Breaking News

भास्कर ब्रेकिंग: नक्सलियों के तेलंगाना स्टेट कमेटी के सचिव हरिभूषण की कोरोना व फूड प्वॉइजनिंग से मौत, 40 लाख रुपये का था इनामी

जगदलपुर/दंतेवाड़ा/बीजापुर26 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

क्सलियों के तेलंगाना स्टेट कमेटी के सचिव हरिभूषण (50) की कोरोना व फूड प्वॉइजनिंग से मौत हो गई है।

नक्सलियों पर कोरोना और फूड प्वॉइजनिंग का कहर लगातार देखने को मिल रहा है। माओवादी लीडर कट्टी मोहन राव के बाद अब नक्सलियों के तेलंगाना स्टेट कमेटी के सचिव हरिभूषण (50) की भी कोरोना व फूड प्वॉइजनिंग से मौत हो गई है। हरिभूषण के मौत की पुष्टि दंतेवाड़ा के SP डॉ अभिषेक पल्लव ने की है। हरिभूषण पर 40 लाख रुपये का इनाम भी घोषित था।

पामेड़ इलाके में था सक्रिय

माओवादी लीडर हरिभूषण उर्फ यापा नारायण तेलंगाना के महबूबाबाद जिले के कोट्टागुडा क्षेत्र के मारिगुडा गांव का रहने वाला था। 1995 में पीपुल्स वार गुरिल्ला में शामिल हुआ था। जिसके बाद से पिछले कई वर्षों से बस्तर के बीजापुर जिले के पामेड़ इलाके में सक्रिय था। इस पर वर्तमान में तेलंगाना स्टेट कमेटी के सचिव पद की जिम्मेदारी थी। बताया जा रहा है कि पिछले कुछ वर्षो में दक्षिण बस्तर में जितनी भी नक्सली घटनाएं हुई हैं हरिभूषण उसका मास्टर माइंड था। छत्तीसगढ़ और तेलंगाना राज्य की सीमा पर हुई पुलिस नक्सली मुठभेड़ में भी कई बार हरिभूषण पुलिस की गोलियों से बचा था। पिछले कई दिनों से हरिभूषण कोरोना व फूड प्वॉइजनिंग से जूझ रहा था। पामेड़ इलाके में सोमवार की शाम इसकी मौत हो गई है। दंतेवाड़ा के SP डॉ अभिषेक पल्लव ने इसकी पुष्टि भी की है।

ये माओवादी लीडर भी हैं बीमार

नक्सलियों के बटालियन नम्बर 2 का कमांडर सोनू, बटालियन मेम्बर जयमन, नंदू, देवा भी बीमार हैं। वहीं DVCM मेम्बर राजेश और विनोद भी पिछले कई दिनों से कोरोना व फूड प्वॉइजनिंग से जूझ रहे हैं। इन सभी पर लाखों रुपये का इनाम घोषित है। दंतेवाड़ा SP ने सभी से अपील की है कि वे माओवाद संगठन छोड़कर पुलिस के समक्ष आकर आत्मसमर्पण कर दें। सरकार की हर योजनाओं का लाभ दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं…

छत्तीसगढ़ | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

अफसरों को निर्देश, नेता जी की सुनिए: कांग्रेस जिलाध्यक्षों ने 10 दिन पहले कहा था कि अफसर उनकी नहीं सुनते; सरकार का निर्देश- जनप्रतिनिधियों से सौहार्दपूर्ण व्यवहार करें

रायपुरएक घंटा पहले कॉपी लिंक सामान्य प्रशासन विभाग ने सभी सचिवों, विभागाध्यक्षों, संभाग आयुक्तों, कलेक्टरों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *