Breaking News

मुख्यमंत्री के मंत्री मनपसंद नंबरों की इनोवा में करेगें भ्रमण: मोहाली कार्यालय में पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू, कुछ मंत्रियों ने मनपसंद नंबरों का किया मांग, इसलिए हो रही देरी

  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • The Process Of Registration Started In Mohali Office, Some Ministers Demanded The Desired Numbers, Hence The Delay

चंडीगढ़ / मोहाली39 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी – फाइल फोटो

4.25 करोड़ रुपये से खरीदी गई 26 नई इनोवा गाड़ियों में अब चन्नी के मंत्री पूरे पंजाब में भ्रमण करेगें। जिसका मोहाली आरटीओ कार्यालय में पंजीकरण की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। आरटीओ कार्यालय में तैनात कर्मचारी सूत्रों की माने तो कुछ मंत्रियों ने वीआईपी नंबरों की मांग की है। जिसके कारण नई गाडियों की पंजीकरण की प्रक्रिया में देरी हो रही है। सूत्र यह भी बताते हैं कि 26 गाड़ियों में से ज्यादातर गाडियों के नंबर मनपसंद मांगे जा रहे हैं। जब कि पंजाब सरकार पहले से ही आर्थिक तंगी झेल रही है। चन्नी का कार्यकाल मात्र पांच महीनों के लिए ही बचा है, लेकिन मुख्यमंत्री अपने मंत्रियों के लिए 4.25 करोड़ रुपये खर्च कर 26 नई इनोवा गाड़ियों की खरीद की है।

चन्नी ने कहा था उनकी सरकार आम आदमी की सरकार होगी

बता दें कि पंजाब के मुख्यमंत्री पद संभालने के बाद ही चन्नी ने घोषणा की थी कि उनकी सरकार आम आदमी की सरकार होगी, जो काम किया जाएगा वह आम लोगों के लिए होगा। सूबे के वित्तीय हालात को देखते हुए उन्होंने कहा था कि जितना हो सकेगा उतना कम बोझ खजाने पर डाला जाएगा, लेकिन इन दावों के विपरीत मंत्रियों के राज्य भ्रमण के लिए करोड़ों रुपये की लग्जरी कारों की खरीद का अतिरिक्त बोझ खजाने पर डाला गया है। साथ ही वीआईपी नंबरों की भी मांग की गई है। जिसका चार्ज अतिरिक्त पड़ेगा।

इस प्रस्ताव को पहले किया गया था खारीज

ध्यान रहे कि नई सरकार की तरफ से वित्त विभाग को 27 नई इनोवा कार को खरीदने का प्रस्ताव भेजा गया था। वित्त विभाग ने सरकार के इस प्रस्ताव को राज्य की वित्तीय हालत ठीक न होने का हवाला देकर खारीज कर दिया था। लेकिन बाद में सरकार और नए मुख्यमंत्री के दवाब के बाद वित्त विभाग ने इसकी स्वीकृति देते हुए 4.25 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया।

खबरें और भी हैं…

चंडीगढ़ | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

करनाल की घीड़ मंडी सुर्खियों में: 9 राइस मिलर्स को नहीं मिलेगा सरकारी धान, भ्रष्टाचार में लिप्त खरीद एजेंसी के इंस्पेक्टर होंगे सस्पेंड

यमुनानगरएक घंटा पहले कॉपी लिंक घीड़ अनाज मंडी में बिकने के लिए आया धान। हरियाणा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *