Breaking News

जालंधर में नया खतरा: तीन दिन में ग्रीन फंगस का दूसरा मरीज मिला, मई में कोरोना से ठीक होने के बाद फेफड़ों में हुआ इन्फेक्शन

जालंधर3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

ग्रीन फंगस का पहला केस MP के इंदौर में मिला था। – प्रतीकात्मक फोटो

कोरोना की दूसरी लहर से उबरे जालंधर में ग्रीन फंगस का नया खतरा मंडराने लगा है। शहर में ग्रीन फंगस का दूसरा मरीज मिला है। 43 साल के मरीज काे कोरोना हुआ था। मई में वो कोरोना से ठीक हो गया था। इसके कुछ दिन बाद उसके फेफड़ों में संक्रमण होने लगा। इससे सांस लेने में तकलीफ होने लगी। जब वो चेकअप कराने के लिए मकसूदां के निजी अस्पताल पहुंचे तो डॉक्टर को फंगस का शक हुआ। उन्होंने इसकी जांच कराई तो यह ग्रीन फंगस निकला।

ग्रीन फंगस का पहला केस भी कपूरथला के 61 साल के व्यक्ति में इसी अस्पताल में मिला था। इस मरीज को मार्च महीने में कोरोना हुआ था। उसके बाद सांस लेने में तकलीफ के बाद अस्पताल लाया गया था। अस्पताल के डॉक्टर आशुतोष ने इसकी पुष्टि की है। ग्रीन फंगस की पुष्टि होने के बाद मरीज का सघन निगरानी में इलाज किया जा रहा है।

इंदौर में मिला था पहला मामला
ग्रीन फंगस का पहला केस मध्यप्रदेश के इंदौर में मिला था। जहां 34 साल के मरीज को ग्रीन फंगस हुआ था। जिसके बाद उसे मुंबई रेफर कर दिया गया था।

खबरें और भी हैं…

चंडीगढ़ | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

मोहाली में फायरिंग कर कार लूटकर आरोपी फरार: घायल युवक खून से लथपथ हाथ लिए आरोपी का किया पीछा, आरोपी मौके से फरार

Hindi News Local Chandigarh The Injured Youth Followed The Accused With His Hands Covered In …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *