Breaking News

बारिश के साथ बीमारियों की भी दस्तक: एक ही दिन में सिविल की ओपीड़ी में पहुंचे 2000 मरीज, इनमें 500 सीजनल फीवर के

सूरत2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • मरीजों को ठंड लगने के साथ बुखार होने, आंखें लाल होने की शिकायत

बारिश होने के साथ ही सीजनल फीवर के मरीज बढ़ गए। सोमवार को सिविल अस्पताल की 2000 की ओपीडी में से 500 से अधिक मरीज सीजनल फीवर के थे। डॉक्टरों का कहना है कि सीजनल फीवर के कई मरीजों को डेंगू-मलेरिया या फिर कोरोना भी हो सकता है। इसके लिए ब्लड सैंपल की जांच के साथ एक्स-रे भी करा रहे हैं।

रिपोर्ट आने के बाद ही सही बीमारी का पता चल पाता है। सिविल अस्पताल के मेडिसिन विभाग की ओपीडी में सीजनल बीमारियों के मरीज आए दिन बढ़ रहे हैं। डेंगू-मलेरिया के एक दर्जन से ज्यादा मरीज भर्ती हैं। डाॅक्टरों का कहना है कि बारिश में लोग खाने-पीने की चीजों का ध्यान रखें।

सीजनल फीवर में कहीं कोरोना तो नहीं, इसलिए डाॅक्टर एक्स-रे करा रहे

सीजनल फीवर के मरीज ठंड लगने के साथ बुखार होना, जलन के साथ आंखें लाल होना, सर्दी, खांसी, उल्टी-पेट में दर्द आदि शिकायतों के साथ अस्पताल पहुंच रहे हैं। प्राथमिक इलाज में डॉक्टर एंटी वैक्टीरियल, पैरासिटामोल, कफ सिरप आदि दवा देते हैं। कई मरीजों को एडमिट भी किया जा रहा है। वहीं एक्स-रे और सोनोग्राफी जांच भी हो रही है। डॉक्टरों का कहना है कि अभी कोरोना जैसी महामारी को अनदेखा नहीं किया जा सकता, इसलिए एक्स-रे जरूर कराते हैं। अगर कोई इंफेक्शन लंग्स में मिलता है तो हम कोरोना की भी जांच करवाते हैं।

सीजनल बीमारियां से गंभीर मरीजों की मौत का खतरा
हाल ही में पसोदरा में सीजनल फीवर से पीड़ित एक महिला की मौत हो गई थी। सौराष्ट्र टाउनशिप की निका रेसिडेंसी निवासी 30 वर्ष जयंती बेन परमार को सीजनल फीवर था। नजदीकी दवाखाना से इलाज चल रहा था। इलाज के दौरान मौत हो गई। डॉक्टरों ने बताया कि महिला को सीजनल फीवर था, साथ ही पेशाब नली में भी समस्या थी। वहीं परिजनों का कहना है कि पिछले 2 से 3 दिन में मानसून में हुए बदलाव के कारण वह बीमार हुई थीं।

खबरें और भी हैं…

गुजरात | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

गुजरात में जल्दी चुनाव कराने बीजेपी ने बनाई रणनीति: अगले साल फरवरी में उत्तर प्रदेश के साथ गुजरात में चुनाव की संभावना

गांधीनगर9 घंटे पहले कॉपी लिंक गुजरात में अब भाजपा सरकार में कोई नेतृत्व परिवर्तन नहीं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *