Breaking News

दुष्कर्म के बढ़ते अपराधों पर कोर्ट ने जताई चिंता: नाबालिग से शादी करने का झांसा देकर दुष्कर्म करना स्वीकार्य नहीं कोर्ट, आरोपित को सुनाई 20 साल की सजा

बिलासपुर40 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

फाइल फोटाे

बिलासपुर जिला न्यायालय के FTSC कोर्ट ने नाबालिग को प्रेमजाल में फंसा कर उसे भगाकर ले जाने व दुष्कर्म करने के आरोपी को 20 साल की सजा सुनाई है।

इस फैसले में कोर्ट ने टिप्पणी करते हुए कहा है कि किसी युवक के अपराधी होने के संबंध में कोई केस न हो, तो भी गंभीर प्रकृति के अपराध में उसके प्रति नरम दृष्टिकोण नहीं रखा जा सकता। यौन हिंसा अमानवीय कार्य के साथ ही किसी नारी जाति की पवित्रता के अधिकार का उल्लंघन है। ऐसी घटना उनके सर्वोच्च सम्मान पर गंभीर प्रहार है। नाबालिग के साथ इस तरह की घटना हो तो अपराध की गंभीरता और बढ़ जाती है।

बिल्हा क्षेत्र के आमापारा निवासी महेश बघेल पिता बरनदास (20 साल) ने अपने परिचत की किशोरी से दोस्ती की। फिर उसे प्रेमजाल में फंसा लिया। इस दौरान युवक ने उसके साथ शादी करने का वादा किया।किशोरी भी उसकी बातों में आ गई। बाद में 29 नवंबर 2019 को बहलाकर अपने साथ भगाकर ले गया था। किशोर के गायब होने पर परिजन ने पतासाजी की। लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला। तब उन्होंने 30 नवंबर को थाने में सूचना दी। उनकी रिपोर्ट पर पुलिस ने अपहरण की आशंका से अपराध दर्ज कर जांच शुरू की। तब युवक के द्वारा किशोरी को प्रेमजाल में फंसाने की बात सामने आई। इस बीच पुलिस ने किशोरी को आरोपित के साथ पकड़ लिया। उसके बयान दर्ज करने के बाद युवक के द्वारा उसके साथ शारीरिक संबंध बनाने की बात सामने आई। तब पुलिस ने युवक के खिलाफ धारा 363 के साथ ही 366, 376 व पाक्सो एक्ट जोड़ कर उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। पुलिस ने अदालत में चालान प्रस्तुत किया। इसके बाद ट्रायल में युवक को दोषी पाया गया। इस पर अपर सत्र न्यायाधीश FTSC विवेक कुमार तिवारी ने आरोपी युवक को 20 साल कारावास की सजा सुनाई है।

खबरें और भी हैं…

छत्तीसगढ़ | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

गूगल से टोल फ्री नंबर निकालना पड़ा महंगा: फोन लगाया तो उसने मांगा अकाउंट नंबर और OTP, बताते ही पार हो गए लाखों रुपए

रायगढ़एक घंटा पहले कॉपी लिंक तमनार थाना पुलिस ने धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *