूके और एक जिले में अन्य वैरिएंट पाया गया है।

हमीरपुर, कांगड़ा,चंबा में संक्रमण का अधिक प्रकाेप
रिपाेर्ट में हमीरपुर, साेलन, कांगड़ा आईएचबीटी, चंबा और नाहन में डेल्टा संक्रमण पाया गया है। इसमें हमीरपुर में सबसे ज्यादा 14, कांगड़ा में 13, चंबा में 11, साेलन और नाहन में डेल्टा संक्रमण के तीन- तीन नए मामले पाए गए है। इसी तरह कांगड़ा में यूके स्ट्रेन का एक और और चंबा में 3, साेलन में एक अन्य वैरिएंट पाया गया है। हमीरपुर में काेराेना के बढ़ रहे मामलाें का पता लगाने के लिए नए वैरिएंट का पता लगाने सैंपल भरे गए थे जिसमें अब साफ हाे गया है कि यहां पर डेल्टा वैरिएंट के चलते मामले बढ़ रहे हैं, इसलिए लाेगाें काे काेराेना काे लेकर एहतियात बरतना बेहद जरूरी है।

स्वास्थ्य विभाग ने राहत की सांस ली
स्वास्थ्य विभाग नए वैरिएंट जैसे डेल्टा प्लस काे लेकर काफी डरा हुआ था क्याेंकि प्रदेश में काेराेना संक्रमण के मामले कम हाेने का नाम नहीं ले रहे है। विभाग का डर था कि डेल्टा प्लस वैरिएंट की वजह से केस कम नहीं हाे रहे, लेकिन विभाग काे मिली इस रिपाेर्ट ने विभाग की इस चिंता को कम किया है। हिमाचल में ये अधिक जानलेवा वैरिएंट नहीं मिले हैं।

लोगों को करना होगा नियमों का पालन
प्रदेश में अभी भी काेराेना की दूसरी लहर का खतरा टला नहीं है। प्रदेश के कई जिलाें में अभी भी डेल्टा वैरिएंट का खतरा बना हुआ है। भले ही लाेगाें काे काेराेना की वैक्सीन लग गई हाे लेकिन अभी भी लाेगाें काे डेल्टा वैरिंएट के खतरे से बचने की बेहद आवश्यकता है। राहत की बात यह है कि दिल्ली से मिली रिपाेर्ट में नया काेई वैरिएंट नहीं मिला है।
हेमराज बेरवा, मिशन निदेशक एनएचएम

काेराेना के 139 नए मरीज, 68 मरीज हुए ठीक, एक की मौत
प्रदेश में 24 घंटाें के दाैरान काेराेना के 139 नए मरीज पाॅजिटिव आए है जबकि इस बीच 68 मरीजाें ने काेराेना से जंग जीती है। इस दाैरान ऊना में एक मरीज की काेराेना से माैत भी हुई है। इससे प्रदेश में काेराेना संक्रमण से मरने वालाें का कांगड़ा बढ़ कर 3695 के पास पहुंच गया है। बुधवार काे बिलासपुर में 6, चंबा में 1, हमीरपुर में 34, कांगड़ा में 42, कुल्लू और किन्नाैर में एक-एक, मंडी में 26, शिमला में 12, साेलन में 5 और ऊना में 11 मरीज पाॅजिटिव आए है। इससे प्रदेश में काेराेना संक्रमण का आंकड़ा बढ़कर दाे लाख 20 हजार 931 हो गया है।

खबरें और भी हैं…

हिमाचल | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

हिमाचल में सड़क हादसा: हिमाचल के करसोग में HRTC बस की ब्रेक फेल, चालक ने सूझबूझ दिखाई, लिंक रोड पर बस चढ़ाने से बची सवारियों की जिंदगियां

Hindi News Local Himachal Shimla HRTC Bus Brake Failed In Himachal’s Karsog, Driver Showed Understanding, …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *