Breaking News

फोर्ब्स की वर्ल्ड बेस्ट एम्प्लॉयर-2021 रिपोर्ट: रिलायंस इंडस्ट्रीज देश की बेस्ट एम्प्लॉयर कंपनी बनी, लिस्ट में भारत की 19 कंपनियां शामिल

  • Hindi News
  • Business
  • Forbes’World Best Employer 2021 Report, Reliance Industries Became The Best Employer Company In The Country, A Total Of 19 Companies In India Included In The List

मुंबई11 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

रिलायंस इंडस्ट्रीज देश की बेस्ट एम्प्लॉयर कंपनी बन गई है। बिजनेस मैग्जीन फोर्ब्स ने दुनिया के बेस्ट एम्प्लॉयर की लिस्ट जारी की है। इस लिस्ट में मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड को भारत में पहला स्थान दिया गया है। इसके साथ ही दुनिया में रिलायंस ने 52वें नंबर पर जगह बनाई है। इस लिस्ट में दुनिया की 750 बड़ी कंपनियां को शामिल किया गया है। भारत की कुल 19 कंपनियों ने इस लिस्ट जगह बनाई है।

टॉप 100 कंपनियों में जगह बनाने वाली भारतीय कंपनियों में ICICI बैंक 65वें नंबर, HDFC बैंक 77वें नंबर और HCL टेक्नोलॉजी 90वें पायदान पर हैं।

सैमसंग बनी दुनिया की बेस्ट एम्प्लॉयर कंपनी
साउथ कोरिया की कंपनी सैमसंग ने वर्ल्ड बेस्ट एम्प्लॉयर होने का खिताब अपने नाम किया है। इसी के साथ ये लिस्ट में पहले नंबर पर है। दूसरे से 7वें स्थान पर अमेरिकी कंपनियों का कब्जा है। इसमें IBM, माइक्रोसॉफ्ट, अमेजन, एप्पल, अल्फाबेट और डेल टेक्नॉलोजी जैसी कंपनियां शामिल हैं। इसके बाद 8वें नंबर पर हुवावे है, जो पहले 10 में शामिल होने वाली अकेली चीनी कंपनी है। 9वें नंबर पर अमेरिका की अडोबी और 10वें पर जर्मनी का BMW ग्रुप काबिज है।

58 देशों के 1.50 लाख कर्मचारियों को सर्वे में शामिल किया
मार्केट रिसर्च कंपनी स्टेटिस्टा के साथ मिलकर फोर्ब्स ने दुनिया के बेस्ट एम्प्लॉयर की सालाना लिस्ट तैयार की है। रैंकिंग निर्धारित करने के लिए स्टेटिस्टा ने बहुराष्ट्रीय कंपनियों और संस्थानों में काम करने वाले 58 देशों के 1,50,000 कर्मचारियों को सर्वे में शामिल किया। लिस्ट में शामिल होने के लिए कंपनियों को कई पैमानों पर से गुजरना होता है। इसमें कर्मचारियों के अनुभवों की क्वालिटी और कंपनी के बारे में उसका मूल्यांकन और समान सेक्टर की दूसरी कंपनियों के बारे में उसकी राय जानी जाती है। इसमें जो कंपनियां खरी उतरती हैं उन्हें ही ये खिताब मिलता है।

कोरोना में रिलायंस ने उठाए कई कदम
कोविड-19 के समय जब हर तरफ काम धंधे ठप्प पड़े थे। नौकरियां खत्म हो रही थी ऐसे बुरे दौर में रिलायंस ने तय किया कि किसी भी कर्मचारी के वेतन में कटौती नहीं की जाए। वह नौकरी की चिंता किए काम कर सके। साथ ही उसकी इलाज की आवश्यकताओं और उसके परिवार के वैक्सीनेशन का भी पूरा ध्यान रखा गया। रिलायंस ने यह भी तय किया कि जो कर्मचारी दुर्भाग्य से कोरोना के कारण साथ छोड़ गए थे उनके आश्रितों का भविष्य आर्थिक रूप से सुरक्षित रहे।

खबरें और भी हैं…

बिजनेस | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

जियो-बीपी का पहला मोबिलिटी स्टेशन लॉन्च: भारत में पहली बार बिना किसी एक्स्ट्रा चार्ज के एडिटिवाइज्ड फ्यूल मिलेगा, 1400 से अधिक फ्यूल स्टेशन को रीब्रांड किया जाएगा

मुंबईएक मिनट पहले कॉपी लिंक रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) और बीपी के फ्यूल एंड मोबिलिटी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *