Breaking News

राजद ने मेवालाल चौधरी के इलाज की याद दिलायी: RJD बोली- विधायक और पूर्व मंत्री का समय से बेहतर इलाज होता तो तारापुर में उपचुनाव नहीं होता, JDU को वोट मांगने का अधिकार नहीं

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • RJD And JDU Political Conflict On Mevalal Choudhary In Tarapur Bypoll Election; Bihar BYPoll Election Bhaskar News

पटना28 मिनट पहलेलेखक: प्रणय प्रियंवद

  • कॉपी लिंक

पटना के अस्पताल में इलाज के दौरान मेवालाल चौधरी की हुई थी मौत। (फाइल फोटो)

कुशेश्वर स्थान और तारापुर में जेडीयू के विधायकों के निधन के बाद उपचुनाव की नौबत है। चुनाव हो रहे हैं। कुशेश्वर स्थान में शशिभूषण हजारी के निधान के बाद उनके बेटे अमन हजारी को जेडीयू ने उम्मीदवार बनाया है। तारापुर में जेडीयू के विधायक और पूर्व शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी के निधन के बाद उनके बेटे ने चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया और इसके बाद जेडीयू ने राजीव कुमार सिंह को उम्मीदवार बनाया है।

तारापुर में जेडीयू को किसी तरह का सहानुभूति वोट नहीं मिलेगा। वहां राजद मुंगेर के कार्यकर्ता यह प्रचार-प्रचार करने मे लगे हैं कि तारापुर में उपचुनाव की नौबत सरकार की बदतर स्वास्थ्य सेवाओं की वजह से आई है। अगर भाजपा-जदयू सरकार द्वारा सही स्वास्थ्य सुविधाएं समय से मिलतीं तो आज मेवालाल चौधरी जिंदा होते !

भास्कर ने एक्सक्लूसिव खबर में सामने लाया थी कैसे मौत हुई थी

यह जगजाहिर है कि तारापुर विधायक और पूर्व शिक्षा मंत्री रहे मेवालाल चौधरी की मौत कोविड-19 से हो गई थी। कोविड की जांच में कितना समय समय और तारापुर से पटना आने के बाद भी उन्हें सही समय पर आईसीयू उपलब्ध नहीं हो पाया, इसका खुलासा भास्कर ने उनके साथ तारापुर से पटना तक एंबुलेंस में बैठकर आए उनके निजी सहायक शुभम सिंह से बातचीत के आधार पर एक्सक्लूसिव खबर सामने लायी थी।

कोरोना में नीतीश सरकार के सिस्टम की भेंट चढ़ गए मेवालाल

राजद के प्रवक्ता चित्तरंजन गगन ने गुरुवार को कहा है कि नीतीश सरकार के सिस्टम की गड़बड़ी की खामियाजा मेवालाल चौधरी को भुगतना पड़ा। हेल्थ सिस्टम की पोल कोरोना काल में खुल कर सामने आ गई। बिहार सरकार के हेल्थ सिस्टम ने मेवालाल चौधरी की जान ले ली, उनके नाम पर वोट मांगने का अधिकार जेडीयू-भाजपा को तारापुर में हरजिग नहीं है। सोचिए आम जनता के साथ कैसा न्याय जेडीयू और भाजपा की सरकार ने कोविड काल में किया है। सरकार की लचर व्यवस्था से मेवालाल चौधरी की मौत नहीं होती तो उपचुनाव का बोझ जनता पर नहीं पड़ता।

तारापुर की जनता ने शुरू से जेडीयू को आशीर्वाद दिया है फिर देगी

वहीं, जेडीयू के प्रवक्ता निखिल मंडल ने गुरुवार को भास्कर से कहा कि सभी जानते हैं कि बिहार ने कोरोना के समय देश भर में बेहतर कार्य किया है। ठीक होने का रेट देश के अन्य राज्यों से अच्छा रहा। वैक्सीनेशन में भी छह माह में छह करोड़ का टारगेट प्राप्त किया। मेवालाल चौधरी ने बिहार के बेहतरीन अस्पताल में खुद को एडमिट किया।

वहां कई कम उम्र के लोग भी चले गए। मेवालाल चौधरी के असमय निधन से यह उपचुनाव हो रहा है। लेकिन विकास के एजेंडे पर हमारी पार्टी चुनाव लड़ रही है। तारापुर की जनता ने शुरुआती दौर से जेडीयू को आशीर्वाद दिया है, बाकी कौन क्या कहता है बहुत महत्व की बात नहीं है।

खबरें और भी हैं…

बिहार | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

प्लेटफॉर्म टिकट कोरोना मुक्त: 544 ट्रेनों से स्पेशल चार्ज नहीं हटा, कोरोना नियंत्रित होने के बावजूद स्पेशल चार्ज नहीं हटाने से यात्री संघ गुस्से में

Hindi News Local Bihar Patna Special Charge Not Removed From 544 Trains, Passengers Union Angry …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *