Breaking News

जम्मू-कश्मीर: भाजपा ने कहा- सर्वदलीय बैठक में उठाएंगे प्रदेश की समस्याएं

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू
Published by: प्रशांत कुमार
Updated Tue, 22 Jun 2021 02:27 PM IST

सार

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र रैना ने कहा कि 24 जून को दिल्ली में होने वाली सर्वदलीय बैठक में वह प्रदेश की समस्याओं को उठाएंगे।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र रैना
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

जम्मू-कश्मीर की सियासत में इन दिनों बैठकों का दौर चल रहा है। एक ओर गुपकार गठबंधन के दल सर्वदलीय बैठक में शामिल होने से पहले मंथन कर रहे हैं, वहीं भाजपा भी बैठक को लेकर पार्टी नेताओं से मंत्रणा कर रही है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र रैना ने मंगलवार को बैठक की। जिसमें कहा कि वह जम्मू-कश्मीर के प्रत्येक क्षेत्र की समस्याओं को सर्वदलीय बैठक में उठाएंगे।

रवींद्र रैना ने सर्वदलीय बैठक बुलाने के निर्णय का स्वागत किया। रैना के अनुसार उनके समेत पूर्व उपमुख्यमंत्री डॉ. निर्मल सिंह और पूर्व उपमुख्यमंत्री कवींद्र गुप्ता को सर्वदलीय बैठक का न्यौता मिला है। वह सभी प्रधानमंत्री की बैठक में हिस्सा लेंगे और 23 जून को नई दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे।

वहीं दूूसरी तरफ, दिल्ली में सर्वदलीय बैठक से पहले मंगलवार को गुपकार गठबंधन के नेताओं की बैठक हुई। इसमें सर्वदलीय बैठक को लेकर रणनीति तैयार की गई। पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने अपने आवास पर पीपुल्स अलायंस फॉर गुपकार डिक्लेरेशन (पीएजीडी) की बैठक की अध्यक्षता की। इसके बाद वह पत्रकारों से रूबरू हुए।

फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि सर्वदलीय बैठक में नेशनल कांफ्रेंस, पीडीपी समेत वह सभी दल शामिल होंगे, जिन्हें न्योता मिला है। हमें कोई एजेंडा नहीं दिया गया है, इसलिए प्रधानमंत्री और गृहमंत्री के सामने हम अपना पक्ष रखेंगे। 

पीडीपी मुखिया महबूबा मुफ्ती ने कहा कि हमसे जो छीन लिया गया है, हम उसके बारे में बात करेंगे। महबूबा का इशारा अनुच्छेद-370 की तरफ था। इसके साथ वहीद पारा का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा कि राजनीतिक बंदियों को रिहा किया जाना चाहिए। वह कैदियों की रिहाई पर जोर देंगी। 

बैठक में पहुंचे पीएजीडी सदस्य मुजफ्फर शाह ने कहा कि हम पीएम की ओर से बुलाई गई बैठक और उसके एजेंडे पर फैसला करेंगे। हम अनुच्छेद-370 और 35-ए के बारे में भी बात करेंगे। बता दें कि अब्दुल्ला पीएम मोदी की बैठक के लिए आमंत्रित 14 नेताओं में शामिल हैं। वह पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ केंद्र के साथ इस तरह की पहली बातचीत पर विचार-विमर्श कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें- महबूबा ने अलापा फिर वही राग: बोलीं- जम्मू-कश्मीर के मसले पर पाकिस्तान से हो बात    

यह भी पढ़ें- ऑपरेशन गुंड ब्राठ: आतंकी कमांडर मुदासिर पंडित और असरार के खात्मे की कहानी, एक्सक्लूसिव तस्वीरें

विस्तार

जम्मू-कश्मीर की सियासत में इन दिनों बैठकों का दौर चल रहा है। एक ओर गुपकार गठबंधन के दल सर्वदलीय बैठक में शामिल होने से पहले मंथन कर रहे हैं, वहीं भाजपा भी बैठक को लेकर पार्टी नेताओं से मंत्रणा कर रही है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र रैना ने मंगलवार को बैठक की। जिसमें कहा कि वह जम्मू-कश्मीर के प्रत्येक क्षेत्र की समस्याओं को सर्वदलीय बैठक में उठाएंगे।

रवींद्र रैना ने सर्वदलीय बैठक बुलाने के निर्णय का स्वागत किया। रैना के अनुसार उनके समेत पूर्व उपमुख्यमंत्री डॉ. निर्मल सिंह और पूर्व उपमुख्यमंत्री कवींद्र गुप्ता को सर्वदलीय बैठक का न्यौता मिला है। वह सभी प्रधानमंत्री की बैठक में हिस्सा लेंगे और 23 जून को नई दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे।

वहीं दूूसरी तरफ, दिल्ली में सर्वदलीय बैठक से पहले मंगलवार को गुपकार गठबंधन के नेताओं की बैठक हुई। इसमें सर्वदलीय बैठक को लेकर रणनीति तैयार की गई। पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने अपने आवास पर पीपुल्स अलायंस फॉर गुपकार डिक्लेरेशन (पीएजीडी) की बैठक की अध्यक्षता की। इसके बाद वह पत्रकारों से रूबरू हुए।

फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि सर्वदलीय बैठक में नेशनल कांफ्रेंस, पीडीपी समेत वह सभी दल शामिल होंगे, जिन्हें न्योता मिला है। हमें कोई एजेंडा नहीं दिया गया है, इसलिए प्रधानमंत्री और गृहमंत्री के सामने हम अपना पक्ष रखेंगे। 

पीडीपी मुखिया महबूबा मुफ्ती ने कहा कि हमसे जो छीन लिया गया है, हम उसके बारे में बात करेंगे। महबूबा का इशारा अनुच्छेद-370 की तरफ था। इसके साथ वहीद पारा का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा कि राजनीतिक बंदियों को रिहा किया जाना चाहिए। वह कैदियों की रिहाई पर जोर देंगी। 

बैठक में पहुंचे पीएजीडी सदस्य मुजफ्फर शाह ने कहा कि हम पीएम की ओर से बुलाई गई बैठक और उसके एजेंडे पर फैसला करेंगे। हम अनुच्छेद-370 और 35-ए के बारे में भी बात करेंगे। बता दें कि अब्दुल्ला पीएम मोदी की बैठक के लिए आमंत्रित 14 नेताओं में शामिल हैं। वह पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ केंद्र के साथ इस तरह की पहली बातचीत पर विचार-विमर्श कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें- महबूबा ने अलापा फिर वही राग: बोलीं- जम्मू-कश्मीर के मसले पर पाकिस्तान से हो बात    

यह भी पढ़ें- ऑपरेशन गुंड ब्राठ: आतंकी कमांडर मुदासिर पंडित और असरार के खात्मे की कहानी, एक्सक्लूसिव तस्वीरें

Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | – Amar Ujala

About R. News World

Check Also

जम्मू-कश्मीर: लघु खनिज के परिवहन का शुल्क तय, मैदानी क्षेत्र के लिए 4.50 और पहाड़ी क्षेत्र के लिए पांच रुपये

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू Published by: करिश्मा चिब Updated Fri, 22 Oct 2021 11:35 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *