Breaking News

राजस्थान से फरार 2 छात्र हरियाणा में पकड़े: नवलगढ़ के स्कूल में मारपीट होने पर दीवार फांदकर फरार हुए दोनों स्टूडेंट, रोडवेज बस में बैठकर पहुंचे रेवाड़ी

रेवाड़ी8 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

बस स्टैंड चौकी इंचार्ज पूछताछ करते हुए।

राजस्थान के नवलगढ़ एरिया के एक हॉस्टल में रहने वाले 2 छात्र बुधवार की रात दीवार फांदकर फरार हो गए। दोनों छात्र झुंझुनू से राजस्थान रोडवेज में सवार होकर रेवाड़ी तक पहुंचे। इससे पहले वह आगे की तरफ रवाना होते बस के कंडक्टर को उन पर शक हुआ और रेवाड़ी बस स्टैंड चौकी पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने दोनों बच्चों को बरामद कर उनसे पूछताछ करने के बाद हॉस्टल संचालक व उनके परिजनों को बुलाया। गुरुवार शाम को उन्हें परिजनों के हवाले कर दिया गया।

मिली जानकारी के अनुसार राजस्थान के नवलगढ़ स्थित शेखावटी पब्लिक क में दिल्ली के शाहदरा निवासी दिवेश व नेपाल का शिवम मिश्रा 12वीं कक्षा में पढ़ते हैं और स्कूल के हॉस्टल में रहते हैं। 2 दिन पहले दिवेश का हॉस्टल में ही रहने वाले तरू‌ण व विकास नाम छात्रों के साथ झगड़ा हो गया, जिसमें दिवेश के साथ मारपीट की गई। दिवेश ने इसकी सूचना तुरंत स्कूल प्रबंधक व परिजनों को दे दी।

दिवेश के अनुसार, उसके बाद न तो दिल्ली से उसके परिवार का कोई सदस्य हॉस्टल पहुंचा और न ही स्कूल प्रबंधक ने बच्चों पर कार्रवाई की। इसके बाद उसने अपने साथी शिवम मिश्रा के साथ हॉस्टल से फरार होने का प्लान तैयार किया। दोनों ने पहले हॉस्टल के बाहर लगी कुंडी को तोड़ा और फिर मेन गेट तक पहुंच गए, लेकिन यहां गार्ड तैनात था। गार्ड को देख वह वापस मुड़े और फिर 6 फीट ऊंची दीवार को फांदकर फरार हो गए।

बस स्टैंड चौकी में बैठे दोनों छात्र।

बस स्टैंड चौकी में बैठे दोनों छात्र।

रोडवेज बस में बैठकर पहुंचे रेवाड़ी
दोनों छात्र रात के अंधेरे में 2.30 बजे फरार हुए थे। उसके बाद किसी तरह झुन्झुनू तक पहुंच गए। यहां से सुबह 5 बजे रेवाड़ी आने वाली राजस्थान रोडवेज की बस में बैठ गए। दोनों के पास कुछ पैसे थे, जिनकी उन्होंने टिकट भी ली, लेकिन इसी बीच रेवाड़ी की सीमा में पहुंचते ही बस के कंडक्टर को दोनों पर शक हुआ तो उन्होंने पूछताछ की। दोनों पक्षों ने हॉस्टल में हुई मारपीट के बाद फरार होने की जानकारी दी। कंडक्टर ने बगैर देरी किए रेवाड़ी बस स्टैंड पर बस पहुंचते ही पुलिस चौकी में सूचना दी। उसके बाद पुलिस ने दोनों बच्चों को अपने कब्जे में लिया।

घर जाने के लिए फरार हुए
पुलिस ने पूछताछ की में दिवेश ने बताया कि वह अपने घर दिल्ली जाना चाहता था, जबकि शिवम अपनी बहन के घर गुरुग्राम जाने वाला था। पुलिस ने दोनों बच्चों के रेवाड़ी में बरामद होने की सूचना उनके स्कूल व परिजनों तक पहुंचाई। दोपहर बाद पुलिस ने दिवेश को तो उसके परिजनों को सौंप दिया, जबकि शिवम मिश्रा को स्कूल प्रबंधक को सौंपा गया हैं। इसके साथ ही स्कूल प्रबंधक को सख्त चेतावनी भी दी गई है।

खबरें और भी हैं…

हरियाणा | दैनिक भास्कर

About R. News World

Check Also

सिंघु बॉर्डर हत्याकांड पर नया विवाद: ​​​​​​​रणजीत सिंह ढडरियां वाले बोले- कनाडा की महिला ने वीडियो भेजकर कहा कि मैंने बच्चे सिख नहीं बनाने

लुधियानाएक घंटा पहले कॉपी लिंक सिंघु बॉर्डर पर हुई दलित व्यक्ति की हत्या से नया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *