Breaking News

मॉब लिंचिग के शिकार गौरव की पिटाई प्री प्लान थी: अस्पताल ले जाते वक्त पिता को बताया पूरा मामला, बेटे के अफसर बनने का सपना संजोने वाली मां बदहवास

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Rewari
  • Mother Sweety Is In Bad Condition, Only Gaurav Yadav Talks About Every Corner Of The Village, Police Are Showing Agility After The Matter Came To The Limelight

रेवाड़ी/महेन्द्रगढ़2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

गौरव यादव की फाइल फोटो।

हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले में मॉब लिंचिंग के शिकार हुए गौरव की पिटाई प्री प्लान थी। जब वह महेंद्रगढ़ से बाइक पर घर लौट रहा था तो रास्ते में रवि यादव और उसके दोस्त मालड़ा गांव के होटल पर बैठकर गौरव का इंतजार कर रहे थे। आरोपियों ने गौरव को धर लिया और होटल के पीछे ले जाकर बेरहमी से पीटा। जिससे उसकी मौत हो गई। पिता देवेंद्र के अनुसार जब गौरव को वारदात के बाद अस्पताल ले जा रहे थे तो उसने सारी बात बताई। गौरव ये भी बताया कि बहुत मिन्नतें करने के बाद भी रवि और उसके दोस्तों ने उसकी नहीं सुनी और बेहरमी से पीटते रहे।

गौरव होनहार स्टूडेंट रहा और 12वीं के बाद हाल ही में उसने कॉलेज ज्वॉइन किया था। गौरव का लक्ष्य बड़ा अफसर बनने का था लेकिन दबंगों ने उसके इस सपने को बेरहमी से कुचल दिया। गौरव की हत्या के बाद से परिवार ही नहीं, पूरा गांव सदमे में हैं। मां स्वीटी बड़े बेटे की मौत के बाद बदहवास है।

क्षेत्र में लोग अब भी चर्चा कर रहे हैं कि बेहरमी से नौजवान की हत्या करने के बाद भी आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं। वहीं, जिले में मॉब लिचिंग की पहली घटना के मामले में पांच दिन बीत जाने के बाद भी कार्रवाई के लिए पुलिस का रवैया बहुत ही लचर रहा है। SP महेंद्रगढ़ ने तीन टीमें बनाई जरूर लेकिन अभी तक भी टीमें आरोपियों को पकड़ने में नाकाम हैं।

गौरव के घर शोक व्यक्त करने पहुंचे लोग।

गौरव के घर शोक व्यक्त करने पहुंचे लोग।

महेंद्रगढ़ शहर से 10 किमी दूर 800 घरों वाले बवाना गांव की आबादी 5 हजार के करीब है। गांव के एक छोर पर बसे छोटे से मकान में पले-बढ़े गौरव के परिवार की कहानी बहुत दर्द भरी हैं। एक एकड़ पुश्तैनी जमीन पर खेती कर पिता देवेंद्र यादव ने बेटे गौरव के पढ़-लिखकर नौकरी लगने का सपना देखा। गौरव का छोटा भाई यश भी 9 अक्टूबर की इस घटना से दहशत में है। वहीं देवेंद्र की पत्नी और गौरव की मां स्वीटी गांव में आंगनबाड़ी वर्कर हैं।

5 दिन बाद भी गांव सदमे में
गांव बवाना के गौरव यादव की हत्या को 5 दिन बीत चुके हैं। पूरा गांव मौत के बाद सदमे में हैं। गांव के हर कोने में घटना की चर्चा है। लोगों को दुख और रोष इस बात का है कि वारदात का वीडियो हाथ लगने के बाद भी पुलिस हत्यारों को पकड़ नहीं पाई है। गौरव के चाचा कर्ण ने बताया कि जब से वीडियो सामने आया है, उनकी हिम्मत ही देखने की नहीं हो रही। उन्हें मलाल है कि वह अपने बेटे को नहीं बचा सके। कर्ण ने कहा कि गौरव को न्याय दिलाने के लिए आखिरी दम तक लड़ेंगे। चाहे इसके लिए कितनी भी बड़ी कानूनी लड़ाई क्यों ना लड़नी पड़े।

गौरव के घर विलाप करती महिलाएं।

गौरव के घर विलाप करती महिलाएं।

मामूली सी बात पर कत्ल…
गांव के पूर्व सरपंच संतोष भंडारी का कहना है कि ऐसी वारदात न तो उन्होंने कभी देखी और न ही सुनी है। गांव का होनहार नौजवान लड़का इसलिए मार दिया कि उससे मामूली कहासुनी हुई। गौरव की हत्या करने वालों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। आरोपी ऐसी वारदात कर दहशत फैलाना चाहते हैं। पुलिस प्रशासन को सख्त से सख्त कदम उठाना चाहिए। उन्होंने कहा कि पुलिस ने अभी तक एक होटल कर्मचारी को ही गिरफ्तार किया है, बाकी आरोपियों की भी जल्द गिरफ्तारी होनी चाहिए।

2 किमी दूर मालड़ा गांव के हैं आरोपी
गौरव की हत्या के आरोपी रवि यादव उर्फ लंगड़ा सहित अन्य आरोपी उसके गांव से महज 2 किमी दूर स्थित गांव मालड़ा के हैं। मालड़ा में ही 9 अक्टूबर को गौरव की पीट-पीटकर हत्या की थी। पुलिस का दावा है कि वारदात के बाद से ही सभी आरोपी फरार हैं। ग्रामीणों की मानें तो 11 अक्टूबर तक कुछ आरोपी इलाके में ही घूम रहे थे। वीडियो वायरल होने के बाद से भूमिगत हैं।

गांव बवाना में गौरव का घर।

गांव बवाना में गौरव का घर।

मास्टरमाइंड का आपराधिक रिकॉर्ड
वारदात के मास्टरमाइंड रवि यादव पर पहले भी कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। रवि ने अपने गांव में होटल खोल रखा है जहां वह अवैध शराब बेचता है। देवेंद्र यादव के अनुसार, घटना से कुछ दिन पहले रवि और गौरव की फोन पर कुछ बात हुई जिसमें रवि गौरव को गालियां दे रहा था। गौरव ने यह बात मुझे बताई तो मैंने गौरव को यह कहते हुए समझा दिया कि मैं रवि के परिवार से बात करुंगा। मुझे नहीं पता था कि रवि मेरे बेटे की जान ही ले लेगा।

पांच दिन से पुलिस का रवैया लचर मामले की शुरुआत से ही पुलिस का रवैया ढीला है। SP महेंद्रगढ़ चंद्रमोहन ने मामले में जांच के लिए तीन टीमें गठित की, लेकिन ये टीमें आरोपियों तक पहुंचने में पूरी तरह नाकाम हैं। टीम में महेंद्रगढ़ CIA, कनीना थाना पुलिस के अलावा स्पेशल टीम बनाई है। पुलिस पर ज्यादा दबाव बना तो पुलिस ने रवि के होटल पर काम करने वाले विक्की उर्फ फुकरा को गिरफ्तार कर लिया। हालांकि दो दिन के रिमांड के दौरान उससे भी कुछ ज्यादा नहीं उगलवा पाई। गुरुवार को विक्की उर्फ फुकरा को दोबारा से कोर्ट में पेश कर चार दिन के रिमांड पर लिया है।

दिन रात टीमें कर रही धरपकड़
कनीना DSP राजीव कुमार ने बताया कि मामला काफी गंभीर हैं। शुरूआत से ही पुलिस की 3 टीमें मामले की जांच में जुटी हैं। एक आरोपी विक्की उर्फ फुकरा को गिरफ्तार कर दोबारा 4 दिन के रिमांड पर लिया है। मामले में कुछ अपराधिक किस्म के लोग शामिल हैं। उनकी गिरफ्तारी को लेकर महेंद्रगढ़ जिले के अलावा कई अन्य जगह टीमें दबिश दे रही हैं। जल्द ही मुख्य आरोपियों को भी पकड़ लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं…

देश | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा में आतंकी हमला: दहशतगर्दों ने सुरक्षाबलों को निशाना बनाकर ग्रेनेड फेका; 6 नागरिक घायल, 2 गंभीर

Hindi News National Jammu Kashmir Bandipora Terrorists Attack Update; Six Injured In Grenade Attack श्रीनगर3 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *