Breaking News

दो गज की दूरी को भूले पेशेंट: कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम होते ही नागरिक अस्पताल में बढ़ी लापरवाही, सोशल डिस्टेंसिंग को भूल रहे मरीज

  • Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • Gurgaon
  • Negligence Increased In Civil Hospital As Soon As The Speed Of Corona Infection Decreased, Patients Forgetting Social Distancing

गुरुग्रामएक मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अब संक्रमण का फैलाव कम हो गया तो लोगों ने नियमों का पालन करना भी छोड़ दिया।

  • पिछले सवा 12 महीने में गुड़गांव में सबसे कम 12 संक्रमित मिले, एक पेशेंट ने दम तोड़ा
  • अब तक जिला में हो चुकी हैं 874 लोगों की मौत, कुल संक्रमित का आंकड़ा भी 180527 हुआ

कोरोना संक्रमण ने गुड़गांव में वैसे तो करीब दो हजार लोगों को अपना शिकार बनाया है, लेकिन सरकारी रिकॉर्ड में भी 874 लोगों की मौत दर्ज की गई हैं। इसके बावजूद भी लोग कोरोना महामारी से नहीं डर रहे हैं। अब संक्रमण का फैलाव कम हो गया तो नागरिक अस्पताल में मरीजों की लापरवाही देखी जाने लगी है। मंगलवार को जिला नागरिक अस्पताल का दैनिक भास्कर की टीम ने जायजा लिया। सुबह 11 बजे से 12 बजे तक मेडिसिन ओपीडी व हड्‌डी रोग ओपीडी के बाहर लोग बिना सोशल डिस्टेंसिंग के ही बैठे व खड़े नजर आए। हालांकि मास्क तो लगभग सभी मरीजों द्वारा लगाया गया था।

नागरिक अस्पताल की सभी ओपीडी करीब दो महीने पूरी तरह बंद रही। लेकिन जून के पहले सप्ताह में सभी ओपीडी खोल दी गई हैं। ऐसे में हड्‌डी रोग व कोरोना के अलावा दूसरी बीमारियों के रोगियों की संख्या अब नागरिक अस्पताल में बढ गई है। ओपीडी कार्ड बनवाने के लिए मरीजों को भारी मशक्कत करनी पड़ रही है। सुबह 11 बजे से ओपीडी कार्ड के काउंटरों पर भी करीब 120 से अधिक पेशेंट खड़े नजर आए। जहां मरीजों को सटकर ही खड़े देखे गया।

सुबह 11.10 बजे हड्‌डी रोग ओपीडी के बाहर करीब 25 से 30 पेशेंट खड़े व बैठे दिखाई दिए। जो बिल्कुल आपस में सटकर बैठे रहे। भीषण गर्मी के दौरान कई मरीज अपने ओपीडी कार्ड से ही हवा करते अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। मरीजों ने बताया कि वे पिछले एक से डेढ़ से अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। इस उमस भरी गर्मी में ओपीडी के बाहर पंखे तक की व्यवस्था नहीं है। दूसरे सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए अस्पताल की ओपीडी में जगह नहीं है।

इसी तरह 11.25 बजे मेडिसिन ओपीडी के बाहर भी काफी भीड़ दिखाई दी। जब मरीजों से बात की गई तो उन्होंने कहा कि डाक्टर एक है और मरीजों की संख्या सुबह से 100 से अधिक है। ऐसे में दूर-दूर बैठने की कोई व्यवस्था नहीं है। इसके अलावा बाहर जाकर बैठे तो बारी आने पर पता नहीं चलेगा। जिससे मजबूरन यहीं पर खड़ा होना पड़ रहा है।

गुड़गांव में सवा 12 महीने में सबसे कम 12 केस मिले, एक ने दम तोड़ा

जिले में कोरोना संक्रमण से राहत मिलती दिखाई दे रही है। मंगलवार को पिछले सवा 12 महीने बाद सबसे कम संक्रमित मिले हैं। जिला में कुल 12 नए पॉजिटिव केस मिले, इसके साथ ही जिला में कुल संक्रमित का आंकड़ा 180527 तक पहुंच गया। वहीं एक पेशेंट की मौत के साथ ही जिला में अब तक 574 की मौत हो चुकी है। इसके अलावा मंगलवार को कुल पेशेंट रिकवर होकर घर लौट गए। जिससे जिला में रिकवरी रेट बढ़कर 99.33 हो गया है। जिससे एक्टिव केस भी कम होकर 332 रह गए हैं, जिनमें से मात्र 20 पेशेंट ही अस्पतालों में एडमिट हैं।

खबरें और भी हैं…

दिल्ली + एनसीआर | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

अधिकारी के बेतुके बोल: परेशान लोगों ने निगम अधिकारी से पानी मांगा तो एक्स्ईएन बोले, फरीदाबाद में किसी की हिम्मत नहीं जो डिमांड पर पानी उपलब्ध करा दे

फरीदाबाद4 घंटे पहले कॉपी लिंक पानी संकट को लेकर सैनिक कॉलाेनी के लोग अफसरों के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *