Breaking News

देश में कैसी होगी कोरोना की तीसरी लहर: US में दूसरा पीक 3.5 लाख केस तक गया था, तीसरी लहर में यह 85 हजार हो गया; यही ट्रेंड भारत में भी रहा तो यहां सवा लाख तक केस आएंगे

  • Hindi News
  • National
  • Coronavirus 3rd Wave India Vs US Second Peak Case; AIIMS Chief Randeep Guleria On COVID Trends

नई दिल्ली23 मिनट पहले

भारत में कोरोना की तीसरी लहर अगले 6 से 8 हफ्तों में दस्तक दे सकती है। एम्स दिल्ली के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने यह चेतावनी दी है। अगर हम अमेरिका के आंकड़ों से तुलना करें तो भारत में तीसरी लहर में एक से सवा लाख केस आ सकते हैं। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि दोनों देशों में इस महामारी का ट्रेंड लगभग एक जैसा रहा है। वेव के बीच का अंतराल भी लगभग बराबर है।

अमेरिका में दूसरी लहर का पीक 8 जनवरी को आया था। इसमें एक दिन में 3.5 लाख केस आए थे। तीसरी लहर में इनमें करीब 70% की गिरावट आई और यह 9 अप्रैल को महज 85 हजार के पीक तक पहुंचा।

यही ट्रेंड भारत में रहा तो अगस्त में यहां तीसरी लहर का पीक होगा और इस दौरान अधिकतम एक से सवा लाख के बीच केस आएंगे। भारत में दूसरी लहर के पीक में 6 मई को सबसे ज्यादा 4.14 लाख केस आए थे। कुल केस के मामले में अभी अमेरिका पहले नंबर पर और भारत दूसरे नंबर पर है।

दूसरी के मुकाबले तीसरी लहर जल्दी आई
अमेरिका में पहली लहर का पीक जुलाई 2020 में आया। छह महीने बाद जनवरी 2021 में दूसरा पीक और इसके 3 महीने बाद अप्रैल में तीसरा पीक आया। ठीक ऐसा ही भारत में भी हुआ। यहां पहली लहर का पीक सितंबर 2020 में आया। सात महीने बाद मई 2020 में दूसरा पीक आया। अब तीसरे पीक का अनुमान भी इससे 2 से 3 महीने बाद यानी अगस्त के बीच लगाया जा रहा है।

ब्रिटेन: लॉकडाउन 19 जुलाई तक बढ़ा
ब्रिटेन में दूसरी लहर का पीक जनवरी में आया था। इस दौरान 70 हजार के करीब केस रोजाना आ रहे थे। इसके बाद मामले तेजी से घटने लगे। मई में 2 हजार से भी कम केस आने लगे थे, लेकिन 5 जून से केस फिर बढ़ने लगे। ब्रिटेन में दूसरी लहर आ चुकी है। रोजाना 10 हजार से ज्यादा केस सामने आ रहे हैं। मामले बढ़ने के बाद प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने लॉकडाउन हटाने का फैसला वापस लेते हुए सख्ती 19 जुलाई तक बढ़ा दी है। यहां अब तक 46 लाख 30 हजार केस आ चुके हैं। 1 लाख 27 हजार लोगों की मौत हुई है। 43 लाख 1 हजार के करीब मरीज रिकवरी हुए हैं।

फ्रांस: 30 जून से बड़े आयोजन कर सकेंगे लोग
फ्रांस में कोरोना केस अब कंट्रोल में आने लगे हैं। यहां मार्च से लगे कोरोना कर्फ्यू में जल्द रियायतें दी जाएंगी। 30 जून से बड़े कार्यक्रम करने की अनुमति मिल जाएगी। 9 जुलाई से लोग नाइट क्लब में पार्टी कर सकेंगे। फ्रांस में कोरोना के करीब 57 लाख 57 हजार केस आ चुके हैं। 1 लाख 10 हजार लोगों की मौत हुई है। 51 लाख 62 हजार लोगों की रिकवरी के बाद 4 लाख 83 हजार एक्टिव केस हैं।

तुर्की: 2 महीने में 60 हजार से 5 हजार पर आ गए केस
तुर्की में कोरोना की दूसरी लहर का पीक अप्रैल में आया था, तब एक दिन में 63 हजार के करीब केस आए थे। अब दो महीने बाद जून में रोजाना 5 हजार के करीब केस आ रहे हैं। यहा अब तक करीब 53 लाख 70 हजार केस आ चुके हैं। 50 हजार लोगों की मौत हुई है। 52 लाख 32 हजार लोगों की रिकवरी के बाद 88,476 एक्टिव केस बचे हैं।

रूस: जून से फिर बढ़ने लगे कोरोना के मामले
रूस में कोरोना के करीब 53 लाख 16 हजार केस आ चुके हैं। 1 लाख 29 हजार लोगों की मौत हुई है। 48 लाख 69 हजार लोग रिकवर हो चुके हैं। यहां 10 अप्रैल 2020 को 1,786 केस आए थे। जून में मामले रोजाना करीब 9 हजार पहुंच गए, नवंबर में ये बढ़कर 25 हजार के पास पहुच गए थे। अप्रैल 2021 में केस कम होने के बाद जून से यहां फिर केस बढ़ने लगे हैं।

खबरें और भी हैं…

कोरोना – वैक्सीनेशन | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

भास्कर एक्सप्लेनर: भारत में हावी है कोरोना वायरस की डेल्टा वेव; स्टडी में दावा- वैक्सीन जान बचा सकती है, पर इन्फेक्शन से नहीं

18 मिनट पहलेलेखक: रवींद्र भजनी इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च यानी ICMR की नई स्टडी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *