Breaking News

बीएसएफ को अधिकार देने से सियासी बवाल: बीएसएफ को अधिकार के मुद्दे पर सियासत तेज, भाजपा समेत कैप्टन अमरिंदर सिंह निशाने पर

लुधियानाएक घंटा पहलेलेखक: दिलबाग दानिश

  • कॉपी लिंक

बार्डर सिक्योरिटी फोर्स बीएफएस को मिले अधिक अधिकारों के बाद पंजाब की सियासत में उबाल आ गया है। इस फैसले के बाद एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी के साथ साथ कैप्टन अमरिंदर सिंह भी निशाने पर हैं। कैबनिट मंत्री प्रगट सिंह और विजय इंद्र सिंगला ने पत्रकारवार्ता कर और सुनील जाखड़ की तरफ से ट्वीट के जरिए सवाल उठाए हैं। दूसरी तरफ शिरोमणि अकाली बादल की तरफ से पंजाब भवन के बाहर प्रदर्शन किया जा रहा है और वह केंद्र द्वारा लिए फैसले का वापिस लेने की मांग की जा रही है। बता दें केंद्र सरकार की तरफ से फैसला लेते हुए बीएसएफ को पचास किलोमीटर के घेरे में कार्रवाई करने के अधिकार दे दिए थे। यह फैसला आने के तुरंत बाद पंजाब में विरोध शुरू हो गया था। मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, गृह मंत्री सुखजिंदर रंधावा, कांग्रेस नेता सुनील जाखड़, शिअद नेता दलजीत चीमा और सुखबीर बादल ने इसका विरोध किया था और यह आज भी जारी है। मगर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह इसके पक्ष में नजर आ रहे हैं। उनके मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल द्वारा ट्वीट करके कहा गया था कि इससे बीएसएफ को बल मिलेगा।

परगट सिंह

परगट सिंह

प्रगट सिंह ने उठाए कैप्टन की मंशा पर सवाल
कैबनिट मंत्री प्रगट सिंह और विजय इंद्र सिंगला की ओर से पत्रकारवार्ता की गई। इसमें उनकी ओर से कहा गया कि केंद्र सरकार को यह फैसला वापिस लेना चाहिए। प्रगट सिंह ने तो यहां तक कह दिया कि कैप्टन अमरिंदर सिंह केंद्र सरकार के साथ मिलकर शड्यंत्र रच रहे हैं। पंजाब पुलिस कार्य करने के लिए सक्षम है और इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए थी।

सुनील जाखड़ द्वारा किया ट्वीट

सुनील जाखड़ द्वारा किया ट्वीट

सुनील जाखड़ का ट्वीट कहा सुरक्षा बलों पर राजनीति नहीं होनी चाहिए
सुनील जाखड़ की तरफ से भी इस पर ट्वीट किया गया है। जिसमें उनकी ओर से एक ट्वीट से कई निशाने साधे हैं। वह कैप्टन अमरिंदर सिंह को नसीहत देते हुए नजर आ रहे हैं और शिरोमणि अकाली दल बादल पर भी कटघरे में खड़ा कर रहे हैं। उनकी ओर से ट्वीट करके कहा गया है कि हमें अपने सुरक्षा बलों पर गर्व है जो हमारी सीमाओं को सुरक्षित करने और विदेशी हमलावरों से भारत की रक्षा करने के लिए हैं। नाकामियों पर पर्दा डालने के लिए नेताओं और सरकारों द्वारा बनाई गई गंदगी को साफ करने के लिए उनका उपयोग करना बहुत खतरनाक है। यह न केवल हमारे बहादुर बलों को बदनाम करता है, बल्कि उनके मनोबल, अनुशासन और तैयारियों पर प्रतिकूल प्रभाव डालता है। राजनीतिक हथियार के रूप में हमारी ताकतों के इस प्रयोग से बचना चाहिए। इसे से बेहतर कैप्टन अमरिंदर सिंह से बेहतर कोई नहीं जानता। मैंने बीएसएफ अधिकारियों से मुलाकात की जब अकाली अपनी सरकार की 2014 की विफलताओं के लिए उन्हें बलि का बकरा बना रहे थे।

पत्रकारों से बात करते हुए सुखबीर सिंह बादल व दलजीत सिंह चीमा।

पत्रकारों से बात करते हुए सुखबीर सिंह बादल व दलजीत सिंह चीमा।

सुखबीर बादल बोले चन्नी को पद छोड़ देना चाहिए
शिरोमणि अकाली दल बादल की तरफ से पंजाब भवन के बाहर प्रदर्शन किया जा रहा है। जिसमें बड़ी संख्या वर्कर शामिल हुए हैं। इस दौरान अपने संबोधन में शिअद प्रधान सुखबीर सिंह बादल ने कहा है कि केंद्र सरकार की तरफ से लिया गया फैसला गलत है। इसका लागू हो जाना मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की विफलता है। इस लिए उन्हें अपना पद छोड़ देना चाहिए। भारतीय जनता पार्टी सीधे तौर पर पंजाब के हकों पर डाका मार रही है जिसे बर्दाशत नहीं किया जा सकता है।

खबरें और भी हैं…

पंजाब | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

महिला ने 2 बच्चों संग जहर खाकर सुसाइड किया: बरनाला में कालेके गांव की घटना, 3 माह पहले बड़े बेटे की डूबने से हुई मौत के बाद रहती थी परेशान

बरनालाएक घंटा पहले कॉपी लिंक धनौला सरकार अस्पताल में महिला वीरपाल कौर और उसकी 5 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *