Breaking News

मां-बाप ने 4 बेटे-बेटियों के साथ पीया जहर: पड़ोसी के घर से 500 रुपए चोरी के आरोप से आहत था; बेटा बोला- सरपंच ने धमकाया था कि कबूल नहीं करोगे तो गांव से निकाल देंगे

धमतरी10 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पड़ोसी जब घर में घुसा तो देखा कि बच्चों के मुंह से झाग निकल रहा है। जबकि दिलीप और उसकी पत्नी बेसुध पड़े हुए हैं।

छत्तीसगढ़ के धमतरी में सोमवार देर रात दंपती ने अपने दो बेटों और दो बेटियों के साथ जहरीला पदार्थ पीकर खुदकुशी का प्रयास किया। किसी काम से अचानक घर आए पड़ोसी ने सभी के मुंह से झाग निकलता देखा तो उसने रिश्तेदारों को बुलाकर सभी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। फिलहाल सभी की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। पड़ोसी के घर हुई चोरी का परिवार के मुखिया पर आरोप है। पुलिस भी इस संबंध में पूछताछ कर रही थी। वहीं बेटे का कहना है कि सरपंच और अन्य लोग चोरी कबूल करने का दबाव बना रहे थे। मामला भखारा थाना क्षेत्र का है।

दंपती बेहोशी की हालत में हैं। न वह बात कर पा रहे हैं, न ही किसी को ठीक से पहचान रहे हैं। सूचना मिलने पर अन्य परिजन भी अस्पताल पहुंच गए हैं।

दंपती बेहोशी की हालत में हैं। न वह बात कर पा रहे हैं, न ही किसी को ठीक से पहचान रहे हैं। सूचना मिलने पर अन्य परिजन भी अस्पताल पहुंच गए हैं।

ग्राम जुगदेही निवासी दिलीप यादव पर गांव के ही नेमीचंद बढ़ई के घर में घुसकर 500 रुपए और पायल चोरी करने का आरोप लगा है। इस संबंध में रविवार को दिलीप को पुलिस भी पकड़कर थाने ले गई थी। पूछताछ के बाद उसे छोड़ दिया गया। इसके बाद अगले दिन सोमवार देर रात दिलीप ने अपनी पत्नी कविंद्री बाई और 23 व 20 साल की दो बेटियों और 16 व 18 साल के बेटों के साथ जहरीला पदार्थ पी लिया। इसके बाद पड़ोसी किसी काम से उनके घर पहुंचा तो घटना का पता चला।

कविंद्री के मायके में सूचना दी गई तो रात 1 बजे अस्पताल पहुंचे
पड़ोसी जब घर में घुसा तो देखा कि बच्चों के मुंह से झाग निकल रहा है। जबकि दिलीप और उसकी पत्नी कविंद्री बेसुध पड़े हुए हैं। इसके बाद उसने गांव में ही कविंद्री के मायके में सूचना दी। वहां से कविंद्री के पिता पहुंचे और फिर 108 एंबुलेंस से सभी को रात करीब 1 बजे जिला अस्पताल लाया गया। यहां पर सभी का उपचार जारी है। हालांकि अभी भी दंपती बेहोशी की हालत में हैं। न वह बात कर पा रहे हैं, न ही किसी को ठीक से पहचान रहे हैं। सूचना मिलने पर अन्य परिजन भी अस्पताल पहुंच गए हैं।

बेटे ने कहा-आरोप कबूल करने का बनाया जा रहा था दबाव
दिलीप के 18 साल का बेटा 12वीं का छात्र हैं। उसने बताया कि सोमवार दोपहर को गांव के सरपंच नेम साहू, ग्राम विकास समिति अध्यक्ष और पंच घर आए थे। सब ने पिता पर चोरी का आरोप लगाया। साथ ही कबूल करने के लिए दबाव बना रहे थे। पापा चोरी की बात से मना करते रहे। इस पर उन लोगों ने आरोप स्वीकार नहीं करने पर गांव से बाहर निकाल देने की धमकी दी। उनके जाने के बाद ही से पापा काफी परेशान थे। इसके बाद रात में पता नहीं कहां से जहरीला पदार्थ ले आए और सबको पीने के लिए कहा।

खबरें और भी हैं…

छत्तीसगढ़ | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

शिक्षक की विधवा पत्नीयों की भी सुनिए सरकार: अनुकंपा नियुक्ति के लिए भटक रहीं शिक्षकों की विधवाएं, बारिश और कीचड़ में बिता रहीं रात

रायपुर3 घंटे पहले कॉपी लिंक ‘हमें अनुकंपा नियुक्ति दी जानी थी, लेकिन अब तक नहीं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *