Breaking News

निशाना लक्ष्य पर: सेक्टर 13 के तीरंदाज जुड़वां भाई-बहन, दोनों ने मेडल भी बराबर जीते; दिव्या और दिग्विजय नेशनल लेवल पर 30-30 तो इंटरनेशनल लेवल पर 6-6 मेडल जीत चुके

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Twin Siblings, Archers From Sector 13, Also Won Medals Equally; Divya And Digvijay Have Won 30 30 Medals At The National Level And 6 6 At The International Level.

हिसारएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

सेना में कमांडेंट विक्रम सिंह अपनी बेटी तीरंदाज दिव्या व खुशबू, बेटे दिग्विजय के साथ। छाेटी बेटी दिव्या अब पाेलैंड में होने वाली यूथ वर्ल्ड एशियन चैंपियनशिप में चयनित हुई है। अभी साेनीपत के साई सेंटर में कैंप में निशाने साध रही है।

  • कमांडेंट पिता ने घर के बाहर टारगेट लगा दो बेटियों और बेटे काे तीरंदाजी का कराया अभ्यास
  • छाेटी बेटी यूथ वर्ल्ड चैंपियनशिप में चयनित

सेक्टर 13 वासी सेना में कमांडेंट विक्रम सिंह धायल खुद इंटरनेशनल तीरंदाज नहीं बन सके ताे उन्हाेंने दाे बेटियाें और बेटे काे अंतरराष्ट्रीय तीरंदाज बनाने की ठानी। घर के बाहर टारगेट लगाकर तीनाें काे ट्रेनिंग दी। दाे बेटी दिव्या धायल, खुशबू और बेटे दिग्विजय धायल ने नेशनल से इंटरनेशनल लेवल पर मेडलाें की झड़ी लगा दी। खास बात यह है कि दिव्या और दिग्विजय धायल जुड़वां हैं। दोनों नेशनल लेवल पर 30-30 मेडल और इंटरनेशनल लेवल पर छह-छह मेडल जीत चुके हैं।

सपना था तीनों बच्चे इंटरनेशनल लेवल पर मेडल लाएं, पहली बार तीनों ने विजयवाड़ा में गोल्ड जीता तो बड़ी खुशी मिली- विक्रम सिंह

मैं नेशनल लेवल का तीरंदाज रहा हूं। सेना में तैनाती के बाद इंटरनेशनल लेवल पर हाेने वाली चैंपियनशिप में हिस्सा नहीं पाया। वर्ष 2014 में मैंने अपनी बेटी दिव्या धायल, खुशबू धायल और बेटे दिग्विजय धायल काे घर के बाहर ही टारगेट बनाकर तीरंदाजी की ट्रेनिंग देनी शुरू की। सपना था कि तीनाें तीरंदाजी में इंटरनेशनल लेवल पर गाेल्ड मेडल हासिल कर देश का नाम राेशन करें। इसके लिए जहां पर मेरी पाेस्टिंग हाेती, वह तीनाें काे घर के बाहर टागरेट बनाकर ट्रेनिंग देने लगा।

सबसे बड़ी खुशी उस समय हुई जब वर्ष 2014 में विजयवाड़ा में हुई तीरंदाजी चैंपियनिशप में तीनाें ने गाेल्ड मेडल जीते। हालांकि खुशबू पहले भी नेशनल लेवल चैंपियनशिप में कई मेडल हासिल कर चुकी थीं। तीनाें काे हिसार के उमरा के काेच मंजीत के पास भी ट्रेनिंग दिलाई। अब दिव्या का सलेक्शन 9 से 15 अगस्त तक पाेलैंड में हाेने वाली यूथ वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए हुआ है। ‘ जैसा कि कमांडेंट विक्रम सिंह धायल ने बताया।

दिव्या की उपलब्धि

  • वर्ष 2018 में यूएसए में हुए तीरंदाजी वर्ल्ड कप में सिल्वर मेडल।
  • वर्ष 2017 में अर्जेंटीना में हुई यूथ वर्ल्ड चैंपियनशिप में गाेल्ड।
  • वर्ष 2019 में थाईलैंड में हुए एशिया कप में गाेल्ड।
  • नेशनल स्तर पर 30 मेडल अब तक हासिल कर चुकी हैं।

खुशबू की उपलब्धि

  • वर्ष 2017 में अर्जेंटीना में हुई यूथ वर्ल्ड चैंपियनशिप में गाेल्ड।
  • वर्ष 2018 में हुए वर्ल्ड कप में कांस्य पदक
  • दिल्ली, भुवनेश्वर समेत विभिन्न स्थानाें पर हुई नेशनल स्तरीय चैंपियनशिप में 40 से अधिक मेडल।

दिग्विजय धायल की उपलब्धि

  • 2018 में यूएसए में हुई वर्ल्ड तीरंदाजी चैंपियनशिप में गाेल्ड
  • 2021 में देहरादून में हुई सीनियर नेशनल तीरंदाजी स्पर्धा में गाेल्ड
  • 2019 में भाेपाल में हुई सीनियर नेशनल चैंपियनशिप में गाेल्ड
  • नेशनल स्तर पर करीब 30 मेडल हासिल कर चुके हैं।

खबरें और भी हैं…

स्पोर्ट्स | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

गोल्ड में बदल सकता है मीराबाई का मेडल: वेटलिफ्टिंग में सोना जीतने वाली चीनी एथलीट होउ पर डोपिंग का शक, सैंपल-A में संदेह के बाद सैंपल-B के लिए समन

Hindi News Sports Tokyo olympics Tokyo Olympics: Weightlifting Silver Medallist Mirabai Chanu Stands Chance To …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *