Breaking News

पाक हैंडलर ने हवलदार को हनीट्रैप में फंसाया: सेना की सीक्रेट जानकारी साझा की, IB के इनपुट पर भोपाल में तैनात जवान अंबाला के नारायणगढ़ से गिरफ्तार

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • Army’s Secret Information Shared, Jawan Posted In Bhopal On IB’s Input Arrested From House In Narayangarh, Ambala

अंबाला16 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

फेसबुक के जरिए पाकिस्तानी महिला ने एक हवलदार को हनीट्रैप में फंसाकर भारतीय सेना की सीक्रेट और संवदेनशील जानकारी हासिल कर ली। अंबाला जिले के नारायणगढ़ क्षेत्र के गांव कोड़वा का हलवलदार रोहित कुमार भोपाल में तैनात है। इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) से मिले इनपुट के आधार पर रोहित कुमार को गिरफ्तार कर लिया है।

सोशल मीडिया पर सक्रिय भारतीय सेना के जवान लगातार पाकिस्तान की खुफिया एजेंसियों के निशाने पर रहते हैं। रोहित कुमार भी सोशल मीडिया के जरिए ही पाकिस्तानी महिला हैंडलर के जाल में फंसा। भोपाल में सेना में हवलदार रोहित को महिला ने फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी थी। उससे नजदीकियां बढ़ाने के बाद रोहित से कुछ जरूरी और संवेदनशील जानकारी हासिल कर ली। DSP नारायणगढ़ अनिल कुमार ने पुष्टि ने बताया कि IB के इनपुट के बाद रोहित कुमार को गिरफ्तार कर लिया है। फिलहाल रोहित कुमार से पुलिस पूछताछ कर रही है।

युवा सैनिक रहते हैं निशाने पर
रक्षा मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार अक्सर युवा सैनिक पाकिस्तानी महिला जासूसों के निशाने पर रहते हैं। वो दोस्ती के बहाने उन्हें जाल में फंसाती हैं। इसमें यह भी देखने में आया है कि कई बार महिला की सिर्फ फोटो और आईडी इस्तेमाल होती है, जबकि हैंडलर पुरुष (मेल) होता है। वह मनोवैज्ञानिक तरीके से जवानों को अपने काबू में करता है। फिर जानकारी जुटाता है। न सिर्फ सेना, बल्कि BSF के जवानों को भी पाकिस्तानी हनीट्रैप टारगेट करते रहते हैं।

ऐसे मामलों से अफसर परेशान
समस्या इतनी गंभीर है कि सेना के वरिष्ठ अधिकारी भी इससे परेशान हैं। कई बार जवानों को इस बारे में हिदायत भी जारी की जा चुकी है। सेना अधिकारियों का मानना है कि कोई भी संवेदनशील जानकारी हासिल करने का पाकिस्तान का यह तरीका बेहद खतरनाक है।

सैनिकों को बनाया जाता है टारगेट
सूत्रों से यह भी पता चला है कि हनीट्रैप में अक्सर सैनिकों या इससे ऊपर के रैंक के जवानों को ही फंसाया जाता है। युवा अफसरों को निशाना बहुत कम बनाया जाता है। जवान को फंसाना आसान है। इसलिए उन पर ही फोकस किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं…

देश | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

प्रवासी मजदूर घाटी छोड़ने को मजबूर: जम्मू-कश्मीर में गैर-कश्मीरियों पर हमले से पलायन बढ़ा, मजदूर बोले- डर लग रहा है, हालात ठीक नहीं

Hindi News National Jammu Kashmir Migrant Workers; Three Bihar Mazdoor Killed By Terrorist In Kulgam …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *