Breaking News

बहादुरी का परिचय: कुत्ते काे बचाने तेंदुए से भिड़ा युवक, बचने के लिए बाथरूम में घुसा तेंदुआ, बंद किया

शिमला12 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

वन विभाग की टीम ने तेंदुए को पिंजरे में डालकर टूटीकंडी रेस्क्यू सेंटर पहुंचाया।

  • कृष्णानगर में देर रात 2ः30 की घटना, मौके पर पहुंची पुलिस-फॉरेस्ट टीम

कुत्ते का शिकार करने आई मादा तेंदुए काे रविवार देर रात कृष्णानगर में 30 साल के गौरव जसवाल ने बाथरूम में बंद कर दिया। युवक और तेंदुए की बीच काफी देर तक लड़ाई हुई। तेंदुए ने युवक काे बुरी तरह से लहूलुहान कर दिया। युवक ने सूझबूझ दिखाते हुए तेंदुए काे बाथरूम में बंद कर दिया।

हालांकि तेंदुए ने युवक काे सिर, बाजू और पीठ पर बुरी तहर से नाेचा है। युवक को देर रात आईजीएमसी इमरजेंसी में ले जाया गया, जहां पर चिकित्सकाें ने उसके सिर और बाकी जगह कई टांके लगाकर उपचार किया। हालांकि अब युवक खतरे से बाहर है। कुत्ता भी जख्मी हुआ है। घटना कृष्णानगर के लव कुश चौक की है।

करनैल सिंह ने बताया कि रविवार देररात करीब 2:30 बजे उनके भतीजे गाैरव जसवाल ने कुत्ते के भाैंकने की आवाज सुनी। गाैरव ने कमरे की लाइट जलाई ताे देखा कि कुत्ते से कुछ दूरी पर तेंदुआ खड़ा है। अचानक तेंदुए ने कुत्ते पर हमला कर दिया।

गाैरव ने चेन से कुत्ते को खींचने की कोशिश की मगर तब तक तेंदुए ने गाैरव पर भी झपटा मार दिया। इसके पंजे से गौरव के मुंह, सिर, गर्दन और पीठ पर घाव पड़ गए। किसी तरह गौरव ने तेंदुए को धक्का मारा और खुद पीछे हट गया।

कुत्ता बच गया, मालिक की जान पर बन आई थी, 15 टांके लगे

ऐसे किया बाथरूम में बंद– तेंदुए और गाैरव के बीच लड़ाई के बाद तेंदुआ भागने की काेशिश करने लगा और बाथरूम में घुस गया। गौरव ने तुरंत बाथरूम का दरवाजा बाहर से बंद कर दिया। तब तक परिवार के बाकी सदस्यों ने शाेर मचाना शुरू कर दिया और पड़ाेसी भी वहां आ गए।

पुलिस काे भी इसकी सूचना दी गई। पुलिस ने वन विभाग की टीम काे माैके पर बुलाया। सुबह करीब साढ़े तीन बजे विभाग की टीम मौके पर पहुंची। कड़ी मशक्कत के बाद सुबह करीब साढ़े छह बजे ट्रैंकुलाइजर से इंजेक्शन लगाकर तेंदुए को बेहोश किया गया।

उसके बाद वन जीव विभाग की टीम तेंदुए को टूटीकंडी रेस्क्यू सेंटर ले गई। यहां इसे निगरानी में रखा गया है। जल्द ही इसे जंगल में छोड़ा जाएगा। वन्य जीव विभाग के डीएफओ कृष्ण कुमार ने बताया कि यह मादा तेंदुआ है, जो करीब साढ़े तीन साल की है।

दाे बार लगाने पड़े युवक को टांके

घायल गौरव तेंदुए से साथ लड़ाई में बुरी तरह से घायल है। उसके कमरे में हर तरफ खून था। देर रात परिजनाें ने एंबुलेंस काे फाेन किया मगर समय पर एंबुलेंस न आने से परिजन निजी गाड़ी में ही उसे आईजीएमसी लेकर पहुंचे। यहां डॉक्टरों ने उसे एंटी रैबीज इंजेक्शन लगाया और उसके सिर और अन्य जगहाें पर करीब 15 टांके लगाए।

हालांकि यह टांके सही नहीं लगे थे, जिसके बाद दाेबारा से सुबह दस बजे परिजन उसे आईजीएमसी ले गए। दाेबारा से टांके लगाए गए क्याेंकि रात काे जाे टांके लगाए गए थे, वह सही नहीं थे।

ये एरिया हैं सेंसटिव

​​​​​​​शिमला शहर में हालांकि सभी एरिया में तेंदुआ देखा जा चुका है। रिज पर भी सीसीटीवी कैमरे में कई बार तेंदुआ आ चुका है। मगर शहर के कई ऐसे सेंसटिव एरिया हैं, जहां बार-बार तेंदुआ आता है। उनमें कृष्णानगर, कनलाेग, बेमलाेई, मल्याणा, शनान, भराड़ी, लाैंगवुड, कैथू, सांगटी, समरहिल, चक्कर में बार-बार तेंदुआ आता है। इन सभी एरिया में आसपास काफी जंगल है, जिसमें से तेंदुआ कुत्ताें की तालाश में घराें तक आ जाता है। इससे पहले भी कई बार इन एरिया से तेंदुए काे देखा गया है।

दाे साल पहले मल्याणा से पकड़ा था तेंदुआ

वर्ष 2019 में भी एक तेंदुए काे मल्याणा में वन विभाग की टीम ने पिंजरे में पकड़ा था। यह तेंदुआ कई दिनाें तक इस एरिया में घूमता रहा। इसने आसपास के कई कुत्ताें काे अपना शिकार बनाया था। उसके बाद विभाग की टीम ने यहां पर पिंजरा लगाया।

इसी तरह बागबानी निदेशालय के पास करीब चार साल पहले तेंदुए का बच्चा पार्किंग में मिला था। यह अपनी मां से बिछड़ गया था। इन दिनाें धाेबीघाट एरिया में भी वन विभाग की टीम ने जगह-जगह पिंजरे लगाए हैं। यहां से भी बीते माह दाे कुत्ताें काे तेंदुआ उठाकर ले गया था।

खबरें और भी हैं…

हिमाचल | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

अब तक 205061 लोग पाॅजिटिव: प्रदेश के मंडी जिले में कोरोना से 1 की मौत, 130 नए केस, मास्क ही कर सकता है संक्रमण से बचाव

शिमला12 घंटे पहले कॉपी लिंक फाइल फोटो प्रदेश में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *