Breaking News

चुनावी गाइडलाइन जारी: मेयर प्रत्याशी 25 लाख व पार्षद उम्मीदवार 5 लाख तक खर्च कर सकेंगे, डिप्टी मेयर का बाद में तय होगा

  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • Mayor Candidates Will Be Able To Spend Up To 25 Lakhs And Councilor Candidates Will Be Able To Spend Up To 5 Lakhs, The Deputy Mayor Will Be Decided Later.

धनबादएक दिन पहले

  • कॉपी लिंक

फाइल फोटो

  • राज्य निर्वाचन आयोग की गाइडलाइन में अधिकतम खर्च की सीमा निर्धारित

नगर निगम चुनाव काे लेकर तैयारियां गति पकड़ी रही हैं। चुनाव में किस पद के उम्मीदवार कितना पैसा खर्च सकते हैं, इसकी पूर्व से गाइडलाइन जारी है। सूत्राें की माने ताे निर्वाचन आयाेग द्वारा खर्च की सीमा में अभी तक काेई बढ़ाेतरी नहीं की गई है। 2015 के चुनाव में जितनी राशि का निर्धारण किया गया था, उसमें काेई बदलाव नहीं किया गया है।

इस साल हाेने वाले चुनाव में उम्मीदवाराें के लिए खर्च की राशि बढ़ेगी या नहीं, इसका निर्धारण राज्य निर्वाचन आयाेग द्वारा किया जाना है। डिप्टी मेयर पद के उम्मीदवार अधिकतम कितनी राशि खर्च कर सकते हैं, इसका निर्धारण इस बार किया जा सकता है। 2015 में डिप्टी मेयर का चुनाव नहीं हुआ था, बल्कि निर्वाचित पार्षदाें ने डिप्टी मेयर का चयन किया गया था, लेकिन इस बार डिप्टी मेयर का चयन भी मतदाता ही करेंगे।

30 साल या उससे अधिक की आयु वाले ही लड़ सकेंगे मेयर पद के लिए चुनाव

पार्षद का चुनाव लड़ने के लिए 21 साल उम्र जरूरी

मेयर पद के उम्मीदवार अधिकतम 25 लाख रुपए खर्च कर सकते हैं। यह राशि उन निकायाें के लिए निर्धारित है, जहां की अाबादी 10 लाख या उससे अधिक है। वहीं पार्षद उम्मीदवाराें के लिए अधिकतम 5 लाख रुपए तक खर्च कर सकते हैं। मेयर पद के उम्मीदवाराें की उम्रसीमा कम से कम 30 वर्ष और पार्षद के लिए 21 वर्ष हाेना अनिवार्य है।

मेयर 5000 और पार्षद के लिए 1000 नामांकन शुल्क

मेयर व पार्षद पद के उम्मीदवाराें के लिए नामांकन शुल्क भी निर्धारित है। सामान्य काेटि के मेयर उम्मीदवाराें के लिए 5 हजार और एसटी, एससी, ओबीसी और महिलाओं के लिए 2500 रुपए निर्धारित है। इसी तरह पार्षद पद की सामान्य काेटि के दावेदाराें के लिए 1000 और एसटी, एससी, ओबीसी और महिलाओं काे 500 रुपए नामांकन शुल्क के रूप में जमा करना हाेगा।

प्रत्याशियों को खोलना होगा नया बैंक खाता

लाेकसभा और विधानसभा चुनाव की तरह नगर निगम चुनाव में भी उम्मीदवाराें काे चुनाव प्रक्रिया खत्म होने के 30 दिन के अंदर नया बैंक एकाउंट खाेलना अनिवार्य है। चुनाव के दाैरान खर्च की गई राशि का हिसाब सभी उम्मीदवार काे निर्वाची पदाधिकारी काे देना होगा। खर्च का हिसाब नहीं देने वाले उम्मीदवाराें काे आयाेग द्वारा तीन साल के लिए अयाेग्य घाेषित किया जा सकता है।

खबरें और भी हैं…

झारखंड | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

बोकारो में सड़क हादसा: अनियंत्रित बोलेरो की टक्कर से बाइक सवार बच्ची की मौत, मां और मामा के साथ जा रही थी घर

​​​​​​​बरमसिया (बोकारो)4 घंटे पहले कॉपी लिंक मृत बच्ची की पहचान तीन साल की अनुष्का कुमारी के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *