Breaking News

बॉर्डर से लगते 50 किमी इलाके में BSF का अधिकार: केंद्र के फैसले पर पंजाब में सियासी उबाल, कैप्टन ने किया स्वागत; गृह मंत्री रंधावा बोले- इससे तो आधा राज्य हमारे हाथ से निकल जाएगा

लुधियाना4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

चरणजीत सिंह चन्नी और अमित शाह की एक सप्ताह पहले मुलाकात की फोटो

केंद्र सरकार ने बुधवार को जारी एक आदेश में बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (बीएसएफ) को पंजाब, असम और पश्चिम बंगाल में बॉर्डर से लगते 50 किलोमीटर के एरिया में कार्रवाई करने का अधिकार दे दिया। इसके बाद अब बीएसएफ कभी भी बॉर्डर से 50 किमी के एरिया में गिरफ्तारी व अन्य कार्रवाई कर सकती है। इससे पहले इसके लिए बीएसएफ को पंजाब पुलिस की सहायता करनी पड़ती थी।

केंद्र का यह आदेश पंजाब के बॉर्डर एरिया में पिछले कुछ समय के दौरान मिले अवैध हथियारों, बारूद और नशे की वजह से लिया गया है। इस आदेश को पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और उसके बाद मौजूदा सीएम चरणजीत सिंह चन्नी के साथ गृह मंत्री अमित शाह की मुलाकात से जोड़कर देखा जा रहा है। पंजाब का बड़ा हिस्सा बॉर्डर से लगता है। ऐसे में इस फैसले पर बवाल होना तय है। इस पर अकाली दल बादल ही नहीं कांग्रेस के नेताओं ने भी सवाल खड़े किए हैं। इस पर कैप्टन अमरिंदर सिंह अकेले ऐसे नेता हैं जो केंद्र सरकार के पक्ष में खड़े नजर आ रहे हैं, जबकि कांग्रेस और अकाली दल ने इसका विरोध किया है।

कैप्टन अमरिंदर सिंह की तरफ से किया गया ट्वीट

कैप्टन अमरिंदर सिंह की तरफ से किया गया ट्वीट

बीएसएफ की बढ़ी उपस्थिति और शक्तियां ही हमें और मजबूत करेंगीः कैप्टन
कैप्टन अमरिंदर सिंह इसके पक्ष में दिख रहे हैं। उनके सलाहकार रवीन ठुकराल ने कैप्टन अमरिंदर सिंह की ओर से ट्वीट करते हुए कहा कि कश्मीर में हमारे जवान मारे जा रहे हैं। दिख रहा है कि अधिक से अधिक हथियार और नशीले पदार्थ पाकिस्तान की ओर से पंजाब में भेजे जा रहे हैं। बीएसएफ की बढ़ी उपस्थिति और शक्तियां ही हमें और मजबूत करेंगी। केंद्रीय सशस्त्र बलों को राजनीति में न घसीटें।

इसे कभी बर्दाशत नहीं किया जाएगाः रंधावा
पंजाब के गृह मंत्री व डिप्टी सीएम सुखजिंदर सिंह रंधावा का कहना है कि बीएसएफ को दी गई छूट को कभी बर्दाशत नहीं किया जा सकता। यह सीधा-सीधा फैडरल ढांचे में दख्ल है। इससे तो आधा पंजाब बीएसएफ के अधीन आ जाएगा। मुझे समझ नहीं आ रहा कि केंद्र सरकार कैसे यह फैसला ले रही है। यह संविधान में दिए गए अधिकारों पर हमला है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को इस पर पुनर्विचार करने की मांग की।

मीडिया से बात करते सुखजिंदर सिंह रंधावा।

मीडिया से बात करते सुखजिंदर सिंह रंधावा।

सुनील जाखड़ ने ट्वीट कर उठाए सवाल
पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी द्वारा गृह मंत्री अमित से बैठक की पोस्ट और बीएसएफ को दी गई नई जिम्मेदारी की मीडिया रिपोर्ट को शेयर करते हुए लिखा आप क्या कह रहे हैं चरणजीत सिंह चन्नी साहिब, अनजाने में ही सही आप पंजाब का आधा हिस्सा बीएसएफ के हवाले कर दिया है। पंजाब पुलिस इस फैसले से स्तब्ध है।

यह पंजाब के हकों पर डाका
शिरोमणि अकाली दल बादल के वक्ता दलजीत सिंह चीमा ने वीडियो जारी कर कहा है कि मैं केंद्र सरकार के बीएसएफ को कार्रवाई के दिए अधिकार का विरोध करता हूं। इसे पंजाब पुलिस को सीधे तौर पर बीएसएफ के अधीन किया जा रहा है। केंद्र सरकार दूसरे रास्ते से पंजाब पर राज करना चाहती है। इस फैसले के बाद लगभग पूरे पंजाब का लॉ एंड आर्डर बीएसएफ के हाथ में आ जाएगा। केंद्र सरकार को इस फैसले को तुरंत वापस ले लेना चाहिए और राज्य सरकार को यह फैसला कभी स्वीकार नहीं करना चाहिए।

सुनील जाखड़ द्वारा किया गया ट्वीट।

सुनील जाखड़ द्वारा किया गया ट्वीट।

सुनील जाखड़ ने ट्वीट कर उठाए सवाल
पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी द्वारा गृह मंत्री अमित से बैठक की पोस्ट और बीएसएफ को दी गई नई जिम्मेदारी की मीडिया रिपोर्ट को शेयर करते हुए लिखा गया है कि आप क्या कह रहे हैं चरणजीत सिंह चन्नी साहिब, अनजाने में ही सही आप पंजाब का आधा हिस्सा बीएसएफ के हवाले कर दिया है। पंजाब पुलिस इस फैसले से सतम्ब है और क्या हम अब भी पंजाब पुलिस का स्वाशासन चाहते हैं।

दलजीत सिंह चीमा।

दलजीत सिंह चीमा।

यह पंजाब के जमहूरी हकों पर डाका
शिरोमणि अकाली दल बादल के वक्ता दलजीत सिंह चीमा ने वीडियो जारी कर कहा है मैं केंद्र सरकार के बीएसएफ को कार्रवाई के दिए अधिकार का विरोध करता हूं। इसे पंजाब पुलिस को सीधे तौर पर बीएसएफ के अधीन किया जा रहा है। केंद्र सरकार दूसरे रास्ते पंजाब पर राज करना चाहती है। इस फैसले के बाद लगभग पूरे पंजाब का लॉ एंड आर्डर बीएसएफ के हाथ में आ जाएगा। केंद्र सरकार को इस फैसले को तुरंत वापिस ले लेना चाहिए और स्टेट को यह फैसला कभी प्रवान नहीं करना चाहिए।

खबरें और भी हैं…

पंजाब | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

आत्महत्या का मामला: पत्नी काे आत्महत्या के लिए मजबूर करने वाले पति पर केस

अमृतसरएक घंटा पहले कॉपी लिंक कई बार बेटी का पति के साथ समझौता भी कराया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *