Breaking News

परेशानी: सोमवार को डॉक्टरों ने खुले में लगाई ओपीडी, अब मंगलवार की हड़ताल, बुधवार की छुट्‌टी और वीरवार को चंडीगढ़ में प्रदर्शन

  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Bathinda
  • On Monday, Doctors Put OPD In The Open, Now Tuesday’s Strike, Wednesday’s Holiday And Thursday’s Demonstration In Chandigarh

बठिंडाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
  • इमरजेंसी हो तभी सिविल अस्पताल आएं, 3 दिन नहीं चलेगी ओपीडी

जिले के लोगों को सरकारी अस्पतालों में मंगलवार से वीरवार तक इमरजेंसी सेवाओं को छोड़कर कोई सेहत सेवा नहीं मिलेगी। मंगलवार को डॉक्टर ओपन ओपीडी भी नहीं लगाएंगे और पूर्ण रूप से हड़ताल पर रहेंगे जबकि बुधवार को सरकारी छुट्टी रहेगी और वीरवार 22 जुलाई को डॉक्टर चंडीगढ़ में प्रदेश स्तरीय रैली में भाग लेंगे। शुक्रवार 23 जुलाई को भी लोगों को सेहत सेवाएं मिलेंगी या नहीं इसका फैसला 22 जुलाई की रैली के बाद बनने वाली रणनीति में तय होगा।
ओपन ओपीडी में 500 मरीजों का किया चेकअप
एनपीए में की गई कटौती के विरोध में पंजाब सिविल मेडिकल सर्विस एसोसिएशन (पीसीएमएस) एसोसिएशन के आह्वान पर पूर्ण रूप से हड़ताल पर चल रहे सरकारी डॉक्टरों ने हड़ताल के चौथे दिन सोमवार को भी सिविल अस्पताल में धरने वाली जगह टेंट, टेबल लगाकर ओपीडी सेवाएं दी। सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक चली ओपन ओपीडी में 500 के मरीजों का चेकअप कर उनको निशुल्क दवाइयां दी गई।

एक्स-रे, आपरेशन, अल्ट्रासाउंड रुके
सरकार के खिलाफ रोष स्वरूप बेशक डाक्टर ओपन ओपीडी देकर अपनी सेवाएं दे रहे हैं लेकिन एक्सरे, ऑपरेशन, टेस्ट, अल्ट्रासाउंड समेत अन्य सेवाएं नहीं मिलने के कारण मरीजों को सही इलाज नहीं मिल पा रहा है। मजबूरन मरीजों को निजी डॉक्टरों का रुख करना पड़ रहा है जो उनके लिए काफी महंगा विकल्प साबित हो रहा है। डॉक्टरों के आगे के संघर्ष के चलते मरीजों को जल्द राहत मिलती नजर नहीं आ रही है।

सरकार मांगों को लेकर नहीं दिखा रही गंभीरता, 23 जुलाई से होगी अनिश्चितकालीन हड़ताल : जगरूप
​​​​​​​
पीसीएमएस के जिला प्रधान डा. जगरूप सिंह का कहना है कि सरकार उनकी मांगों को लेकर बिल्कुल भी गंभीरता नहीं दिखा रही है, इसलिए स्टेट कमेटी के आह्वान पर मंगलवार को पूर्ण हड़ताल की जाएगी। इस दौरान केवल इमरजेंसी सेवाएं ही उपलब्ध होंगी, जबकि बाकी सभी सेहत सेवाएं बंद कर अस्पताल परिसर में रोष धरना दिया जाएगा।

वहीं 22 जुलाई वीरवार को चंडीगढ़ में राज्य स्तरीय रोष रैली की जाएगी, जबकि 23 जुलाई से अनिश्चितकाल के लिए हड़ताल की जाएगी। डा. जगरूप सिंह ने कहा कि पंजाब सरकार उन्हें सिर्फ झूठे आश्वासन ही दे रही है, लेकिन उनकी मांगों को कोई भी हल नहीं किया जा रहा है। इस मौके पर डा. अरुण बांसल, डा. खुशदीप सिद्धू, डा विशेश्वर चावला, डा. रविंदर सिंह आहलूवालिया, डा. विजय मित्तल, डा. धीरज गोयल, डा. रिचा, डा. सीमा गुप्ता आदि डाक्टरों ने अपनी सेवाएं दी।

खबरें और भी हैं…

पंजाब | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

तीन कृषि कानूनों पर चर्चा से भाग रही सरकार: AAP सांसद भगवंत मान ने कहा- केंद्र सरकार और कृषि मंत्री पत्थर दिल, तीनों कृषि कानून बेतुक जिन्हें वापस लेना होगा

Hindi News Local Chandigarh AAP MP Bhagwant Mann Said Central Government And Agriculture Minister Stone …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *