Breaking News

खदान में भरे पानी में डूबे दो सगे भाई: सेल्फी लेने के चक्कर में हुआ हादसा, चार घंटे की मशक्कत के बाद एक के शव को निकाला गया बाहर, दूसरे के शव को निकालने के लिए सर्च ऑपरेशन जारी

  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Accident Happened In The Process Of Taking Selfie, After Four Hours Of Effort, One’s Body Was Taken Out, Search Operation Continues To Remove The Body Of The Other

सीकर3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

राजस्थान के सीकर जिले में दांतारामगढ़ क्षेत्र के बुवाणा गांव में खदान में भरे पानी में डूबने से दो सगे भाइयों की मौत हो गई। नेपाल के डोटी जिले के रहने वाले नरेश बहादुर (19) और रमु (18) और चचेरा भाई बम बहादुर गांव की ही एक क्रेशर मशीन पर काम करते थे। शाम को काम से लौटते समय करीब 5:00 बजे बंद पड़ी खदान के पास पत्थर पर खड़े होकर सेल्फी ले रहे थे। इसी दौरान नरेश का पैर फिसल गया और वह पानी में डूबने लगा। नरेश को डूबता हुआ देख उसके भाई रमु ने भी पानी में छलांग लगाई और कुछ देर बाद वह भी डूबने लगा। दोनों को डूबता हुआ देखकर चचेरे भाई बम बहादुर ने उन्हें बचाने का काफी प्रयास किया लेकिन सफल नहीं हो पाया। बम बहादुर ने आस पास के लोगों को वहां बुलाया। फिलहाल सिविल डिफेंस की टीम ने नरेश के शव को बाहर निकाल लिया है। रमु के शव को बाहर निकालने के लिए प्रयास जारी हैं।

जानकारी देते हुए दांतारामगढ़ थानाधिकारी हिम्मत सिंह ने बताया कि नेपाल के रहने वाले तीन युवक नरेश बहादुर ,रमु और बम बहादुर जो रिश्ते में एक दूसरे के भाई लगते हैं। बुवाणा गांव में ही एक क्रेशर मशीन पर कार्य करते हैं। आज काम से वापस आते समय तीनों भी करीब 5 बजे गांव में ही बंद पड़ी एक खदान के पास सेल्फी लेने के चक्कर में एक पत्थर पर खड़े हुए। इसी दौरान नरेश बहादुर (19) का पैर फिसल गया और वह खदान में भरे पानी में डूबने लगा। नरेश को डूबता हुआ देख उसके भाई रमु (18) ने भी पानी में छलांग लगा दी और कुछ देर बाद वह भी डूबने लगा। चचेरे भाई बम बहादुर ने उन्हें बचाने के लिए काफी प्रयास किए। लेकिन उन्हें डूबने से नही बचा पाया। बम इसकी सूचना आसपास के ग्रामीणों को दी। जिसके बाद गांव वालों ने थाने पर इस बात की सूचना दी। जिसके पश्चात पुलिस टीम मौके पर पहुंची। और दोनो युवकों को स्थानीय गोताखोरों की सहायता से बाहर निकालने के लिए प्रयास शुरू किए । करीब दो घंटे बीत जाने के बाद भी दोनों युवक पानी में नही दिखे तो सीकर से सिविल डिफेंस टीम को बुलाया गया। करीब 8:00 बजे से सिविल डिफेंस और स्थानीय गोताखोरों ने डूबे हुए युवकों को बाहर निकालने के प्रयास शुरू किए गए। 9:30 बजे नरेश के शव को पानी से बाहर निकाला गया। रमु के शव को पानी से बाहर निकालने के लिए प्रयास जारी है।

खदान में भरे पानी में पहले भी हो चुके हैं कई हादसे

जिले में यह पहला कोई घटनाक्रम नहीं है जब खदान में भरे पानी में डूबने से किसी की मौत हुई हो। इससे पहले भी जिले के नीमकाथाना, पाटन और दांतारामगढ़ क्षेत्र में बंद पड़ी खदानों में भरे पानी में डूबने से कई मौतें हो चुकी है। फिर भी प्रशासन इन बंद पड़ी खदानों पर आवाजाही प्रतिबंधित नहीं कर रहा है।

खबरें और भी हैं…

राजस्थान | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

यात्रीगण कृपया ध्यान दे: 9 नवंबर तक रेलवे का नॉन इंटरलॉकिग वर्क, आज से जोधपुर-जयपुर के बीच 10 ट्रेन रद्द, 4 आंशिक रद्द और 12 का रूट बदला

Hindi News Local Rajasthan Nagaur Railway’s Non interlocking Work Till November 9, From Today On …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *