Breaking News

कोरबा पुलिस की ‘नीली बत्ती’ का सुरूर: अफसर को रायपुर छोड़कर लौटते तो खुद बन जाते अफसर; ट्रैक्टर चालक से लूटे रुपए और मोबाइल तो जांजगीर में पकड़े गए

जांजगीर11 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

आरोपियों ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि जब्त की गई कोरबा पुलिस की ओर से अधिग्रहीत की गई थी।

छत्तीसगढ़ में पुलिस अफसर को उनके रायपुर दफ्तर छोड़ते-छोड़ते गाड़ी चलाने वाले खुद को अफसर समझने लगे। नीली बत्ती का सुरूर इस कदर चढ़ा कि लूट भी शुरू कर दी। जांजगीर में ट्रैक्टर चालक से 800 रुपए और मोबाइल लूट कर भाग रहे थे, तो पुलिस ने घेराबंदी कर पकड़ लिया। पुलिस ने ड्राइवर सहित 2 लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों से लूटी गई रकम और मोबाइल बरामद हो गया है। मामला बलौदा थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, बछौद निवासी रविकुमार मरकाम अपने साथी लक्ष्मीनारायण और तरुण मरकाम के साथ बिटकुला से रेत खाली कर रात को ट्रैक्टर से लौट रहा था। तभी बछौद के पास नीली बत्ती लगी स्कॉर्पियो उनके पास आई और ट्रैक्टर को रुकवा लिया। स्कार्पियो सवारों ने खुद को अफसर बताया और उनसे रुपयों की मांग करने लगे। इस पर ट्रैक्टर सवारों ने मना किया तो उनसे मोबाइल और 800 रुपए लूट कर भाग निकले।

पुलिस से शिकायत की तो घेराबंदी कर जंगल में पकड़ा
इसके बाद ट्रैक्टर चालक ने इसकी जानकारी मालिक को दी। उसने पुलिस को सूचना दे दी। उस समय TI टीम के साथ रात्रि गश्त पर निकले थे। उन्होंने नजदीकी थानों को सूचना देकर नाकाबंदी करा दी। इससे डर कर स्कार्पियो सवार आरोपी खिसोरा के जंगल में छिप गए। वहां से पुलिस ने स्कार्पियो सवार दोनों आरोपियों पथर्रीपारा निवासी आकाश यादव और बिलासपुर के सीपत में नवाडीह चौक निवासी मुकेश यादव को गिरफ्तार कर लिया।

कोरबा पुलिस ने अधिग्रहीत कर रखी थी गाड़ी
आरोपियों ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि जब्त की गई कोरबा पुलिस की ओर से अधिग्रहीत की गई थी। इससे वह एक पुलिस अफसर को रायपुर छोड़ने के लिए आते थे। अफसर का रौब देखकर खुद भी ऐसा करने लगे। हालांकि पुलिस ने यह नहीं बताया है कि किस अफसर के लिए इस गाड़ी का इस्तेमाल किया जाता था। घटना शनिवार रात की है। पुलिस ने दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है। साथ ही गाड़ी को लेकर जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं…

छत्तीसगढ़ | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

नेताओं की शिकायत- अफसर हमारी नहीं सुनते: पीएल पुनिया से कांग्रेस जिलाध्यक्षों ने कहा- कार्यकर्ता नाराज हैं, उनका काम नहीं हो पा रहा; विधायकों पर भी समन्वय नहीं बनाने का आरोप

Hindi News Local Chhattisgarh Raipur Congress State Executive Meeting; The Collector SP Does Not Listen …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *