Breaking News

कोविड गाइडलाइन की अवहेलना करने पर स्कूल को नोटिस: भगवद् गीता स्कूल की 3 टीचर, केजी से 5वीं के 9 बच्चों की बस में ही ले रही थीं क्लास

नारायणगढ़2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

बस के अंदर बच्चों को पढ़ाती अध्यापिकाएं।

  • पहले गाेगा माड़ी के शेड के नीचे पढ़ाया जा रहा था, सोमवार को पानी भरा तो बस में लगाई कक्षा

शहर का भगवद् गीता वरिष्ठ माध्यिक विद्यालय सरकार और प्रशासन के साथ आंख मिचौली खेलते हुए पकड़ा गया। सरकार की गाइडलाइन की अवहेलना करते हुए स्कूल प्रबंधन पिछले कई दिनों से केजी से 5वीं कक्षा तक के बच्चों को गांव शाहपुर की गाेगा माड़ी के शेड के नीचे पढ़ा रहा था। सोमवार को शेड के नीचे पानी भर गया तो स्कूल बस में ही 9 बच्चों को पढ़ाई करवाई गई। जानकारी मिलते ही शिक्षा विभाग के बीईओ ने स्कूल प्रबंधन को नोटिस जारी कर दिया है।

अभिभावक बच्चों को स्कूल से न हटा लें। इसलिए भगवद गीता स्कूल प्रबंधन कोरोना काल में भी छोटे बच्चों की पढ़ाई करवा रहा है। सोमवार को लगातार हो रही बारिश के कारण सिर्फ 9 अभिभावकों ने ही अपने बच्चों को स्कूल बस में भेजा था। जब 3 अध्यापिकाएं 9 बच्चों के साथ गोगा माड़ी पहुंची तो वहां शेड के नीचे पानी था। इसलिए बच्चों को बस में बिठाकर ही 3 घंटे तक पढ़ाया गया। मामले की सूचना मिलने पर जब मीडिया कर्मी शाहपुर पहुंचे तो बच्चों और अध्यापिकाओं ने मास्क नहीं लगाए हुए थे। बाद में उन्होंने मास्क लगाए। सरकार ने केवल नौंवीं से 12 वीं तक स्टूडेंट को ही स्कूल में बुलाने की इजाजत दी है। जबकि गीता स्कूल की बस हर रोज गांव शाहपुर, हमीदपुर, डेरा व काला अम्ब के बच्चों को इकट्ठा करती है। शाहपुर में सुबह 8 बजे से 11 बजे तक बच्चों को पढ़ाया जाता है। प्रशासन या सरकार को पता न लग जाए इसलिए स्कूल से 5 किलोमीटर दूर शाहपुर में पढ़ाया जा रहा है। इनमें केजी से पांचवीं तक के बच्चे शामिल हैं।

दो महीने से गांव आ रहे बच्चे

सरपंच गांव शाहपुर के सरपंच राम सिंह ने कहा कि पिछले 2-3 महीने से बच्चे गोगा माड़ी में पढ़ने आते हैं। बीच में एक दफा यह सिस्टम बंद भी हो गया था। अब दोबारा बच्चों को बस में लाया जाने लगा है।

गीता स्कूल प्रबंधन छोटे बच्चों की क्लास शाहपुर गांव में लगा रहा है। इस बात का मुझे आज ही पता चला है। स्कूल प्रबंधन को नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है।
-जसमेर सिंह, ब्लॉक शिक्षा अधिकारी।

खबरें और भी हैं…

हरियाणा | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

फर्जी सर्टिफिकेट पर सेवादार से असिस्टेंट बनने का मामला: 29 साल तक करता रहा नौकरी, हरियाणा बोर्ड से किसी ने नहीं कराई कागजों की जांच; बकाया भत्तों के लिए आवेदन किया तो फंसा

Hindi News Local Haryana Hisar Serviceman Became DC Assistant With Fake 10th Class Certificate In …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *