Breaking News

फ्यूचर सेंटीमेंट पॉजिटिव: रियल एस्टेट में मजबूत बनी हुई है मांग, बाजार के लिए ठोस रहेगी यह छमाही

  • Hindi News
  • Business
  • Future Real Estate Sentiment Scores Remain Optimistic, Knight Frank FICCI NAREDCO Real Estate Sentiment Index Q2 2021

मुंबई2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

कोविड की दूसरी लहर के बावजूद जून तिमाही में रियल एस्टेट सेक्टर के खिलाड़ियों का फ्यूचर सेंटीमेंट यानी अगले छह महीने का अनुमान पॉजिटिव बना रहा है। इस बात का जिक्र नाइट फ्रैंक-फिक्की-नारेडको के रियल एस्टेट सेंटीमेंट इंडेक्स Q2-2021 (अप्रैल- जून 2021) में किया गया है। रियल्टी मार्केट प्लेयर्स में डेवलपर के अलावा बैंक, फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन और पीई फंड शामिल होते हैं।

जून तिमाही में मई से एक पॉइंट कम रहा फ्यूचर सेंटीमेंट स्कोर

इस जून तिमाही के दौरान बाजार में बने हालात को लेकर बाजार के खिलाड़ियों की प्रतिक्रिया उतनी गंभीर नहीं रही, जितनी पहली लहर में थी। इस बात का पता इस दौरान (जून तिमाही में) फ्यूचर सेंटीमेंट स्कोर (56) में आई एक पॉइंट की मामूली गिरावट से चलता है। 50 का स्कोर ‘न्यूट्रल’, ऊपर का स्कोर ‘उम्मीद भरा’ और इससे नीचे ‘निराशावादी’ होता है।

करेंट सेंटीमेंट स्कोर मार्च तिमाही के 57 से घटकर 35 पर रह गया

जून तिमाही में रियल एस्टेट मार्केट का करेंट सेंटीमेंट स्कोर मार्च 2021 वाली तिमाही के 57 से घटकर 35 पर रह गया। इस जून तिमाही का करेंट सेंटीमेंट स्कोर कमजोर है, लेकिन पिछले साल की इसी तिमाही के 22 के मुकाबले काफी ऊपर है। जून 2020 वाली तिमाही में रियल्टी सेक्टर का करेंट सेंटीमेंट स्कोर ऑल टाइम लो पर चला गया था।

पश्चिमी क्षेत्र में फ्यूचर सेंटीमेंट स्कोर में सबसे ज्यादा रिकवरी हुई

अगर रियल एस्टेट सेक्टर के फ्यूचर सेंटीमेंट को जोन के हिसाब से देखें, तो पश्चिमी क्षेत्र में फ्यूचर सेंटीमेंट स्कोर में सबसे ज्यादा रिकवरी हुई। इस जोन का फ्यूचर सेंटीमेंट स्कोर मार्च तिमाही के 53 से बढ़कर 60 हो गया। रिपोर्ट के मुताबिक, आर्थिक गतिविधियां दोबारा शुरू होने से अगले छह महीने का सेंटीमेंट अब भी उम्मीदों भरा है।

रिहाइशी मकानों के बाजार का आउटलुक ‘उम्मीद भरा’ बना हुआ है

रिपोर्ट के मुताबिक जून तिमाही में रिहाइशी मकानों के बाजार का आउटलुक ‘उम्मीद भरा’ बना हुआ है। इस दौरान सर्वे में शामिल आधे से ज्यादा प्रतिभागियों ने कहा था कि अगले छह महीनों में मकानों की लॉन्चिंग और बिक्री में बढ़ोतरी हो सकती है।

अगले छह महीनों में 80% से ज्यादा को इकोनॉमी बेहतर रहने की उम्मीद

जहां तक इकोनॉमी की बात है, तो अगले छह महीनों में 80% से ज्यादा प्रतिभागी अर्थव्यवस्था की हालत बेहतर रहने की उम्मीद कर रहे हैं। सर्वे में शामिल 46% प्रतिभागियों ने कहा कि मार्च तिमाही के मुकाबले जून में लोन की उपलब्धता बेहतर हुई है। पहली तिमाही में 41% प्रतिभागी यह उम्मीद जता रहे थे।

टीकों की उपलब्धता, टीकाकरण कार्यक्रम और आर्थिक गतिविधियों का बड़ा हाथ

नाइट फ्रैंक इंडिया के सीएमडी शिशिर बैजल ने कहा कि पिछले साल के मुकाबले इस जून तिमाही में फ्यूचर सेंटमेंट स्कोर को मजबूत बनाए रखने में टीकों की बेहतर उपलब्धता, ठोस टीकाकरण कार्यक्रम और जारी आर्थिक गतिविधियों का बड़ा हाथ रहा है। उनके मुताबिक बाजार में ऑफिस और रिहायशी मकानों की मांग निकल सकती है लेकिन यह कोविड के चलते दबी हुई है।

पहली लहर के सबक और कम सख्त लॉकडाउन ने दिया सहारा

नाइट फ्रैंक की चीफ इकोनॉमिस्ट और नेशनल डायरेक्टर-रिसर्च, रजनी सिन्हा के मुताबिक, ‘जून तिमाही में कोविड की दूसरी लहर ने रियल एस्टेट सेक्टर का सेंटीमेंट बिगाड़ दिया। पहली लहर के सबक और कम सख्त लॉकडाउन से हमें आर्थिक नुकसान को झेलने की क्षमता हासिल हुई। इस बात का पता करेंट सेंटीमेंट स्कोर से चलता है जो पिछले साल जून तिमाही के 22 के निचले स्तर से खासा ऊपर है।’

खबरें और भी हैं…

बिजनेस | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

RIL के जून तिमाही के नतीजे: रिटेल से रिलायंस की बंपर कमाई, जियो का मुनाफा 45% बढ़ा, कंपनी का रेवेन्यू 1.44 लाख करोड़ रुपए रहा

Hindi News Business Mukesh Ambani; Reliance Q1 Results Today Update; RIL Industries Will Release Financial …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *