Breaking News

बॉर्डर पर पकड़ा गया चीनी घुसपैठिया: BSF को इसके जासूस होने का शक; बांग्लादेश बॉर्डर से भारत में घुसने की कोशिश कर रहा था, पहले भी 4 बार भारत आ चुका था

10 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पकडे़ गए चीनी नागरिक का नाम हान जुनवे है। उसके पास भारत, बांग्लादेश और चीन की करंसी और सिम कार्ड मिले हैं।

पश्चिम बंगाल में भारत-बांग्लादेश बॉर्डर पर गुरुवार को एक चीनी नागरिक पकड़ गया है। बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (BSF) को शक है कि यह चीन का जासूस हो सकता है। जांच एजेंसियां यह पता लगा रही हैं कि क्या पकड़ा गया चीनी नागरिक वहां की इंटेलीजेंस एजेंसी के लिए काम कर रहा था?

पकड़े गए आरोपी का नाम हान जुनवे है और उसकी उम्र 35 साल है। वह चीन के हुबेई का रहने वाला है। BSF के मुताबिक हान भारत में एक वांछित अपराधी है और यहां उसके संपर्कों का पता लगाया जा रहा है। वह पहले भी चार बार भारत आ चुका था। गुडगांव स्टार स्प्रिंग नाम से उसका एक होटल है। यहां काम करने वाले कुछ लोग चाइनीज और बाकी भारतीय हैं।

हान ने पूछताछ में बताया है कि वह 2 जून को बिजनेस वीजा पर ढाका पहुंचा था और वहां अपने चाइनीज दोस्त के पास रुका था। इसके बाद 8 जून को वह बांग्लादेश के चपाइनवाबगंज जिले के सोना मस्जिद पहुंचा और वहां एक होटल में रुका। इसके बाद भारत-बांग्लादेश बॉर्डर की तरफ बढ़ गया। उसने बताया है कि वह 2010 में हैदराबाद और उसके बाद 2019 में तीन बार दिल्ली और गुडगांव आया था।

हान ने बताया, ‘मेरा बिजनेस पार्टनर सुन जियांग मुझे थोड़े-थोड़े दिनों में 10-15 भारतीय सिम कार्ड भेजता था। इन्हें हुबेई में मैं और मेरी पत्नी रिसीव करते थे। लेकिन कुछ दिनों पहले सुन को लखनऊ ATS ने गिरफ्तार कर लिया और पूछताछ में उसने मेरा और मेरी पत्नी का नाम बता दिया। इसलिए ATS ने मेरे खिलाफ भी केस दर्ज कर लिया। इसलिए मुझे भारतीय वीजा नहीं मिल पा रहा था और मैंने बांग्लादेशी और नेपाली वीजा हासिल किया था ताकि इन देशों के रास्ते भारत पहुंच सकूं।’

BSF के रोकने पर भागने की कोशिश की थी
BSF ने बताया कि हान पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में स्थित मलिक सुल्तानपुर पोस्ट के पास गुरुवार सुबह 7 बजे पकड़ा गया था। वह काली स्वेटशर्ट, ट्राउजर और जूते पहने हुए था। वह अवैध रूप से बॉर्डर क्रॉस करने की कोशिश कर रहा था। इस दौरान BSF ने रुकने के लिए कहा तो उसने भागने की कोशिश की थी, लेकिन सुरक्षाबलों ने उसे पकड़ लिया।

सुरक्षाबलों ने एक वीडियो भी जारी किया है जिसमें हान कह रहा है कि वह गलती से भारत में घुस आया और अब लखनऊ ATS के सामने सरेंडर करना चाहता है। उसका कहना है कि वह पिछली बार ई-कॉमर्स बिजनेस के सिलसिले में भारत आया था।

तीन देशों की मुद्रा और सिम कार्ड बरामद
हान के पास एक चाइनीज पासपोर्ट, एपल मैकबुक, दो आईफोन, बांग्लादेश और भारत के एक-एक सिम कार्ड, दो चाइनीज सिम कार्ड दो पेन ड्राइव, तीन बैटरी, दो छोटी टॉर्च, दो एटीएम, कुछ अमेरिकी डॉलर, बांग्लादेशी टका और भारतीय रुपए मिले हैं।

BSF का कहना है कि हान के पास मिले इलेक्ट्रोनिक उपकरणों से कई ऐसे फैक्ट मिल सकते हैं जिनसे पता चले कि वह चीन की किस इंटेलीजेंस एजेंसी के लिए भारत में काम कर रहा था। साथ ही कहा है कि हान का पकड़ा जाना BSF की बड़ी कामयाबी है। इस मामले की जांच में कई चौंकाने वाले खुलासे हो सकते हैं।

खबरें और भी हैं…

विदेश | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

इस साल भी ‘बाहरी’ को हज के लिए न: महामारी, युद्ध, राजनीति की वजह से प्रभावित होता रहा है हज, हैजा फैलने पर उस्मानिया सल्तनत में लोग क्वारैंटाइन किए गए थे

9 मिनट पहलेलेखक: साजिद शेख मक्का की 1887 में ली गई तस्वीर। साल 2021 का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *