Breaking News

पैरामिलिट्री सुरक्षा के बीच आज जंतर मंतर जाएंगे 200 किसान: सभी किसानों को जारी किए गए स्पेशल पहचान पत्र, पुलिस लेकर जाएगी और दिन भर धरना दिलाकर खुद वापस लाएगी

गाजियाबादएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

किसान नेता मंजीत सिंह ने कहा, 200 किसान संसद के आगे कृषि क़ानूनों के खिलाफ प्रदर्शन के लिए जाएंगे।

तीन कृषि कानूनों के खिलाफ सिंघु बॉर्डर से 200 किसानों का जत्था आज कुछ ही देर में संसद के लिए कूच करेगा। दिल्ली के सभी बार्डरों पर करीब 8 महीने से धरना दे रहे 40 संगठनों के 200 किसान सिंघु बॉर्डर पर इकट्ठा हो गए हैं। किसानों को सुबह 11 से शाम 5 बजे तक संसद भवन से कुछ दूर जंतर-मंतर तक जाने की अनुमति मिली है। पुलिस उन्हें अपने साथ लेकर जाएगी और दिन भर धरना दिलाकर खुद वापस लाएगी।

5 किसानों पर एक मॉनिटर बनाया गया
दिल्ली में 26 जनवरी को ट्रैक्टर यात्रा के दौरान हुई हिंसा से सबक लेते हुए पुलिस ने इस बार तमाम खास इंतजाम किए हैं। सिंघु बॉर्डर से जंतर-मंतर तक किसानों को ले जाने के लिए दिल्ली पुलिस ने 5 बसें लगाई हैं। प्रत्येक 10 में 40 साल इसके साथ बैठेंगे और पुलिस एस्कॉर्ट के साथ रवाना होंगे। सभी किसानों को पहचान पत्र जारी किए गए हैं। इसके अलावा उनको आधार कार्ड भी साथ में रखना होगा।

200 मीटर एरिया को CCTV से किया गया लैस
प्रत्येक संगठन से चुने गए 5 किसानों के ऊपर एक प्रतिनिधि मॉनिटर के रूप में रखा गया है। किसान संगठन मॉनिटर के ऊपर उस संगठन के अध्यक्ष की निगरानी रहेगी। किसान दिल्ली पुलिस द्वारा उपलब्ध कराई गई बसों से जंतर-मंतर जाएंगे। जंतर-मंतर के 200 मीटर एरिया को CCTV से लैस किया गया है। पैरा मिलिट्री फोर्स लगाई गई है। शाम 5 बजे धरना खत्म करके किसान इसी तरह बसों से सुरक्षा में वापस सिंघु बॉर्डर जाएंगे।

टिकैत बोले- हमारी जिम्मेदारी है, नहीं होगी कोई अराजकता
भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने बताया कि कुल 40 संगठन इस किसान आंदोलन में प्रतिभाग कर रहे हैं। प्रत्येक संगठन से 5-5 किसानों को पहले दिन जंतर मंतर पर जाने के लिए चुना गया है। टिकैत ने कहा, हमारी जिम्मेदारी है कि प्रदर्शनकारियों की तरफ से कोई अराजकता नहीं होगी। उनके बीच यदि कोई बाहरी तत्व घुसता है तो इसकी जिम्मेदारी हमारी नहीं होगी।

सिंघु बॉर्डर से एक किमी पहले बैरिकेडिंग
दिल्ली करनाल हाईवे स्थित सिंधु बॉर्डर पर करीब एक किलोमीटर पहले पुलिस ने बैरिकेडिंग की हुई है। मीडिया कर्मियों को भी धरना स्थल वाले इलाके में जाने पर पाबंदी लगाई हुई है। करनाल की तरफ जाने वाले सभी वाहनों को सिंघु बॉर्डर से मोड़कर दूसरे रास्ते से भेजा जा रहा है।

मंजीत सिंह बोले कृषि क़ानूनों के खिलाफ करेंगे प्रदर्शन
किसान नेता मंजीत सिंह ने कहा, 200 किसान संसद के आगे कृषि क़ानूनों के खिलाफ प्रदर्शन के लिए जाएंगे। जंतर मंतर पर हमारी बसें रुकेंगी। वहां से हम पैदल जाएंगे। जहां पर भी हमें पुलिस रोकेगी, वहीं पर हम अपनी संसद लगाएंगे। जिन किसानों के आईकार्ड बन गए हैं, वे आगे जाएंगे।

खबरें और भी हैं…

उत्तरप्रदेश | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

मेरठ में जिला पंचायत अध्यक्ष भूले कोविड प्रोटोकॉल: नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष के स्वागत समारोह में उमड़ी भीड़; न चेहरे पर मास्क दिखा, न सोशल डिस्टेंसिंग

Hindi News Local Uttar pradesh Meerut Crowd Gathered At The Reception Of Newly Elected District …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *