Breaking News

मानसून सत्र: 5 दिन के सत्र में 717 सवाल वैक्सीनेशन बिना प्रवेश नहीं, कोरोना के कारण मानसून सत्र में इस बार और बरती जाएगी सख्ती

  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • 717 Questions In 5 Day Session Without Vaccination No Entry, Due To Corona This Time More Strictness Will Be Taken In Monsoon Session

रायपुर35 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ विधानसभा का मानसून सत्र हंगामेदार रहने के आसार हैं। सोमवार 26 जुलाई से शुरू हो रहे पांच दिनों के सत्र के लिए कुल 717 सवाल लगाए गए हैं। इसमें 375 तारांकित तथा 342 अतारांकित प्रश्न हैं। पिछले सत्र की तुलना में इस सत्र में कोविड संक्रमण को ध्यान में रखते हुए कड़ाई बरती जाएगी। इस बार वैक्सीन नहीं लगवाने वाले किसी भी व्यक्ति को प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

विधानसभा उपाध्यक्ष मनोज मंडावी ने पत्रकार दीर्धा सलाहकार समिति की बैठक में बताया कि कोविड प्रोटोकाल को ध्यान में रखते हुए स्पीकर डॉ.चरणदास महंत एवं वे खुद टीका लगवा चुके हैं। उन्होंने बताया कि मंत्रिमडंल के 13 सदस्यों में से 10 सदस्य वैक्सीन के दोनों डोज जबकि तीन मंत्रियों ने एक-एक डोज लगवाया हैं। इसी तरह विधायकों में 54 ने दोनो डोज जबकि 19 विधायक वैक्सीन का एक डोज लगवा चुके हैं। जबकि एक विधायक ने कोरोना होने के कारण वैक्सीन नहीं लगवाया है।

उन्होंने कहा कि कोराेना के कारण इस बार ऐसी व्यवस्था की गई है कि जितने भी लोग विधानसभा में आएंगे सभी वैक्सीन लगवाकर ही आएं। सदन की कार्यवाही कवर करने वाले पत्रकारों और कैमरामैनों के लिए भी यह नियम लागू होगा। इस अवसर पर विधानसभा के प्रमुख सचिव चंद्रशेखर गंगराडे, सचिव दिनेश शर्मा एवं वरिष्ठ सूचना अधिकारी जीएस सलूजा भी मौजूद थे। उल्लेखनीय है कि विधानसभा का मानसून सत्र 30 जुलाई को समाप्त होगा।

90 विधायकों में से 89 ने लगवाया टीका
मुख्यमंत्री भूपेेश बघेल समेत मंत्रिमंडल के सभी सदस्यों ने वैक्सीनेशन करवा लिया है। सीएम समेत 10 मंत्रियों ने दोनों डोज लगवाए हैं जबकि वन मंत्री मोहम्मद अकबर, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल और पीएचई मंत्री गुरू रुद्रकुमार ने सिंगल डोज ही लगवाया है। इसी तरह कोविड के पीड़ित होने के कारण विधायक बृहस्पति सिंह ने वैक्सीन नही लगवाया है। वहीं पक्ष और विपक्ष के सभी विधायकों ने भी अपना वैक्सीनेशन करवा लिया है।

भाजपा की रणनीति तैयार
बताया गया है कि मानसून सत्र के लिए भाजपा ने पहले ही तैयारी कर ली है। भाजपा सरकार को कटघरे में खड़ा करने की कोशिश करेगी। खाद का संकट, संग्रहण केन्द्रों में धान की बर्बादी, बेरोजगारी भत्ता नहीं मिलना, भर्ती प्रक्रिया लंबित होने समेत कानून व्यवस्था को लेकर हंगामे के आसार हैं।

खबरें और भी हैं…

छत्तीसगढ़ | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

नेताओं की शिकायत- अफसर हमारी नहीं सुनते: पीएल पुनिया से कांग्रेस जिलाध्यक्षों ने कहा- कार्यकर्ता नाराज हैं, उनका काम नहीं हो पा रहा; विधायकों पर भी समन्वय नहीं बनाने का आरोप

Hindi News Local Chhattisgarh Raipur Congress State Executive Meeting; The Collector SP Does Not Listen …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *