Breaking News

दि इकॉनॉमिस्ट से विशेष अनुबंध के तहत: अमेरिका की 360 से ज्यादा बड़ी शिक्षण संस्थाओं में दाखिले के लिए कोराेना टीकाकरण अनिवार्य

  • Hindi News
  • International
  • Korena Vaccination Mandatory For Admission In More Than 360 Major Educational Institutions Of America

17 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

अमेरिका में 360 से ज्यादा शिक्षण संस्थाओं में प्रवेश के लिए वैक्सीन अनिवार्य है।

सीबीएसई और कई राज्यों ने 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं रद्द कर दी है। नतीजे आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर घोषित होंगे। लेकिन वे छात्र दुविधा में हैं, जिन्हें विदशी यूनिवर्सिटी में दाखिला लेना है। ऐसे में जानिए, कि उन्हें क्या तैयारियां करनी चाहिए।

क्या विदेश यात्रा से पहले कोरोना टीकाकरण कराना होगा?

हां, अगर आप 18 साल से अधिक उम्र के हैं तो प्राथमिकता से टीका लगवाना होगा। अमेरिका में 360 से ज्यादा शिक्षण संस्थाओं में प्रवेश के लिए वैक्सीन अनिवार्य है। हालांकि कनाडा, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया की बड़ी शिक्षा संस्थाओं ने इसे लागू नहीं किया है। लेकिन संभव है कि वे डब्ल्यूएचओ से प्रमाणित वैक्सीन और प्रमाणपत्र के बिना प्रवेश नहीं देंगे। भारत में दो खुराक के बीच अंतराल तय है। महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक और तेलंगाना जैसे राज्यों ने पढ़ाई के लिए विदेश जा रहे छात्रों को इसमें कुछ छूट दी है। केंद्र सरकार इस पर विचार कर रही है।

क्या विदेश जाने से पहले टेस्ट कराने होंगे?

विदेश यात्रा से पहले एचपीवी से लेकर टीबी तक के टेस्ट कराने होंगे। वीसा मंजूरी के पहले यह कराना होगा। कई देश इसकी मांग करते हैं। मान्यता प्राप्त स्वास्थ्य केंद्रों से ये टेस्ट जल्द करा लें।

वीसा को लेकर क्या-क्या करना होगा?

किसी भी देश में जाने के लिए कुछ शर्तें हैं। जैसे- अमेरिका के लिए एफ-1 वीसा के आवेदन की तारीख सुरक्षित करनी होगी। इस दौरान आई-20 फॉर्म प्रक्रियारत होंगे। इस वीसा के लिए दूतावास को फॉर्म की प्रतियों के साथ ई-मेल करना होगा। एफ-1 वीसा छात्रों को पाठ्यक्रम शुरू होने के 30 दिन से पहले आने की अनुमति नहीं देता। इसलिए शिक्षा संस्था से पर्याप्त जानकारी लें। दूतावासों से भी संपर्क में रहें।

नतीजों में देरी हो रही है और विदेश पढ़ने जाना है, क्या करें?

नतीजों में देरी के बारे में उस संस्था को लिखे, जहां दाखिला लेना चाहते हैं। वे आपको कुछ उपाय बता सकते हैं, बशर्ते आप विश्वास दिला सकें कि आपको वहां दाखिला लेना ही है। सकारात्मक जवाब न मिलने पर अपने स्कूल प्रशासन से अनुरोध करें कि विदेशी संस्था से बात करे। इसके लिए स्कूल उन्हें चिट्‌ठी या ई-मेल भेज सकता है।

इस बार भी विदेशी संस्थानों में महामारी का ज्यादा डर है?

साल 2020 की तुलना में इस बार विदेशी यूनिवर्सिटीज में वातावरण सुरक्षित है। अमेरिका, कनाडा और ब्रिटेन जैसे देशों ने विदेशी छात्रों की सुरक्षा के लिए पर्याप्त तैयारी की है।

खबरें और भी हैं…

विदेश | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

कोरोना दुनिया में: पिछले 24 घंटे में 4.11 लाख केस, 11,422 मौतें; वैक्सीन के कच्चे माल पर भारत के साथ फ्रांस, मैक्रों बोले- एक्सपोर्ट बैन हटाया जाना चाहिए

Hindi News International Coronavirus Outbreak Vaccine Latest Update; USA Brazil Russia UK France Cases And …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *