Breaking News

बरगाड़ी गुरु ग्रंथ साहिब बेअदबी मामला: डेरा सच्चा सौदा के 8 अनुयायियों के खिलाफ चालान पेश; बुर्ज जवाहर सिंह वाला से चुराए पवित्र ग्रंथ के अंग, लगाए थे अभद्र शब्दावली वाले पोस्टर

  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Challans Presented Against 8 Dera Lovers, Parts Of Holy Book Stolen From Burj Jawahar Singh Wala; Posters With Abusive Words Were Put Up

लुधियाना/फरीदकोटएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

बरगाड़ी में गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी के आरोपियों को कोर्ट में पेश करने ले जाती जांंच टीम।

पंजाब सरकार द्वारा श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी के मामले में बनाई गई विशेष जांच टीम ने डेरा सच्चा सौदा सिरसा के 8 अनुयायियों के खिलाफ चालान पेश किया है। इन पर आरोप है कि इन्होंने गांव बुर्ज जवाहर वाला से श्री गुरु ग्रंथ साहिब के अंग चोरी किए थे। साथ ही बरगाड़ी में इस पवित्र ग्रंथ के बारे में अभद्र भाषा वाले पोस्टर लगाए गए थे।

इनके खिलाफ पेश किया गया चालान
चालान में आरोपी बनाए गए लोगों में सुखजिंदर सिंह, शक्ति सिंह, रणजीत सिंह, बलजीत सिंह, हर्ष धूरी, संदीप बरेटा और प्रदीप कलेर हैं। जांच टीम ने डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख नेता महिंदरपाल बिट्टू खिलाफ भी चालान पेश किया है। हालांकि, बिटूटू की नाभा जेल में हत्या कर दी गई थी। मौजूदा चालान में आरोपी बनाए गए डेरे की राष्ट्रीय कमेटी के सदस्य हर्ष धूरी, संदीप बरेटा और प्रदीप कलेर अभी तक गिरफ्तार नहीं हुए हैं, जिन्हें कोर्ट भगौड़ा घोषित करने की तैयारी में है।

जांच टीम की तरफ से पेश किया गया चालान।

जांच टीम की तरफ से पेश किया गया चालान।

ये है आरोप
चालान में लिखा है कि आरोपियों ने 24 सितंबर 2015 को फरीदकोट जिले के गांव बुर्ज जवाहर वाला से श्री गुरु ग्रंथ साहिब के अंग चोरी किए थे। इसके साथ ही बरगाड़ी गांव में पोस्टर लगाए थे, जिसमें गुरु ग्रंथ साहिब के बारे में आपत्तीजनक भाषा का इस्तेमाल किया गया था।

कांड के बाद गर्माई पंजाब की सियासत
इस घटना के बाद पूरे प्रदेश की सियासत में गर्मा आ गया था। इसके बाद कोटकपूरा के चौक पर सिख संगठनों की तरफ से धरना-प्रदर्शन किया गया। पुलिस ने लाठीचार्ज और फायरिंग की थी। इसी दिन बुर्ज जवाहर सिंह वाला में प्रदर्शन कर रहे दो युवकों की पुलिस की गोली लगने से मौत हो गई थी। 2017 में कांग्रेस सरकार बनने के बाद विशेष जांच टीम का गठन किया गया था। उसकी रिपोर्ट में इस मामले को लेकर शिअद के बड़े नेताओं के नाम रखे गए थे।

फिर शुरू हुई जांच
हाईकोर्ट की तरफ से यह रिपोर्ट बीते दिनों खारिज की जा चुकी है। फिर नए सिरे से विशेष जांच टीम का गठन हुआ। टीम द्वारा की जा रही जांच के दौरान थाना बाजाखाना में 25 सितंबर 2015 को दर्ज हुई 117 नंबर FIR में चालान पेश किया गया है। यह FIR रणजीत सिंह नामक व्यक्ति के द्वारा दिए बयान के आधार पर दर्ज हुई थी।

खबरें और भी हैं…

पंजाब | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

नवजोत सिद्धू ने हर वर्कर को बताया था प्रधान: जालंधर में टकसाली कांग्रेसियों ने सांसद चौधरी के घर के बाहर लगाया धरना, बोले- जिताएं हम और पद चहेतों को, यह बर्दाश्त नहीं

Hindi News Local Punjab Jalandhar Taksali Congressmen Staged A Sit in Outside MP Chaudhary’s House …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *